Friday, February 22, 2019
Follow us on
Download Mobile App
Manifesto

AAM AADMI MANIFESTO (SEELAMPUR) सीलमपुर विधान सभा

August 31, 2014 02:29 AM

सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र के नागरिकों, घोषणापत्रों को पार्टियों ने चुनावी रस्म भर बनाकर छोड़ दिया है। इन घोषणापत्रों में बड़े.बड़े वादे होते हैं जिन्हें पार्टियां भी भूल जाती हैं और नेता भी। नतीजा ये है कि लोगों ने इन राजनीतिक दलों की तरह उनके घोषणापत्रों को भी गंभीरता से लेना बंद कर दिया है।

लेकिन आम आदमी पार्टी ये रिवाज बदलना चाहती है। हम राजनीति की सफाई करने आए हैंए घोषणापत्रों को उनका भरोसा लौटाना चाहते हैं। हम राजनीति के ढकोसलों को तोड़ना चाहते हैं। हम झूठे वादे नहीं करना चाहते। हम चाहते हैं कि मैनिफ़ेस्टो और नीतियाँ खुद जनता बनाए। हम चाहते हैं कि इन दस्तावेज़ों में सिर्फ ऊपर.ऊपर की बातें न होंए जनता के दुख.दर्द दर्ज होंए लोगों के स्थानीय मुद्दे और गली.मोहल्लों की समस्यायें दर्ज हों। इसीलिए आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के हर विधानसभा क्षेत्र के लिए अलग.अलग दस्तावेज़ बनाए हैं। यह दस्तावेज़ सिर्फ़ पार्टीए उम्मीदवार और कार्यकर्ताओं की राय से ही तैयार नहीं हुआ है। यह जनता की राय पर आधारित है। इसके लिए बाकायदा सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र में अलग.अलग जगहों पर आम सभाएं की गईंए लोगों से उनकी ज़रूरत.शिकायत और राय पूछी गई और इन सबको मिलाकर यह एक ऐसा दस्तावेज़ तैयार किया गया जिसमें सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र के लोगों की शिकायतें और उनके सपने शामिल हैं।
हमारा वादा सिर्फ़ इतना है कि आम आदमी पार्टी की सरकार काम करते वक्त इस दस्तावेज़ को सामने रखेगी। यह दस्तावेज़ आपकी ताकत हैए आपका हथियार है और आपकी कसौटी भी है। आप इसके ज़रिए जान सकते हैं कि आपकी आम आदमी पार्टी ने जो मुद्दे उठाये हैंए वह उनपर कुछ कर रही है या नहीं। आप अपने विधायक से पूछ सकते हैं कि पार्टी का बताया हुआ यह काम कब पूरा होगा। आम आदमी पार्टी के मुख्य मंत्री के दफ़्तर में एक मैनिफ़ेस्टो सेल बनाया जायेगा जिसमें दिल्ली के संकल्प पत्र के साथ.साथ इस दस्तावेज़ के क्रियान्वयन का हिसाब रखा जायेगा। अगर आप मुझे मौका देते हैं तो मैं साल में एक बार सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र के सभी नागरिकों की आम सभा में सबके सामने इस दस्तावेज़ पर क्या काम हुआ उसका हिसाब रखूंगा।
यह दस्तावेज़ बिल्कुल अंतिम नहीं है। यह जनता का घोषणापत्र है और इसलिए जनता इसमें फेरबदल कर सकती है। अगर आपको लगे कि कोई मुद्दा इसमें छूट गया हैए आपके इलाक़े या मोहल्ले की कोई समस्या इसमें नहीं आ पाई है तो आप उसे हमारे ध्यान में लाएं। चुनाव के बाद हम उस मुद्दे को भी इस सूचि में शामिल कर लेंगें।
आपके सहयोग की अपेक्षा में मसूद अली खान

सीलमपुर निर्वाचन क्षेत्रमें आम आदमी के मुद्दे

क. क्षेत्र का परिचय

सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र यमुना नदी के किनारे बसा एक बहुत बड़ा इलाका ह।ै इस इलाके की आबादी साढे़ तीन लाख है जिसमें पुर्नवास अनाधिकृत कालोनियां तथा झुग्गी बस्तियां भी शामिल हैं। इस विधान सभा के लगभग 80 प्रतिशत क्षेत्र में लघु औद्ययोगिक इकाईयां लगी हुई है तथा शेष रिहायशी बसावट वाला इलाका है।

ख. क्षेत्र की स्थिति

सीलपुर, औद्यागिक क्षेत्र के रूप में भी जाना जाता है, एक बड़े बाजार के रूप में भी, और एक घने बसे हुये रिहायशी इलाके के रूप में भी जाना जाता है। इसके बावजूद, इस क्षेत्र में वर्षो से रहने वाले लोगो के लिए न तो मूल भूत सुविधाओं का विकास हुआ है, न व्यापार की उन्नति के लिए क्षेत्र का विकास हुआ हैंए न ही बाहर से आने जाने वाले व्यापारियों की सुविधाओं के लिए अनुरूप क्षेत्र का विकास हुआ हैं।

क्षेत्र में सड़क, बिजली, पानी, सीवर, पार्क, प्रतिभा विद्यालयों, नालियों, जल-मल, निकास, व्यवस्था तथा वाहन, पार्किंग जैसी नागरिक सुविधाओं को भी अभाव है।

प्रत्येक बारिश में सीलमपुर की सड़के और नालियां गन्दे पानी से भर जाती है क्योकि न तो गलियों में जल निकासी व्यवस्था है, न ही सीलमपुर से निकलने वाले नालो को ठीक कराने के लिए पीछले 20 वर्षों में कुछ किया गया किया। यह नाला भी इस क्षेत्र की मुख्य समस्या है।

हमने हर इलाके की समस्याओं का विस्तार से अध्ययन किया है और यह दस्तावेज़ विभिन्न इलाकों की प्रमुख समस्याओं की एक सूची है।

ग. कौन जिम्मेदार?

प्रश्न उठता है कि इस अव्यवस्था के लिए कौन ज़िम्मेदार हैघ् इसके जवाब में हर एक कोई बिना किसी हिचकिचाहट के यही कहेगा . हमारे नेता!

पंद्रहवर्षसेदिल्लीवासीराज्य मे कांग्रेसऔर सात वर्ष से एम सी डी में बीजेपीकाकुशासनभुगतरहेहैं।इनदोनोंनेमिलकरयदिसहीतरहसेकामकियाहोतातोआजयहाँइतनाबुराहालनहोता।इस हालत को देखकरदुःखतोहोताहीहैए झल्लाहटहोतीहैऔरगुस्साभीआताहै।ऐसालगताहैकिइनसबबड़ीपार्टियोंकेशासकोंकोवोटमिलनेकेबादजनताबसअगलेचुनावमेंही यादआतीहै।

पिछले 20 वर्षो में यहां के विधायक ने क्षेत्र का विकास करने की कोई कोशिश नही की केवल चुनाव से पहले सड़को की घटिया मरम्मत को ही विकास कार्या कहकर दर्शाया जाता है। मूल भूत विकास के स्थान पर चुनाव से ठीक पहले झुग्गी झोंपड़ी वालों को कुछ सहायता देकर अपनी और मतदान का प्रलोभन दिया जाता है किन्तु जनता के लिए केंद्र सरकार द्वारा दी गई धनराशि का कहा और किस प्रकार प्रयोग किया गया, इसका कोई हिसाब नही है।

घ. आम आदमी पार्टी की नीति:

आम आदमी पार्टी की सोच इन पुरानी पार्टियों से बिल्कुल हट कर है। आम आदमी पार्टी यह नहीं मानती कि ये सब समस्याएं ए.सी दफ्तरों में बैठे चंद नेता और अफसर सुलझा सकते हैं। इन सभी समस्याओं को हम आपके साथ मिल कर सुलझाने का प्रयास करेंगे। हमारी सोच है कि जनता सब मसलों पर आपस में बातचीत कर खुद निर्णय ले। इसलिए हमारा उम्मीदवार अगले पाँच साल आपके साथ मिल कर इन सभी मसलों पर काम करेगा।

जीवन की आम कठिनाइयों के समाधान के साथ साथ आम आदमी पार्टी का एक अहम उद्देश्य भ्रष्टाचार को समाप्त करना है जिससे राजनीति और प्रशासन में पारदर्शिता सुनिश्चित हो ।

ड़ क्षेत्र के मुद्दे

उम्मीदवार तथा कार्याकताओं द्वारा पुरे क्षेत्र के एक-एक गली व मौहल्ले का सर्वे किया गया लोगो से उनकी समस्या पूंछी गई और उनके साथ ही समाधान पर विचार विमर्श किया गया।

अभी तक किये गये सर्वे के अनुसार विधान सभा क्षेत्र की कुछ एक समान समस्याऐंह ैं तथा कुछ हर वार्ड की कुछ अपनी विशिष्ट समस्याऐं हैं। कुछ मुख्य मुद्दे निम्न प्रकार से है। यदि कुछ मुद्दे छुट गये होंगे तो चुनाव के बाद उनको भी शामिल करके समाधान किया जायेगा।

पूरे विधान सभा क्षेत्र की आम समस्यायें

1. सड़क व गलियों का निर्माण व रख रखाव:

पूरे सीलमपुर क्षेत्र में सड़क का यह हाल है कि सड़क में गढ्ढे कहे या गढ्ढों मे सड़क। यहां तक की सड़को पर खुले मैनहोल का भी ध्यान भी नही रखा जाता। केवल चुनाव से पहले ही सड़को का निर्माण किया जाता है, जबकि इस कार्यो के लिये विधायक को काफी बड़ी धनराशि दी जाती है।

सड़क से भी बद्तर स्थिति गलियों की बनी रहती है, पानी की लाईन सीवर लाईन अथ्वा अन्य किसी करण से सड़क व गलियों में खुदाई की जाती है तो यह लम्बे समय तक नही करवाई जाती हैं।

चूंकि आम आदमी पार्टी के सभी कार्यो पर मौहल्ला सभाओं का नियंत्रण रहेगा। अतः इस प्रकार कि किसी स्थिति की सूचना भी तुरन्त विधायक को दी जायेगी तथा मौहल्ले समिति के हाथों में राशि खर्च करने का निर्णय होने के कारण तुरंत सुधार कार्य सम्ंाव हो जायेगा।

2. सड़को व पार्को का सौन्दर्यकरण

हमारा संकल्प है कि,

स्ट्रीट लाइटो को दुरूस्त किया जाये। सड़को के किनारे जहां जहां भी स्थानप्राप्त होगा वहां हरयाली और फूल पौधों द्वारा क्षेत्र के सौंदर्यकरण को बढाया जाये।

साथ ही पुरे विधान सभा क्षेत्र में मौजुद पार्को की सुंदरता बढ़़ाने का भरपूर कार्य किया जाये।

3. पार्किंग की समस्या: सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र में पार्किंग एक बड़ी समस्या हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिये क्षेत्र मे उपयुक्त स्थान ढूंढकर मल्टी लेवल (बहु स्तरीय) पार्किंग का निर्माण किया जाएगा।

4. नालियों व सीवर की समस्याः

लगभग पूरी दिल्ली की तरह सीलमपुर क्षेत्र में भी गन्दे पानी के निकास के लिये गलियों व सीवर की समुचित व्यवस्था नही है। इस कारण गलियों, मौहल्लों व काॅलोनियों में जगह जगह गन्दा पानी भरा रहता हैं। इसी कारण मच्छरों द्वारा तथा अन्य विषाणुओं द्वारा फैलने वाले रोगो का खतरा लगातर बना रहता हैं। साथ ही बदबू के कारण निवासियों का रहना भी दूभर होता हैं।

दिल्ली में हर वर्ष डेंगू और मलेरिया महामारी की तरह फैलती है, वर्षो पहले नियंत्रित घोषित की गई चेचक की बिमारी भी दिल्ली में पूर्ण दिखाई लेने लगी इन बिमारियों का कारण भी जगह जगह फैली गंदगी और रूका हुआ पानी भी है।

इन बिमारियों के उपचार के नाम पर भी सरकार के द्वारा दवाई छिडकने ओर अस्पतालों में दवा बांटने पर भारी घोटाले होते है और बिमारी के कारण जन धन की हानि बढती जाती है। मगर इस समस्या के कारणों को दूर करने का विधायक जी को कोई ध्यान नही हैं।

सड़को के ढलान भी इस प्रकार बने होते है कि बारिश का पानी नालियों में बहने की बजाये सड़को पर ही भरा रहता है। समय-समय पर सीवरों की सफाई न किये जाने के कारण अक्सर सीवर भी ओवर फ्लो, करते रहते हैं इसके कारण कैालोनियों का वातावरण नरकियें हो जाता है।

जल मल के निकास की व्यवस्था को सुधारना हमारे प्राथमिक कार्यो में से एक होगा। सीवर का चार्ज वार्ड 249, 250 में 455/- रूपये प्रति स्कवाॅर मीटर हैं जबकि अन्य में 160/- रूपये इस चार्च को सब जगह 160/- रूपये किया जायेगा।

5. नाले की समस्या: इस क्षेत्र के लोगो की एक बहुत बड़ी मांग है कि सीलमपुर ब्रहमपुरी पुलिया से जाफराबाद रोड़ नं॰ 66 तक बहने वाले नाले को ढका जाए। आम आदमी पार्टी की सरकार आते हैं इस समस्या को तुरंत दूर किया जायेगा।

6. झुग्गियों की समस्याः

सीलमपुर क्षेत्र में झुग्गी बस्तियां, बहुत सघनता के साथ बसी हुई है पिछले 20 वर्षों में इन बस्तियों के नरकियें जीवन को सुधारने का कोई कार्य यहां के विधायक ने नही किया है। केवल चुनाव से ही ठीक पहले ही, वोट हासिल करने के लिये इन बस्तियों के लोगो की तरफ ध्यान दिया जाता हैं वरना इन्हे गुरबत की हालत में ही जीवन बसर करने के लिए छोड़ दिया जाता है। यह लोग मामूली सुविधाओं के लिये भी तरसते हैं।

प्रत्येक चुनाव से पहले सरकार इन बस्तियों के लोगो को मकान देने का वायदा करती है जो कभी पूरा नही किया गया।

7. सीलमपुर में उद्यमियों की समस्या:

सीलमपुर लघु उद्योगो का एक बड़ा क्षेत्र है। यहां विभिन्न प्रकार की औद्योयगिक इकाईयां लगी हुई है फिर भी इस क्षेत्र को औद्ययोगिक क्षेत्र का दर्जा नही दिया गया हैं। न ही उद्योगो के विकास के लिये कोई सरकारी योजना लागू करने का विचार किया गया है। न ही पुराने विधायक ने पीछले 20 वर्षो में इस ओर ध्यान दिया है।

8. बिजली की समस्या:

सीलमपुर विधान सभा के क्षेत्र की अधिकांश आबादी निम्न तथा मध्यम वर्ग की है। बढती महंगाई तथा भ्रष्टाचार के कारण उनके लिये परिवार चलाना वैसे ही एक कठिन कार्य है। इस पर बिजली के अनावश्यक रूप् से बढे हुए बिलों ने उनके बजट को बिगाड़ दिया हैं।

आम आदमी पार्टी ने पूरी दिल्ली में व्याप्त इस समस्या को और बिजली के बिलों से जुडे भ्रष्टाचार को बहुत प्रभुखता से उजागर किया है। तथा यह आम आदमी पार्टी का वादा है कि सत्ता में आने के बाद ेवह इन बढ़े हुये बिलो व तेज भगते मीटरों के खिलाफ तुरंत कार्यवाही करेगी। बिल आधे किये जाएंगे। फर्जी बिलों को समाप्त किया जायेगा। तेज भागते मीटरों को चेक करवाकर ठीक किया जायेगा।

9. पानी की समस्या:

बीस वर्षो से लगातर एक ही विधायक का शासन रहने के बाबजूद इस विधान सभा के बहुत से मौहल्लों में पीने का पानी उपलब्ध नही है। लोगो को खरीद कर पानी पीना पड़ता है कहीं कहीं तों पाईप लाइने बिछी हुई है तब भी पानी को चालू नही किया गया हैं। बहुत से इलाकों में पानी ना आने के बावजूद पानी का हजारों का बिल आता है।

जहां पानी आता भी है वहां उसका दबाव बहुत कम है पानी की पाईप लाईनों का रख रखाब ठीक न होने के कारण पीने के पानी में गंदा पानी भी मिलकर आता है। जिससे हैजा, डायरिया व अन्य बीमारियां फैलने का डर रहता है। इस सभी चीजो को ठीक किया जायेगा।

10. मकान नम्बरों की समस्या:

सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र की कुछ काॅलोनियों में (अनाधिकृत काॅलोनी) मकान नंम्बर ठीक से नही दिये गये हैं। इस कारण आवेदन पत्र, डाक, पार्सल आदि के पहुचाने की बहुत समस्या होती हैं। विधान सभा क्षेत्र में विभिन्न क्षे़त्रों में इस प्रकार के नक्शे वाले बोर्ड लगवायें जायेंगेजिससे लोगो को पता लग जाये कि वो किस स्थिान पर है। सभी गलियों के बाहर बोर्ड लगाए जाएंगे कि इस गली में कहां से कहां तक मकान नम्बर स्थित है।

11. प्रतिभा विकास विधालयों की आवश्यकता:

सीलमपुर विधान सभा लगभग तीन लाख की आबादी वाले क्षेत्र है। फिर भी यहां सरकार की तरफ से 9 नगर निगम के प्राईमरी, 9 उच्चतर माध्यमिक (सिनियर सैकेण्डरी) तथा एक माध्यमिक (मिडिल) स्कूल हैं। जो क्षेत्र की आवश्यकता के अनुपात बहुत कम हैं। साथ ही क्षेत्र में एक भी प्रतिभा विद्यालय नही है। इस कारण क्षेत्र के मेधावी छात्रो को अपनी शैक्षिक उन्नति की सुविधा यहां उपलब्ध नही है। वर्तमान विधायक का यह हाल है कि पैंतीस साल पुराने जीनत महल का एक हिस्सा अभी भी शेड में चल रहा है।

आम आदमी पार्टी शिक्षा की उन्नति और सुधार के लिये बहुत गम्भीर है अतः क्षेत्र में आवश्यकता अनुसार नये विद्यालय खोले जायेंगे। बालिकाओं के लिए अलग-अलग स्कूल भी बनाये जायेंगे। स्कूलों में टाॅयलेट, पानी, पंखे लाईट, डेक्स आदि का उचित प्रबन्ध कराया जायेगा। सभी स्कूलों में टीचर स्टाफ तथा बच्चों के लिये अलग-अलग व उचित बने हुए शौचालयों की व्यवस्था को दुरूस्त किया जायेगा।

शिक्षा की क्वालिटी को बढ़ाया जा सके इसके लिये वोटो के लिये संकल्प पत्र के अनुसार गेस्ट टीचरांैं को स्थाई किया जायेगा।

नये माध्यमिक स्कूल खोले जायेंगे। इस क्षेत्र में सैंट्रल स्कूल खोलने के लिये कार्यवाही की जायेगी। विद्यालयों में विज्ञान, काॅमर्स तथा व्यवसयोन्मुखी शिक्षा के विषयों की पढाई की व्यवस्था की जायेगी। क्षेत्र में आई टी आई काॅलेज खोले जायेंगे। विद्यालयों में उर्दू भाषा की पढ़ाई की व्यवस्था की जायेगी।

नैतिक शिक्षा तथा राष्ट्र वाद की शिक्षा देकर की नयी पीढ़ी को भ्रष्टाचार से बचाया जा सकता है। अतः सभी विद्यालयों में नैतिक मूल्य स्थापित करने वाले पाठ्यक्रम लगवाने अथवा ऐसे कार्यक्रम करवाने पर विशेष ध्यान दिया जायेगा ।

हफते में एक दिन किसी भी स्कूल में जाकर यह भी देखा जायेगा कि विद्यालय की भवन सम्बन्धी बच्चों सम्बन्धी स्टाफ सम्बन्धी को कोई समस्या नही हैं। शैक्षिक कार्यक्रम ठीक प्रकार चल रहे है अथ्वा नही। इस प्रकार बारी-बारी क्षेत्र के सभी विद्यालयों का ध्यान रखा जायेगा।

12. पार्कों की आवश्यकताः

सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र की जनसंख्या के अनुपात में यहां के बच्चों के खेलने कूदने के लिये प्राप्त पार्क नही है। सीलमपुर जैसे सघन बसे क्षेत्र में इस कमी को दूर करने का कार्य यहां के निवासियों की वार्ड स्तर पर सभा बुलाकर तथा उनके सुझावों को दूर किया जायेगा ताकि बच्चों तथा बुजुर्गो के स्वाथ्य तथा मंनोरंजन का कुछ प्रबन्ध किया जा सके।

13. प्राथमिक स्वस्थ्य केन्द्रः

हमारा संकल्प है किरू

सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र में वार्ड 251 में चिकित्सा केद्रों की स्थापना: एक मात्र जगप्रवेश चन्द्र अस्पताल में आधुनिक चिकित्सा उपलब्ध कराई जाये। इस प्रकार और अस्पताल खोलने का प्रयास किया जाये।

साथ ही होम्योपैथी, आयुर्वेदिक, यूनानी तथा प्राकृतिक चिकित्सा जैसी अन्य वैकल्पिक पद्वतियों के द्वारा चिकित्सा को भी क्षेत्र में उपलब्ध कराया जाये।

14. सामुदायिक भवनों की आवश्यकता:

सीलमपुर की 90 प्रतिशत आबादी मध्यम वर्ग तथा निम्न वर्ग की है। अपने बच्चों की शादी तथा सामाजिक समारोहों के लिए लोग प्राइवेट बैंकेट हाॅल, बुक कराने की क्षमता नही रखते है। इस असुवधिा के को ध्यान में रखते हुए काॅलोनी स्तर पर या वार्ड स्तर पर सामुदायिक भवनों, बारात घरो का निर्माण करवाया जाए।

15. सामुदायिक भवनों का अन्य प्रयोग:

यमुना पार के क्षेत्रों के लिए यमुना पार विकास बोर्ड अलग से बना है। जिसका अलग फण्ड भी आता है किन्तु इस क्षेत्र में ना तो मूल सुविधआों सड़क बिजली पानी का विकास है ना ही किसी प्रकार का सामाजिक सांस्कृतिक विकास है।

यदि आम आदमी पार्टी की सरकार आती है तो सामुदायिक भवनों का प्रयोग कला प्रदर्शिनियों, उच्च स्तर की कला संगीत प्रस्तुतियों, साहित्यिक व्याख्यानों, वैज्ञानिक चर्चाओं के लिए किया जाएगा। क्षेत्र के मेधावी छात्र अपनी नई खोजो योजनाओं अथ्वा विज्ञान प्रदशनियो को लगा सकेंगे। प्रौढ़ शिक्षा कार्यक्रम महिलाओं को आत्मरक्षा सिखाने के कार्यक्रम, बुजुर्गो के साथ छोटे बच्चों का कथा-कहानी सम्मेलन जैसे नये प्रयोग इन भवनों में किये जा सकेंगे जो समाज की सहभागिता तथा बौद्धिक उन्नति में सहायक हों।

यहां क्षेत्र. के बुद्धिजीवियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं मेधाबी छात्रों के सम्मान समारोह भी आयोजित किये जा सकेंगे। ये सभी कार्यक्रम या बहुत मामूली खर्चे पर आयोजित किये जाएंगे। इससे क्षेत्र के निवासियों को आगे बढ़ने तथा कुछ अच्छा करने की भावना को बल मिलेगा।

16. सार्वजनिक शौचालयों का प्रबन्ध:

जैसा कि पहले भी कहा गया है कि सीलमपुर एक बड़ा कारोबारी इलाका और बड़ा बाजार भी है यहां बहुत लोग हर लोग हर रोज आते जाते हैं। किंतु इतने वर्षों में आज तक वर्तमान विधायक ने लोगो के लिये सार्वजनिक शौचालयों का कहीं प्रबन्ध नही किया है।

आम आदमी पार्टी की सरकार आते ही कई स्थानों पर सार्वजनिक शौचालयों का प्रबन्ध किया जाएगा। महिलाओं के लिए अलग से शौचालयों का इंतजाम किया जाएगा।

17. सार्वजनिक पीने के पानी की व्यवस्था:

पुराने समय में पीने के पानी की व्यवस्था करना एक पुण्य का कार्य माना जाता था। मगर जब से पीने के पानी का व्यवसाय होने लगा तब से सरकारों ने इस और ध्यान देना बंद कर दिया है। क्षेत्र में दुकानदारों व राहगीरों के लिए पीने के पानी की व्यवस्थ दुरूस्त की जाए गी।

18. रेहड़ी पटरी वालों की समस्या:

सीलमपुर विधान सभा में लगभग 10,000 रेहड़ी व पटरी वाले है जो विभिन्न कालोनियों में साप्ताहिक बाजार लगाते है। इनकी जरूरतों व जायज मांगों को देखकर यह प्रयास किया जाएगा कि इनसे न तो कोई अवैध वसूली हो और ना ही इनकी वजह से अन्य बाजार वालों को कोई परेशानी हो। रेहड़ी पटरी वालों को रजिस्टर करके सरकारी वैधता तथा सुरक्षा प्रदान की जाएगी। इस कार्य के संचालन व देखभाल में स्थानीय प्रभारियों का योगदान लिया जाएगा। इनके लिए 4 ग् 4 की जगह निश्चित की जाएगी ताकि वो अपनी दुकानदारी आराम से कर सकें।

19. सरकारी राशन की दुकानेंः

राशन उन सभी तक पहुंचे जो उसके असली हकदार है। सभी जरूरतमंदो के पास राशन कार्ड बने हो, बी पी एल कार्ड बने हो, इन सब कार्यो के संचालन की जिम्मेदारी मौहल्ला सभाओं को दी जाएगी। यदि कोई दुकानदार राशन का दुरूप्योग व कालाबाजारी करे तो मौहल्ला सभा आम सहमति के आधार पर उसे बदलने का निर्णय रखेगी। यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि राशन वाला प्रतिदिन दुकान खेलेगा ताकि कार्ड धारी अपनी सुविधानुसार राशन लेकर जा सके।

20. महिलाओं तथा बुजुर्गों की सुरक्षा:

आम आदमी पार्टी की नीतियों के अनुसार सत्ता में आते ही एक विशेष सुरक्षा दल बनाया जाएगा, जो प्रत्येक वार्ड के लिए अलग-अलग होगा। यह सुरक्षा दल रिटायर्ड फौजियों की निगरानी में चलाया जाएगा। जिससे निश्चित रूप् से समाज में अनुशासन और सुरक्षा का वातावरण बनेगा।

21. लघु एवम कुटीर उद्योगः

सीलमपुर क्षेत्र में बहुत से निम्न आय वर्ग के परिवार भी रहते है वहां स्वरोजगार प्रोत्सान तथा महिला सशक्तीकरण के लिए लघु व कुटीर उद्योगों को शुरू करने व बढावा देने के प्रयास किया जाएगा।

22. कूडेदान व कूडे के निपटारे की समस्याः

इस बात का विशेष अभियान चलाया जाएगा कि घरों में भी जैविक कूड़ा तथा अन्य प्लास्टिक आदि का कचरा अलग करके रखा जाए। घरो अथवा कालोनियों से उसे अलग अलग ही उठाया जाएगा कचरा नियमित रूप से उठवाया जायगा ताकि क्षेत्र के गंदगी व बीमारी फैलने से रोकी जा सके।

23. नशा तथा अराजकताः

सीलमपुर विधान सभा क्षेत्र के कुछ इलाकों में नशेका व्यापारतथा सेवन किया जाता है। इस कारण इस क्षेत्र में कुछ जगहों पर अराजकता का भी वातावरण है। नशे के कारण कौम के युवा बच्चे भी खराब होते हैं तथा इलाके की भी बदनामी होती हैं। किन्तु विकास का दावा करने वाले अब तक के विधायक ने इस स्थिति में सुधार के लिए कुछ नही किया।

आम आदमी पार्टी की सरकार आने पर युवाओं को इस बुराई से बचाने का हर संभव कार्य किया जाएगा तथा विशेष सुरक्षा दलों तथा मौहल्ला सभाओ की मदद लेकर अपराधियों पर नियंत्रण किया जाएगा।

भाग-2

क्षेत्र में वार्ड के अनुसार विशिष्ट समस्याएं

वार्ड 249: इस वार्ड में चैहान बांगर तथा जाफराबाद क्षेत्र आते ह।ै इस क्षेत्र की मुख्य समस्याऐं इस प्रकार है।

1. जन निकासी समस्या: इस पूरे इलाके में घरों से निकलने वाले पानी की निकासी की कही व्यवस्था नही हैं। पानी गलियों में ही घूमता रहता हैं या तो धूप से सूखता है या गलियों में बहता है। इसी कारण यहां जमीन का पानी भी गंदा हो चुका है।

2. निगेटिव एरिया की समस्या: जाफराबाद क्षेत्र को बैंको की नजर में निगेटिव एरिया घोषित किया हुआ है। इस कारण इस क्षेत्र के उद्यमियो को किसी भी बैंक से लोन/ऋण की सुविधा प्राप्त नही हो पाती है। आम आदमी पार्टी इस स्थिति को दूर करने का हर संभव प्रयत्न करेगी।

3. मकानो की रजिस्ट्री: हालांकि यहां की कालोनियाॅं रेगूलर मानी जाती है फिर भी यहां के मकानों की पक्की रजिस्ट्री नही की जाती है। आम आदमी पार्टी इन कालोनियों को अधिकृत करवायेंगी।

4. औद्योगिक क्षेत्र घोषित किया जाए: जाफराबाद क्षेत्र में गली गली में उद्योग है किन्तु इसे ना तो औद्योगिक क्षेत्र के रूप में मान्यता है ना ही यहां उद्योगों के विकास के लिए कोई सहायता की जाती है। आम आदमी पार्टी यदि सत्ता में आती है तो इस क्षेत्र में उद्योगों के विकास को तरजीह दी जाएगी। सर्वे कराया जा चुका है। क्षेत्र 80 प्रतिशत रूप से औद्योगिक है अतः इसे औद्योगिक क्षेत्र के रूप में मान्यता दिलवाई जाएगी।

5. योजनाओं का लाभ दिलानाः अभी तक प्रधानमंत्री योजना, 15 सूत्री योजना तथा अल्पसंख्यकों के लिए जारी योजनाओं का लाभए जो निगेटिव एरिया माना जाने के कारण नही मिलता थाए वह दिलवाए जायेंगें।

6. बारात घर: वार्ड नं॰ 249 में बरात घर ना होने के कारण यहां वो लोगो को विवाह समारोह आयोजित कराने में बहुत दिक्कत होती है।

7. डलाव घरः चैहान बांगर क्षेत्र में एक भी कूड़ा घर नही है इस कारण बहुत से लोग नाले में ही कूड़ा डालते है। नालों की नियमित सफाई ना होने के कारण यह इस क्षेत्र की एक बड़ी समस्या हैं।

वार्ड नं॰ 250ः

इस वार्ड में पूरा सीलमपुर क्षेत्र आता है तथा इसकी अनाधिकृत कालोनियों और झुग्गी बस्तियाॅं भी आती है।

इस वार्ड की कुछ मुख्य समस्याएं

1. आॅटो तथा रिक्शा चालकों के लिए वैकल्पिक स्टैण्ड की व्यवस्था होनी चाहिए।

2. क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था बढाई जानी चाहिए। यहां कारोबारियों की सुरक्षा भी आवश्यक हैं।

3. इस क्षेत्र में अभी यह स्थिति है कि यहां आए दिन छोटे बच्चों के गुम होने या उठाए जाने की घटनाएं घटती है।

4. आबादी के अनुपात में विकास योजनाएं नही बनाई गई हैं।

5. नलों में पीने का पानी गंदा आता है तथा पानी का दबाव भी बहुत कम होता है।

6. कोई डिस्पेन्सरी नही है।

7. रेहड़ी पटरी वालों तथा साप्ताहिक बाजार वालों को ध्यान में रखकर कोई स्थायी योजना नही बनाई गई हैं।

8. झुग्गयों में जन सुविधाओं का अभाव है।

यदि आम आदमी पार्टीकी सरकार आती है तो इन सभी समस्याओं का हल क्षेत्र के निवासियों की सलाह से किया जाएगा।

वार्ड नं॰ 251

वार्ड नं॰ 251 में उस्मानपुर तथा शास्त्री पार्क क्षेत्र आते है। इस क्षेत्र की मुख्य समस्यायें इस प्रकार से हैं।

1. इस पूरे वार्ड में कोई नेशनल बैंक नही है।

2. उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तथा प्रतिभा विद्यालय नही है।

3. शास्त्री पार्क चैराहे पर अधिक यातायात तथा जाम की समस्या से बचने के लिए सब-बे या फलाई ओवर होना चाहिए।

4. बच्चों तथा बुजुर्गो के मनोरंजन के लिए कोई अच्छा पार्क होना चाहिए या मौजूद पार्कों में ही इसकी व्यवस्था होनी चाहिए।

5. डी डी ए पार्क का नवीनीकरण कराया जाए।

6. सार्वजनिक शौचालयों- महिला व पुरूषों के अलग शौचालयों को बनवाया जाए।

7. प्याऊ घररू सार्वजनिक स्थानों पर पीने का पानी का भी प्रबन्ध कराया जाए।

8. इस क्षेत्र में कोई पोस्ट आॅफिस नही है वो बनवाया जाये।

रेलवे टिकट की बुकिंग आदि भी वहां सुविधा होगी।

9. खजूरी से शास्त्री पार्क तक एक भी पैट्रोल पंप नही है।

10. हो सके तो इस क्षेत्र में रोजगार के लिए एक सलाहकार कार्यालय खोला जाए।

आम आदमी पार्टी यदि सत्ता में आती है तो स्थानीय प्रभारियों की मदद से इन सभी समस्याओं को दूर करने का कार्य किया जाएगा।

वार्ड 252

इस वार्ड में मौजपुर और ब्रहमपुरी का इलाका आता है इस क्षेत्र की मुख्य समस्याएं अथवा आवश्यकताएं इस प्रकार की है:-

1. मौजपुर और बाबरपुर के बीच में मैट्रो स्टेशन बनवाया जाए।

2. मौजपुर व बाबरपुर की लालबत्ती पर यातायात व्यवस्था को ठीक किया जाए।

3. घोण्डा व मौजपुर रोड़ पर जाम की समस्या को ठीक किया जाए।

4. इस क्षेत्र में पार्किंग की समस्या का हल ढंूढा जाए।

5. इस क्षेत्र को थाने से जोड़कर पुलिस-पेट्रोलिग को बढाया जाए।

6. कृष्णा गली में सीवर की समस्यों और सड़क के रख रखाब को ठीक कराया जाये।

7. जिन गलियों में अभी तक सीवर नही पढे है वहां पर सीवर डलवाया जाये।

8. बच्चों के लिये पार्क बनवाये जायें।

9. इस इलाके में एक डिस्पेंसरी खुलवाई जाये।

10. ब्रहमपुरी के बन्द पडे सीवरों को चालू कराया जाये इस इलाको में सीनियर सैकेन्डरी स्कूल तथा लायब्रेरी की सुविधा उपलब्ध कराई जाये।

11. इस इलाकें में भी एक बड़ा अस्पताल बनवाया जाये।

12. ओखला रोड़ रेलवे स्टेशन तथा जामियां काॅलेज से कनेक्टीवीटी बडाई जाये। आम आदमी पार्टी सत्ता में आती है तो आवश्यकताओं की वरीयता के अनुसार एक एक करके सभी समस्यों को दूर किया जायेगा।

भाग 3

अन्य सुझाव

क्षेत्र वासियों ने कुछ अन्य सुझाब भी दिये जिन्हे यहां प्रस्तुत किया जा रहा है।

1. रात में पुलिस पैट्रोलिंग के समय गाड़ी में एक महीला कांस्टेबल भी शामिल होनी चाहिए।

2. कुकिंग गैस के पुरे 12 सिलैंडर दिलवाने पर भी विचार किया जाये।

3. महीलाऐं अपनी सुरक्षा खुद कर सके इसके लिये जगह-जगह ट्रेनिगं कैम्प चलाये जायें।

4. सामाजिक बुराई को खत्म करने के लिये समाज का भी सहयोग किया जायेगा।

5. समाज में भी नैतिक उन्नति करने वाले चर्चायें समस्याऐं की जाये।

6. यमुनापार विकास बोर्ड के कार्यो व खर्चो का खुलासा किया जाये।

7. लोगो को विभिन्न प्रकार की सामान्य जानकारियां देने के लिये स्थान स्थान पर बोर्ड लगवायें जाये। विभिन्न सरकारी योजनाऐं जो क्षेत्र में लागू हो उनकी जानकारी देने वाले बोर्ड भी लगवायें जाये।

8. जानकारी देने वाले बोर्ड भी लगवाए जाए। सड़क पर किसी पशु को तकलीफ हो तो उसे उचित स्थान पर पहुचाने की जानकारी फोन नम्बर आदि भी बोर्ड पर लिखवाई जाये।

9. रोजगार के अफसर बड़ाकर युवाओं की हताशा और अपराध में कमी लाई जाये।

10 सड़को पर रखे ट्रांसफारमरों को उठवाया जाये बी एस ई एस वाली जगह खरीदकर अपने ट्रांसफारमर रखे।

11. पार्को में पौधो के लिये पानी की व्यवस्था की जाती हैं वहीं पानी की टंकी की व्यवस्था करके महीलाओ के लिये सार्वजनिक शौचालयओं का प्रबन्ध किया जाये।

12. सीलमपुर क्षेत्र में एक सिनेमा हाॅल तथा एक एम्यूजमेण्ट पार्क का निर्माण किया जाये।

13. वर्तमान पार्को का रख रखाव ठीक किया जाये।

14. लड़कियों के लिये काॅलेज खोला जायेगा।

15. क्षेत्र में साफ सफाई की व्यवस्था सुधारी जाये।

16. विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्र सरलता से बनवाये जायें ।

’’’’’’’’’’

ये है सीलमपुर के आम आदमी का . यानी . आपका मैनिफ़ेस्टो । आपकाए आपके लिए और आपके द्वारा बनाया हुआ दस्तावेज़ । हमारा वादा है मौहल्ला और वार्ड सभाओं के माध्यम से हम इस दस्तावेज़ में दर्ज समस्याओं के हल खोजेंगे और उन्हें सुलझाएँगी । इसी कारण हम ने समस्याओं के कोई बने.बनाये समाधान नहीं दिये हैं । समस्याओं का हल ढूढते वक्त हमें विशेषज्ञों की राय लेनी पड़ेगीए पूछना पड़ेगा कि क्या संभव है और क्या नहीं। साथ ही यह भी ध्यान रखना पड़ेगा कि इस क्षेत्र के लिये कितने पैसे उपलब्ध हैं । इसलिये हो सकता है कि हर एक मुद्दे पर एकदम वो काम ना हो पाये जो जनता चाहती हैए या जितनी जनता ने उम्मीद की है। हम सिर्फ़ इतना वादा करते हैं कि हर मुद्दे को इमानदारी से जाँचेंगे और साफ़ नीयत से समस्या सुलझायेंगे । अगर कोई दिक्कत आती है तो जनता के सामने रखेंगेए और जनता से निर्देश माँगेगे।

हमारा उम्मीदवार हर साल इस दस्तावेज़ को लेकर आप के सामने खड़ा होगाए और बतायेगा कि इन मुद्दों पर उस ने क्या क्या किया हैए क्या क्या होना बाकी है और इस ओर क्या प्रयास किये जा रहे हैं।

हमारी एक.एक विधानसभा सीट लोकतंत्र की उस नई इमारत की ईंट है जो हम और आप मिलकर खड़ी करने का सपना देख रहे हैं। हमारे सपनों कि दिल्ली में हर दिल्लीवासी को रोज़गार होगाए इज्जत से जीने लायक आमदनी होगीए रहने योग्य घर होगाए उचित दाम पर बिजली होगीए ज़रूरत के लिये पर्याप्त पानी होगाए शिक्षा और स्वास्थ्य की न्यूनतम सुविधायें होंगी । यह सपना एक नई राजनीतिए एक नए समाजए एक नए लोकतंत्र और एक नए देश का भी है जिसमें सब खुशहाली और भाईचारे से रह सकें ।

इस बार का वोट इस सपने के नाम!

इस बार एक मौका अपने आप को!

इस बार चलेगी झाड़ू!

Have something to say? Post your comment