Sunday, January 26, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
केंद्र की भाजपा सरकार की सहमति से डीडीए ने गरीबों को फ्लैट देने के नाम पर किया घोटाला - संजय सिंहबहस करें कैप्टन, बता देंगे 5 मिनटों में कैसे रद्द होंगे महंगे बिजली समझौते - अमन अरोड़ाभाजपा ने डाला महंगी शिक्षा का बोझ, सीबीएसई स्कूल में 10वीं और 12वीं के फीस बढ़ी - मनीष सिसोदियादिल्ली में पूर्व सैनिकों ने अरविंद केजरीवाल को दिया समर्थन5 साल दिन रात काम करती रही आप सरकार, भाजपा और मीडिया की तंद्रा अब भंग हुईआम आदमी पार्टी का 2020 विधानसभा चुनाव स्लोगन “अच्छे बीते 5 साल, लगे रहो केजरीवाल” लांचभाजपा सांसद विजय गोयल ने किया दिल्ली की जनता का अपमान: संजय सिंहहार की हताशा में भाजपा दिल्ली में गंदी राजनीति पर उतारू, हिंसा की विस्तृत जांच हो, दोषियों को मिले सजा - गोपाल राय
Revealing

भाजपा दिल्ली इकाई के महासचिव द्वारा, नगर निगम के निरीक्षक को निकालने की खुली धमकी

November 08, 2014 07:20 PM

भाजपा दिल्ली इकाई के महासचिव द्वारा अपने अवैध आदेश को मानने से इंकार करने पर दक्षिण दिल्ली नगर निगम के एक निरीक्षक को निकालने की खुली धमकी देने का वाक्या भाजपा शासन के मॉडल का नवीनतम उदाहरण है।  भाजपा पदाधिकारी द्वारा इस तरह का अशोभनीय आचरण एकमात्र उदाहरण नहीं है, बल्कि यह ताजा सबूत है कि बीजेपी दिल्ली की जनता के साथ किस तरह का व्यवहार करना चाहती है।

इस भाजपा नेता की ऑडियो रिकॉर्डिंग अब सार्वजनिक है और इससे स्पष्ट है कि अब पार्टी अपने नेतृत्व की अवैध गतिविधियों को न्यायोचित ठहराने के लिए किसी भी हद तक एमसीडी पर अपने नियंत्रण का दुरुपयोग कर सकती है।   

दिल्ली नगर निगम के इस अधिकारी का सिर तोड़ने के लिए गुंडे भेजने और छत से फेंकने की धमकी देने की घटना से स्पष्ट है कि किस तरह भाजपा नेताओं द्वारा अपराधिक गतिविधियों को शह दिया जा रहा है। पिछले सात सालों से भाजपा शासित एमसीडी में भ्रष्टाचार का बोलबाला है और भाजपा के निकम्मेपन की वजह से एमसीडी अक्षम संस्था के रूप में तब्दील हो गई है।

दिल्ली नगर निगम के इस अधिकारी का सिर तोड़ने के लिए गुंडे भेजने और छत से फेंकने की धमकी देने की घटना से स्पष्ट है कि किस तरह भाजपा नेताओं द्वारा अपराधिक गतिविधियों को शह दिया जा रहा है। पिछले सात सालों से भाजपा शासित एमसीडी में भ्रष्टाचार का बोलबाला है और भाजपा के निकम्मेपन की वजह से एमसीडी अक्षम संस्था के रूप में तब्दील हो गई है।

यह बहुत ही शर्मनाक घटना है और बीजेपी भी इससे इंकार नहीं कर सकती है। बीजेपी मई के बाद से परोक्ष रूप से दिल्ली को नियंत्रित कर रही है पिछले कुछ महीनों में भाजपा नेताओं के इस तरह की आपत्तिजनक गतिविधियों में लिप्त होने की कई घटनाएं सामने आई हैं।

बीजेपी के दिल्ली ईकाई के महासचिव द्वारा धमकी देने की घटना दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय द्वारा स्वच्छ भारत अभियान का माखौल उड़ाने की घटना के ठीक दो दिन बाद हुई है। स्वच्छ भारत अभियान का सार्वजनिक रूप से मजाक बनाने के बावजूद, दिल्ली भाजपा प्रमुख ने असंवेदनशीलता में सुधार के कोई संकेत नहीं दिए हैं।

इन दोनों घटनाओं के अलावा सिंतबर महीने में एक घटना में दिल्ली बीजेपी के उपाध्याक्ष शेर सिंह डागर आप विधायक को रिश्वत का ऑफर देते एक स्टिंग में पकड़े गए।

पूरी दुनिया जानती है कि किस तरह बीजेपी ने विधायकों की खरीद फऱोख्त को बढ़ावा देकर लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाने की कोशिश की थी।  

उपर्युक्त सभी शर्मनाक घटनाएं भाजपा दिल्ली इकाई द्वारा की गई है जिसके राष्ट्रीय सचिव राजिंदर नगर विधायक आरपी सिंह ने भी अपने कार्यालय में 14 जुलाई को दिल्ली जल बोर्ड (दिल्ली जल बोर्ड) के एक जूनियर इंजीनियर मारपीट की थी। दिल्ली जलबोर्ड के जूनियर इंजीनियर की सिर्फ इतनी गलती थी कि उसने एक भाजपा कार्यकर्ता को अवैध रूप से पानी के पाइप बिछाने का अनुबंध देने से इनकार कर दिया था।

Have something to say? Post your comment
More Revealing News