Tuesday, August 04, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वॉरियर डॉ. जोगिंदर के परिजनों को दी एक करोड़ की सहायता राशिबिहार के खेती बाजार पर PAU की सनसनीखेज रिपोर्ट के बारे में स्पष्टीकरण दें कैप्टन व बादल: भगवंत मानकोटा स्टोन की सीढ़ियों के निर्माण से कर्मपुरा वासियों को मिलेगा आराम: विधायक शिवचरण गोयलAAP सरकार के फैसले को खारिज करके BJP ने दिल्ली के 20लाख लोगों को धोखा दिया- राघव चड्ढा50वर्ष से अधिक उम्र वाले कर्मचारियों के सेवानिवृत्त और समीक्षा वाले कानून वापस ले सरकार: डॉ शशिकांतCYSS ने यूजीसी की प्रस्तावित ऑनलाइन/ऑफ़लाइन परीक्षा के विरोध में की राष्ट्रव्यापी भूख हड़तालमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना योद्धा डॉ. जावेद के परिजनों को दी एक करोड़ की सहायता राशिऑनलाइन परीक्षा के खिलाफ कल 31जुलाई को सीवाईएसएस करेगी राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन
Delhi Election

स्मार्टफोन के डर, स्मार्ट प्लानिंग ने खत्म कराई DTC हड़ताल

May 13, 2015 05:16 PM

हड़ताल खत्म होने की जो सेलीब्रेशन दिल्ली सरकार और डीटीसी प्रबंधन मना रहा है, असल में उसके पीछे सख्ती और स्मार्टफोन की कहानी हैं। क्योंकि डिपो में बस से गेट तक की वीडियो समेत एसएमएस के माध्यम से नौकरी का डर दिखाकर बसों को सड़कों पर उतारा गया है।


गेट में हाजिरी की एंट्री करने के साथ ही ड्राइवरों को नोटिस समेत वीडियोग्राफी और न करने पर सीधा बाहर का रास्ता दिखाया गया। क्योंकि सरकार के निर्देश पर हड़ताल खत्म करवाकर बसों को गेट से बाहर निकालने की पल-पल की जानकारी देते वीडियो, व्हाट्सऐप और मोबाइल मैसेज धनाधन डिपो से सीएमडी और फिर परिवहन मंत्री तक पहुंचते रहे।

दिल्ली ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन की हड़ताल सरकार के बुलावे पर नहीं बल्कि एस्मा के साथ भेजे नोटिस से शुरू होती है। डीटीसी प्रबंधन ने मंगलवार तड़के अपनी सभी डिपो में नोटिस चिपका दिया था, जिसमें लिखा था कि यदि आप बस लेकर नहीं निकलें तो फिर आने की जरूरत नहीं है।
 
गेट पर ही डिपो मैनेजर और स्पेशल टीम के अधिकारी तैनात हो गए थे, जोकि पल-पल की वीडियोग्राफी कर रहे थे। जैसे ही चालक-परिचालक मार्निंग शिफ्ट के आधार पर गेट के रजिस्टर्ड में हाजिरी लगाकार हड़ताल में शामिल होने केलिए वापस मुड़ते, उन्हें नोटिस दिखा दिया जाता।

नोटिस पड़कर अधिकतर चालक-परिचालक अंदर जाकर बस की चाबी लेकर रूट पर निकल पड़े। हालांकि यूनियन और चालक-परिचालकों ने आनाकानी की, लेकिन उनके आनाकानी करते वीडियो बना लिए गए।
 
यह देख चालकों ने बस को सड़कों पर निकालने में ही बुद्धिमानी समझी। क्योंकि रैगुलर समेत कांट्रेक्ट वालों को साफ बता दिया कि उनकी सेवाएं समाप्त कर दी जाएंगी।
डिपो से बसों को लाइन में विभिन्न रूट पर निकाला गया, जिनके बाकायदा वीडियो भी बनाए गए, जिन्हें व्हाट्सऐप के माध्यम से सीएमडी को भेजा गया।

क्योंकि स्पेशल टीम समेत डिपो मैनेजर के अधिकारियों को निर्देश थे कि सुबह चार बजे से पल-पल का अपडेट भेजा जाए। इसी के तहत सुबह चार बजे के बाद से दुपहर 12 बजे तक करीब 34 सौ बस निकालने तक अधिकारी भी डटे रहे।

इसके अलावा सड़कों पर भी टीम मौजूद रही, ताकि चालक बसों को रास्ते में न रोक दें। इसके चलते विभिन्न रूट पर टीम ने सवारियों से भरी बसों के भी फोटो प्रबंधन के माध्यम से परिवहन मंत्री गोपाल राय तक भेजे गए।
 
सौजन्य से:- http://www.delhincr.amarujala.com/feature/fear-of-smartphones-and-smart-planning-ended-dtc-strike-hindi-news/page-3/
Have something to say? Post your comment
More Delhi Election News