Sunday, July 05, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने लीड पोर्टल लांच किया, पहली से 12वीं कक्षा तक की शिक्षण सामग्री मिलेगीकेंद्र सरकार द्वारा जारी होम आइसोलेशन की गाइडलाइन, हू-ब-हू केजरीवाल सरकार की व्यवस्था की नकलसीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना योद्धा स्वर्गीय डॉ. असीम गुप्ता के परिवार को 1 करोड़ का चेक सौंपाCM केजरीवाल और DyCM सिसोदिया ने प्लाज्मा बैंक का किया दौरा, डोनर से मुलाकात कर हाल जानादिल्ली सरकार ने आर्थिक सुधार के उपायों का पता लगाने के लिए 12 सदस्यीय विशेषज्ञ समिति का किया गठनदिल्ली के आईएलबीएस अस्पताल में देश का पहला प्लाज्मा बैंक शुरू - अरविंद केजरीवालपेट्रोल-डीजल के बढ़े दामों के खिलाफ AAP का राष्ट्रव्यापी प्रदर्शनकॉमनवेल्थ गेम्स के कोविड सेंटर में महिलाओं व पुरुषों के लिए अलग वार्ड होंगे - अरविंद केजरीवाल
National

दिल्ली बॉर्डर एक सप्ताह के लिए सील, आगे का फैसला जनता के सुझाव के आधार पर होगा - अरविंद केजरीवाल

June 01, 2020 10:28 PM

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली बॉर्डर को एक सप्ताह के लिए सील कर दिया है। बॉर्डर पर आगे का फैसला दिल्ली के लोगों से मिले सुझाव के आधार पर किया जाएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सभी की है। दिल्ली में स्वास्थ्य सेवाएं सबसे बेहतर होने के कारण देश भर से लोग इलाज कराने आते हैं। दिल्ली किसी का इलाज करने से मना नहीं कर सकती है। बॉर्डर खोलने पर कोविड बेड शीघ्र भर सकते हैं। इस कारण बाॅर्डर खोलने पर मुझे जनता का मार्ग दर्शन और सुझाव चाहिए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार को 5जून(शुक्रवार को शाम 5बजे) तक आपके सुझावों का इंतजार रहेगा। आप अपने सुझाव वाट्सएप नंबर 8800007722 या ईमेल- delhicm.suggestions@gmail.com पर भेज सकते हैं। इसके अलावा आप हेल्पलाइन नंबर 1031 पर काॅल करके भी आपने सुझाव रिकॉर्ड करा सकते हैं। फिलहाल, एक सप्ताह के लिए बॉर्डर सील कर रहे हैं। इस दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। सरकारी कार्यालय के कर्मचारी अपना आई कार्ड दिखा कर आ-जा सकेंगे। अन्य लोग भी पास से आ-जा सकेंगे। हम आप सभी से मिले सुझावों पर विशेषज्ञों से चर्चा करने के बाद अगले सप्ताह ठोस फैसला लेंगे।

केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार दिल्ली में भी छूट लागू, रात 9 से सुबह 5 बजे तक लोगों के बाहर निकलने पर प्रतिबंध- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज से लॉकडाउन का अगला चरण शुरू हो रहा है। केंद्र सरकार ने अपनी नई गाइडलाइन भेजी है। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक, जो भी ढील देने के निर्णय लिए हैं, उस पर दिल्ली सरकार ने कुछ फैसले लिए हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी तक जितनी चीजें खोली जा चुकी है, वह खुली रहेंगी। इसके अलावा, बार्बर और सैलून की दुकानें खोलने का निर्णय लिया गया है। अभी स्पाॅ नहीं खोले जाएंगे। आटो, ई-रिक्शा समेत सभी ग्रामीण सेवा में कुछ दिक्कत आ रही थीं। मसलन, आटो में एक बार में एक ही सवारी बैठने की अनुमति थी। यदि एक परिवार में पति, पत्नी और एक बच्चा घर से निकलते हैं, तो तीनों को अलग-अलग आटो में बैठना पड़ रहा था। इन दिक्कतों की वजह से लोगों के कई सुझाव आए थे। वहीं, अब केंद्र सरकार ने भी नई गाइडलाइन में इस पर कोई प्रतिबंध नहीं रखा है। इसलिए दिल्ली सरकार भी इन प्रतिबंधों को हटा रही है। केंद्र सरकार ने निर्णय लिया है कि रात को 9बजे से सुबह 5बजे तक आवश्यक सेवाओं के अलावा कोई अन्य बाहर नहीं निकलेगा। दिल्ली सरकार भी इस फैसले को लागू करने जा रही है। अभी तक चार पहिया वाहन में चालक के अलावा दो लोग के बैठने और स्कूटर पर पीछे कोई सवारी नहीं बैठने के निर्देश थे। केंद्र सरकार ने इन शर्तों को हटा दिया है। इसलिए दिल्ली सरकार भी केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार इन शर्तों को हटा रही है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मार्केट में अभी तक हम लोगों ने ऑड-ईवन लागू किया था। जिसमें एक दिन ऑड और दूसरे दिन ईवन नंबर की दुकानें खुल रही थीं। अब केंद्र सरकार की गाइडलाइन में इस तरह की कोई शर्त नहीं है। इसलिए अब मार्केट में सभी दुकानें खुलेंगी। पिछली बार केंद्र सरकार ने कहा था कि इंडस्ट्रीयल एरिया में स्टैगर्ड टाइमिंग लागू किए जाएंगे। उसी के मुताबिक दिल्ली सरकार ने भी स्टैगर्ड टाइमिंग लागू किया था। लेकिन नई गाइडलाइन में उन शर्तों को हटा दिया है, इसलिए अब दिल्ली में सभी इंडस्ट्रीज खुल सकेंगी।

दिल्ली में पिछले पांच सालों में स्वास्थ्य सेवाओं में अभूतपूर्व विकास हुआ - अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के बॉर्डर खोलने को लेकर लोगों से मार्ग दर्शन और सुझाव मांगा है। उन्होंने कहा कि मैं दिल्ली के लोगों का मार्ग दर्शन चाहिए। आज तक मुझे आप लोगों का बहुत स्नेह मिला, बहुत प्यार मिला और बहुत विश्वास मिला है। उसी के भरोसे हम लोग आज दिल्ली में जितने काम कर पा रहे हैं, वह सभी काम आप लोगों के विश्वास और स्नेह के कारण ही संभव हो पा रहे हैं। मेरे सामने समय-समय पर कई बार कठिन चुनौतियां आईं। कई बार उनके सामाधान नहीं हो पाते थे। ऐसे समय पर मैं कई बार आप लोगों के सामने आया और आप लोगों के मार्ग दर्शन और सुझाव लिए। समय-समय आप लोगों ने जो मार्ग दर्शन किया, उसको हम लोगों ने लागू भी किया। कुछ दिन पहले आप लोगों से सुझाव मांगे थे कि दिल्ली में लाॅकडाउन में ढील देनी चाहिए या नहीं देनी चाहिए। इस पर भरपूर सुझाव आए थे। दिल्ली के लोगों ने 5लाख से अधिक सुझाव दिए थे। आज एक महत्वपूर्ण विषय पर आप लोगों का मार्ग दर्शन चाहिए कि क्या दिल्ली के बाॅर्डर को खोला जाए? इसका एक महत्वपूर्ण पहलू है। दिल्ली के अंदर कोरोना के केस काफी बढ़ रहे हैं। यह चिंता की बात तो है, लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है। यह मैं इसलिए कह पाया कि क्योंकि दिल्ली के अंदर पिछले 5सालों में आपकी सरकार ने दिल्ली के अस्पतालों और स्वास्थ्य सेवाओं में खूब निवेश किया है। खूब नए अस्पताल खोले हैं। खूब सारे बेड बनाए, आईसीयू खोले और मोहल्ला क्लीनिक खोले हैं। लोगों के लिए सभी इलाज मुफ्त कर दिया है। पिछले पांच सालों में दिल्ली के अंदर स्वास्थ्य सेवाओं में अभूतपूर्व विकास हुआ है। आज उसी के चलते जब कोरोना महामारी की वजह से देश और दुनिया के कई हिस्सों में उनकी स्वास्थ्य सेवाएं ध्वस्त हो गईं। वहीं, आज दिल्ली में कोरोना के केस बढ़ने के बाजवूद आपका मुख्यमंत्री आपको विश्वास दिलाता है कि अगर आपके घर में किसी को कोरोना हो गया, तो आप चिंता मत करना, आपके लिए बेड उपलब्ध हैं। हमने आपके लिए बेड का इंतजाम कर लिया है।

दिल्ली में सबसे बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं और मुफ्त इलाज की वजह से देश भर से लोग इलाज कराने आते हैं- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले सप्ताह जब हमने आप लोगों से बात की थी, तब मैने यह कहा था कि दिल्ली में 2100मरीज हैं, लेकिन 6600बेड के इंतजाम हैं और 5जून तक 9500बेड का इंतजाम और हो जाएगा। दिल्ली में आज की तारीख में अभी करीब 2300मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। किस अस्पताल में बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन उपलब्ध है, इसके बारे में आपको अब एप की मदद से पता चल जाएगा। एप को हम कल लांच कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि देश भर के लोग दिल्ली में इलाज कराने के लिए आते हैं। दिल्ली में लोग इलाज कराने के लिए दो कारणों से आते हैं। पहला, आज दिल्ली की स्वास्थ्य सेवाएं पूरे देश में किसी भी राज्य या किसी भी शहर से सबसे ज्यादा अच्छी है। पूरे देश में सबसे अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं दिल्ली में मिलती है। इसलिए देश भर से लोग इलाज कराने के लिए आते हैं। दूसरा, दिल्ली के अंदर सरकारी अस्पतालों में सबकुछ मुफ्त है। यदि आपके इलाज में 20लाख रुपये भी खर्च होता है, तो वह मुफ्त है। इसलिए देश भर से लोग यहां इलाज कराने के लिए आते हैं।

दिल्ली किसी का इलाज करने से मना नहीं कर सकती, फिर भी हमें आप सभी का मार्ग दर्शन और सुझाव चाहिए- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जैसे ही हम बाॅर्डर खोलेंगे, देश भर से लोग दिल्ली में इलाज कराने के लिए आएंगे। हमने 9500बेड का इंतजाम किया है और दिल्ली में आज की तारीख में केवल 2300मरीज भर्ती हैं। लेकिन यदि बाॅर्डर खोल दिए और देशभर से लोग इलाज कराने के लिए दिल्ली आ गए, तो पूरे बेड दो दिन के अंदर ही भर जाएंगे। मुख्यमंत्री ने दिल्ली निवासियों से पूछा कि ऐसे में हमें क्या करना चाहिए? क्या बॉर्डर खोलने चाहिए या नहीं खोलने चाहिए? कुछ लोगों का कहना है कि बॉर्डर खोल देने चाहिए, लेकिन दिल्ली के अस्पतालों को केवल दिल्ली में रहने वाले लोगों के इलाज के लिए इस्तेमाल किए जाएं। उन्होंने कहा कि दिल्ली तो दिलवालों की है। दिल्ली सबकी है, और देश की राजधानी है। दिल्ली आजतक सभी का इलाज करती आई है। फिर दिल्ली किसी का इलाज करने से मना कैसे कर सकती है? कुछ लोगों का सुझाव है कि जब तक कोरोना है, कम से कम तब तक के लिए दिल्ली के अस्पतालों में केवल दिल्ली में रहने वाले लोगों का ही इलाज होना चाहिए। तो इसमें क्या होना चाहिए? इस पर आप सभी से मार्ग दर्शन चाहिए। हमें क्या करना चाहिए? आप हमें इस बारे में सुझाव भेजें। हमें आपके सुझावों का शुक्रवार को शाम 5बजे तक इंतजार रहेगा। आप मुझे अपने सुझाव वाट्सएप पर भेज सकते हैं। वाट्सएप नंबर 8800007722 है या ईमेल- delhicm.suggestions@gmail.com पर भी अपना सुझाव भेज सकते हैं। यदि आपके पास वाट्सएप या ईमेल नहीं है, तो आप हेल्पलाइन नंबर 1031 पर काॅल करके आपना सुझाव रिकाॅर्ड करा सकते हैं। फिलहाल एक सप्ताह के लिए बाॅर्डर को सील कर रहे हैं। इस दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। सरकारी कार्यालय के कर्मचारी आईकार्ड दिखा कर आ-जा सकेंगे। लोग पास लेकर भी आ-जा सकेंगे। इसके बाद आप लोगों से जो सुझाव आएंगे और जो मार्ग दर्शन करेंगे, उन सुझावों पर हम विशेषज्ञों से भी बात करेंगे। उसके आधार पर अगले सप्ताह हम इस बारे में एक ठोस फैसला ले पाएंगे।

Have something to say? Post your comment
More National News
मामला सेहत मंत्रालय द्वारा नशा मुक्ति गोलियों का, ईडी को हिसाब न देने का
AAP मध्य प्रदेश उपचुनाव समिति 2020 की घोषणा महंगाई कम करने और कृषि बचाने के लिए डीजल और टैक्स घटाएं मोदी और कैप्टन सरकारें - कुलतार सिंह संधवां
मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ‘लीड पोर्टल’ लांच किया, ऑनलाइन मिलेगी शिक्षण सामग्री
राज्य सरकार बिलों में राहत से कन्नी काट रही है
केंद्र सरकार द्वारा जारी होम आइसोलेशन की गाइडलाइन, हू-ब-हू केजरीवाल सरकार की व्यवस्था की नकल
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना योद्धा स्वर्गीय डॉ. असीम गुप्ता के परिवार को 1 करोड़ का चेक सौंपा
CM केजरीवाल और DyCM सिसोदिया ने प्लाज्मा बैंक का किया दौरा, डोनर से मुलाकात कर हाल जाना
दिल्ली सरकार ने आर्थिक सुधार के उपायों का पता लगाने के लिए 12 सदस्यीय विशेषज्ञ समिति का किया गठन
दिल्ली के आईएलबीएस अस्पताल में देश का पहला प्लाज्मा बैंक शुरू - अरविंद केजरीवाल