Wednesday, June 20, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
मंदसौर हिंसा पर जैन आयोग की रिपोर्ट की जाए तुरंत सार्वजनिक: आलोक अग्रवालभाजपा सरकार जनप्रतिनिधितत्व से नही तानाशाही से चलाना चाहती है: जयहिंदलाखों लोगों की कुर्बानी के बाद मिले लोकतंत्र को लुटेरे-भ्रष्टाचारियों के हाथों नष्ट नहीं होने देंगे: आलोक अग्रवाललोकतंत्र की हत्या किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं, प्रदेश भर में सड़क पर उतरेगी आम आदमी पार्टी: आलोक अग्रवालआम आदमी पार्टी 18 जून 18 को पूरे प्रदेश में धरना प्रदर्शन कर सभी SDM को 14 नेताओं की रिहाई के लिये ज्ञापन देगी।आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी चयन प्रक्रिया में इंटरव्यू की प्रक्रिया शुरू, 25 जून को जारी होगी पहली सूचीचौमूं और लालसोट में आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमले, दादागिरी के खिलाफ दोसा, चौमूं, जयपुर में होगा प्रदर्शनलोकतंत्र की हत्या के विरोध में आम आदमी पार्टी करेगी प्रदेश भर में प्रदर्शन: आलोक अग्रवाल
AAP Vision
शिक्षा का खेल

24 अगस्त जनसत्ता के सम्पादकीय आलेख में रमेश दवे ने समाज के शिक्षा जैसे अति महत्वपूर्ण मुद्दें पर कुछ बाते कही हैं। परन्तु दवे जी मामला केवल परीक्षा होने या ना होने, शिक्षकों को नकारा बता देने और गुणवत्ता की बात कह देना मात्र जितना सरल नहीं है? शिक्षा का सवाल बड़ा सवाल है जिसको व्यापक परिपे्रक्ष्य में देखने, समझने व हस्तक्षेप करने की जरुरत है।

प्रताड़ित स्त्रियाँ, दोषी कौन? परंपरा या समाज?

आज यदि लड़कियां, स्त्रियाँ अपनी स्वतंत्रता की बात कर रही हैं तो उनकी इस बात का बहुत ही गहराई से विश्लेषण करना चाहिए| ज़रूरत है तो उनकी पीड़ा को समझने की, स्वतंत्रता को लेकर उनकी असली मांग को समझने की|

देश का विकास कैसे? संघ के 50 संगठनो से या राज्यों और दलों की एकता से?

१७ फरवरी के समाचार पत्र में पढ़ा था की संघ ने कानपुर में अपने 50 से अधिक संगठनो के पदाधिकारियों को कहा है कि मिल कर चलो वर्ना सफल नहीं हो पाओगे| निसंदेह बहुत ही सुंदर बात कही| पर क्या इन 50 संगठनो के मिलकर चलने से देश की स्थिति बदल सकती है??

कॉन्ट्रैक्ट किलर है मीडिया, इसे एक्सपोज़ करना ज़रूरी है

क्या करें आदत से मजबूर हैं हम। सच कहने से पहले नफा-नुकसान का हिसाब नहीं आता हमें। हम यह नहीं सोच पाते कि मीडिया के खिलाफ बोलने का अंजाम क्या होगा? हमें तो देश को बचाना है। और देश को बचाने की राह में जो भी आएगा हम अपनी राजनीति, अपनी पार्टी तो क्या जान की एक पल भी परवाह किए बिना उससे टकरा जाएंगे। हमें राजनीति की यही परिभाषा आती है और हम ऐसी ही राजनीति करने के लिए वचनबद्ध हैं।

"यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते, रमन्ते तत्र देवताः"

महिलाओं के साथ समान व्यवहार एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण मुद्दा है और आम आदमी पार्टी समझती है कि सभी लिंग समान व्यवहार के पूर्ण हक़दार हैं. महिलाओं को आज भी भारत में वो स्थान नहीं मिल पाया है जिसकी वो हक़दार हैं.

कांस्टेबल जगबीर के परिवार को दिलाए 1 करोड़.

राष्ट्रीय राजधानी में ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों पर बदमाशों के बढ़ते हमले चिंता का विषय हैं। पिछले दिनों दो दिनों के अन्तराल मेें, दो अलग अलग स्थानों पर ड्यूटी पर तैनात कांस्टेबलों पर हमले किए गए। इन्हीं ’घटनाओं में से एक घटना में एक कांस्टेबल जगबीर की जान चली गयी।

लोकतंत्र की बयार

दो तीन दिन पहले बी जे पी के एक सपोर्टर ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के एक दल से आम आदमी पार्टी द्वारा सरकार न बनाये जाने पर कटाक्ष किया प्रत्युत्तर में मैंने उन महानुभाव से जब यह कहा कि भाई सरकार तो कोई भी बनाये लेकिन असली लोकतंत्र की खुशबू तो आने ही लगी है! 

आम आदमी पार्टी ने राजौरी गार्डन उमीदवार से समर्थन वापास लिया!

आम आदमी पार्टी नें राजौरी गार्डन उमीदवार प्रितपाल सिंह सलूजा से अपना समर्थन वापास ले लिया है! यह निर्णय ‘आप’ के पोलिटिकल अफेयर कमिटी ने उनके तथा उनके परिवार के कुछ सदस्यों के ऊपर अक्टूबर २०१२ में लखनऊ में दहेज़ उत्पिरण के मामले में दायर एक FIR के चलते लिया.

अनुरंजन झा को भेजी गई ईमेल

कल मीडिया सरकार द्वारा जारी सीडी के बारे में आम आदमी पार्टी ने घोषणा की थी कि हम 24 घंटे के भीतर जांच कर के अपना निर्णय सुनायेंगे, हमने यह समय दो तरह की जाँच के लिए माँगा था |

राजनीतिक फंडिंग : चंदा अथवा क़ाला धन

केन्द्रीय गृहमंत्री जी ने आम आदमी पार्टी की फंडिंग की जाँच के लिए जो अति सक्रियता दिखायी है काश उन्होंने इतनी सतर्कता देश की आंतरिक हालात पर भी दिखायी होती तो इनके गृहमंत्री बनने के बाद एक भी आतंकवादी वारदात नहीं हुई होती । वर्तमान में कांग्रेस के अधिकतर मंत्री अपने ऐसे ही उजूल फिजूल बयानों के लिए सुर्ख़ियों में रहने के आदी हो चुके है तथा अपने पद के अनुरूप कार्य करने में असक्षम दिखायी देते हैं ।