Thursday, June 04, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
हाईकोर्ट की निगरानी में न्यायिक आयोग करे पिछले 13वर्षों के कृषि घोटाले की जांच - हरपाल सिंह चीमाप्राइवेट स्कूलों को ट्यूशन फीस के नाम पर मोटी रकम नहीं वसूलने देगी AAP - शारिक अफरोज‘दिल्ली कोरोना’ एप लांच, एक क्लिक से अस्पतालों में खाली कोविड बेड और वेंटिलेटर की मिलेगी जानकारी: अरविंद केजरीवालकैप्टन सरकार ने आम घरों के बच्चों के डॉक्टर बनने पर लगाई पाबंदी, मंत्री ओपी सोनी की कोठी का घेराव करेंगेराजस्थान में गरीबों को मुफ्त राशन के नाम पर धोखा दे रही है प्रदेश की गहलोत सरकार - महेंद्र मीनादिल्ली बॉर्डर एक सप्ताह के लिए सील, आगे का फैसला जनता के सुझाव के आधार पर होगा - अरविंद केजरीवालमनीष सिसोदिया ने ऑनलाइन और एसएमएस/आईवीआर आधारित शिक्षा की समीक्षा कीदिल्ली को 5000 करोड़ की मदद करे केंद्र सरकार, ताकि सैलरी का भुगतान हो सके: उपमुख्यमंत्री
National

दिल्ली में महंगे प्याज से निकलते आंसू को सीएम ने पोछा, कल से सरकार बेचेगी सस्ता प्याज

September 28, 2019 10:49 AM

दिल्ली सरकार ने आसमान छूती प्याज की कीमत से परेशान राजधानी वासियों को आज से दिल्ली सरकार राहत देने जा रही है। अरविंद केजरीवाल सरकार कल से 23.90 रुपये प्रति किलो के हिसाब से आम जनता को प्याज बेचेगी। सरकार के प्रारंभिक तौर पर एक लाख किलो प्याज का इंतजाम किया है। जिसे सरकार 70 विधानसभा क्षेत्र में मोबाइल वैन के माध्यम से बेचेगी। साथ ही पूरी दिल्ली में चार सौ राशन दुकानों के माध्यम से भी प्याज बेचा जाएगा। एक व्यक्ति को अधिकतम पांच किलो प्याज मिलेगा। प्याज बेचने का काम सुबह दस से शाम पांच बजे तक होगा। इसके लिए कोई भी पहचान पत्र नहीं चाहिए। कोई भी व्यक्ति प्याज खरीद सकता है। हालांकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम जनता से इमानदारी दिखाने की अपेक्षा की है। जिससे प्याज सिर्फ परिवार के इस्तेमाल के लिए खरीदा जाए।

23.90 रुपये किलो के हिसाब से हर व्यक्ति को अधिकतम पांच किलो प्याज मिलेगा 

चार सौ राशन दुकान और 70 मोबाइल वैन के माध्यम से दिल्ली सरकार बेचेगी प्याज 

मुख्यमंत्री श्री केजरीवाल ने इस मामले पर ट्वीट कर कहा, हम चाहते हैं आपके प्याज़ का ज़ायका बना रहे, आपकी जेब भी हल्की न हो और ये प्याज़ आपके आंखों में आंसू भी न ले आए!

दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि प्रेस वार्ता के दौरान इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रारंभिक तौर पर पांच दिनों के प्याज की खरीद केंद्र सरकार से हुई है। फिर समीक्षा होगा। अगर जरूरत पड़ी तो और प्याज की खरीद होगी। समीक्षा के बाद ही यह तय किया जाएगा कि मोबाइल वैन या दुकानों की संख्या बढ़ानी है या नहीं। उन्होंने कहा कि प्याज अभी केंद्र सरकार की तरफ से आया है। इस कारण उसे सीधा बाजार में उतारा जाएगा। आगे से क्वालिटी कंट्रोल के लिए दिल्ली सरकार के दो अधिकारी नासिक जाएंगे। वह प्याज की क्वालिटी देखकर ही माल लोड कराएंगे। 

जब तक रेट कम न हो जाए, बिक्री जारी रहेगी: श्री अरविंद केजरीवाल 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्याज की बिक्री दिल्ली सरकार तब तक करेगी, जब तक सामान्य बाजार में रेट कम न हो जाए। उन्होंने कहा कि प्याज की जमाखोरी करने वालों पर भी सरकार की नजर है। लगातार कार्रवाई चल रही है। कोई भी जमाखोरी करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि शनिवार से दिल्ली सरकार की तरफ से सस्ता प्याज बेचे जाने के बाद उम्मीद है कि सामान्य बाजार में भी रेट कम होंगे। 

केंद्रीय मंत्री श्री राम विलास पासवान ने कहा, दिल्ली के अलावा कुछ ही राज्यों ने केंद्र से प्याज़ खरीदने में दिलचस्पी दिखाई

पूरे देश में प्याज़ की कीमतें बढ़ती जा रही हैं। लेकिन केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री श्री राम विलास पासवान ने कहा है कि अभी तक कुछ ही राज्यों ने केंद्र से प्याज खरीदने की दिलचस्पी दिखाई है। अभी तक सिर्फ दिल्ली, त्रिपुरा, हरियाणा और आंध्र प्रदेश की सरकारों ने केंद्र से प्याज़ खरीदकर जनता को सस्ते दामों में बेचने की पहल की है। अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को ही एलान कर दिया था की उनकी सरकार जल्द ही दिल्ली में 23.90 प्रति किलो के हिसाब से प्याज़ अवेलेबल कराएंगे, जिससे जनता को ज्यादा परेशानी न हो।

जरूरत पड़ने पर बढ़ाए जाएंगे मोबाइल वैन 

मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी की जरूरत के हिसाब से 70 मोबाइल वैन उतारे गए हैं। साथ ही चार सौ दुकानों को चुना गया है। इस तरह एक विधानसभा में पांच दुकानों पर प्याज मिलेगा। इसकी समय समय पर समीक्षा होगी। अगर जरूरत पड़ी तो दुकानों की संख्या बढ़ा दी जाएगी। साथ ही प्याज मोबाइल वैन भी बढ़ाए जाएंगे।

दिल्ली में फिलहाल खुदरा बाज़ार में प्याज़ 60-80 रुपये प्रति किलो मिल रही है। दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी में प्याज का थोक भाव 60 रुपये प्रति किलो हो गया है, जो कि 2015 के बाद का सबसे ऊंचा स्तर है। वहीं, एशिया की सबसे बड़ी प्याज मंडी महाराष्ट्र के लासलगांव में भी प्याज 50 रुपये प्रति किलो बिकने लगी है। कारोबारियों ने बताया कि देश में प्याज का स्टॉक काफी कम है, जिसके कारण मंडियों में आवक कम हो रही है। खपत के मुकाबले आवक कम होने से प्याज की कीमत बढ़ रही है.

Have something to say? Post your comment
More National News
युवा दिमाग को दिशा देना समाज का सामूहिक दायित्व: मनीष सिसोदिया, डिप्टी सीएम
RML अस्पताल गलत परिणाम दे रहा है, सरकार को अस्पताल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए: राघव चड्ढा
डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कोरोना के खिलाफ ग्लोबल समिट 2020 को संबोधित किया श्रमिक विरोधी कानूनों के खिलाफ श्रमिक विकास संगठन(SVS)का तीन दिवसीय उपवास सत्याग्रह
चन्द्रमुखी रेपसवाल बनी AAP जयपुर शहर महिला विंग अध्यक्ष, प्रदेश प्रभारी नीलम क्रांति ने की घोषणा
हाईकोर्ट की निगरानी में न्यायिक आयोग करे पिछले 13वर्षों के कृषि घोटाले की जांच - हरपाल सिंह चीमा
किसानों के साथ भद्दा मजाक है धान के मूल्य में मामूली वृद्धि - भगवंत मान
प्राइवेट स्कूलों को ट्यूशन फीस के नाम पर मोटी रकम नहीं वसूलने देगी AAP - शारिक अफरोज
‘दिल्ली कोरोना’ एप लांच, एक क्लिक से अस्पतालों में खाली कोविड बेड और वेंटिलेटर की मिलेगी जानकारी: अरविंद केजरीवाल
कैप्टन सरकार ने आम घरों के बच्चों के डॉक्टर बनने पर लगाई पाबंदी, मंत्री ओपी सोनी की कोठी का घेराव करेंगे