Sunday, March 29, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
केजरीवाल सरकार ने जनता को कोरोना से उत्पन्न समस्या से राहत देने के लिए उठाए कई कदमआपकी सेहत के लिए लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर होगी सख्ती- अरविंद केजरीवालCM Arvind Kejriwal announces free ration, pension, food for poor amid COVID-19भगवंत मान ने सदन में उठाया पंजाब की ‘खूनी सडक़ों’ का मुद्दा, केंद्री मंत्री नितिन गडकरी ने दिया समाधान करने का भरोसानियमों को ताक पर रख चण्डीगढ़ पुलिस में घुसपैठ करवाए दानिप्स कैडर के डीएसपीज का मुद्दा भगवंत मान ने संसद में उठायादिल्ली में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने वकीलों को दिया एक और तोहफा, ‘वकील वेलफेयर स्कीम’ के तहत 21मार्च से कर सकते हैं आवेदनदिल्ली सरकार के डिस-इंफेक्शन अभियान के तहत अब तक 7877 वाहन किए गए कीटाणु रहित, जिसमें 5951 ऑटो-रिक्शा कीटाणु रहितसोशल मीडिया पर भड़काऊ मैसेज भेजने वाले हो जाएं सावधान, हो सकती है तीन साल तक की जेल
National

केजरीवाल सरकार के अंतर्गत आने वाले सभी गैरजरूरी दफ्तर और सेवाएं 31मार्च तक बंद, केवल जरूरी पब्लिक डीलिंग वाली गतिविधियां ही चालू रहेंगी

March 21, 2020 11:54 AM

नई दिल्ली(20मार्च): दिल्ली में कोरोना से निपटने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी विभागों के प्रमुखों के साथ शुक्रवार सुबह दिल्ली सचिवालय में बैठक की। इस दौरान दिल्ली सरकार की गैर जरूरी सेवाओं को 31मार्च तक बंद करने का निर्णय लिया गया। साथ ही गैर जरूरी सेवाओं के सभी कर्मचारियों को घर से काम करने की इजाजत दे दी गई है। जरूरी सेवाओं में 55वर्ष से अधिक उम्र के कर्मचारियों को घर से काम की छूट की भी वरियता दे सकते हैं। हालांकि, यह छूट देना का अधिकार विभागाध्यक्ष को होगा। विभागाध्यक्ष ही यह तय करेंगे कि जरूरी सेवाओं में 55वर्ष से अधिक उम्र के कौन से कर्मचारी घर से काम कर सकते हैं। मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने सभी विभाग के प्रमुखों को शनिवार सुबह तक घर से काम करने वाले कर्मचारियों की सूची तैयार कर लेने के निर्देश दिए। साथ ही बैठक के दौरान यह भी तय हुआ कि संविदा के किसी कर्मचारी का घर से काम के दौरान तनख्वाह नहीं काटी जाएगी।

दिल्ली में कोरोना को रोकने के लिए जो भी जरूरी कदम होंगे उसे उठाएंगे - अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी विभागों के प्रमुखों के साथ बैठक के दौरान कहा कि दिल्ली में कोरोना अभी तक हम काफी अच्छे तरीके से नियंत्रित किये हुए हैं और अभी तक कम्युनिटी स्प्रीड(सामुदायिक फैलाव) नहीं हुआ है। इसको इसी तरह से नियंत्रित करके रखना होगा। इसलिए हमें जो भी जरूरी कदम उठाने की जरूरत है, उसे हम उठाएंगे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज सभी विभागाध्यक्षों की यह बैठक इसलिए बुलाई गई है, ताकि दो-तीन जरूरी चीजों पर बात कर कार्रवाई की जा सके। कोरोना को रोकने में हमारे अपने कर्मचारियों और लोगों के सहयोग की काफी जरूरत है। हमें दो कार्य करने है, पहली, जो भी पब्लिक डीलिंग की गतिविधियां हैं, उन पब्लिक डीलिंग गतिविधियों को हम दो भागों आवश्यक और गैर आवश्यक में विभाजित करेंगे। यह अपने विभाग के अंदर अकाउंट, विजिलेंस और पर्सनल विभाग की गतिविधियों की बात नहीं कही जा रही है, बल्कि उन पब्लिक डीलिंग गतिविधियों की बात कही जा रही हैं, जिसमे हम जनता को सेवाएं देते हैं। उन पब्लिक डीलिंग में आवश्यक और गैर आवश्यक दो वर्ग है। जितनी भी गैर आवश्यक गतिविधियां हैं, उसे बंद कर देंगे। मसलन, एसडीएम के यहां लोगों के केसेज लगे हुए हैं। वो बन्द हो जाएंगे। उन केसों की सुनवाई 10दिन बाद कर ली जाएगी। हमारे रजिस्ट्रार के कार्यालय बन्द हो सकते हैं। लेकिन डीएम और एसडीएम कोरोना को लेकर जो भी गतिविधि कर रहे हैं, वह गतिविधि आवश्यक है और वह बन्द नहीं हो सकती है। राशन विभाग में राशन का बंटना जरूरी है, लेकिन जो लोग राशन कार्ड के लिए आवेदन करते हैं, वह आवश्यक नहीं है। इसे बंद किया जा सकता है। लोग पूछने आते हैं कि मेरा कार्ड बना कि नही बना, यह गैर आवश्यक है, यह बन्द हो सकता है। इसी तरह, एक ही विभाग के अंदर कुछ कार्य बेहद आवश्यक होते हैं और कुछ आवश्यक नहीं होते हैं। सभी विभागाध्यक्ष आवश्यक व गैर आवश्यक गतिविधियों की सूची बनाकर आदेश जारी कर दें।

 

घर से काम करने वाले कर्मचारी विभाग के कार्य के लिए हमेशा उपलब्ध रहेंगे - अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आवश्यक और गैर आवश्यक गतिविधियों के अलावा, सभी विभागों में जितने भी अधिकारी और कर्मचारी हैं, उनकी भी एक सूची बना ली जाए कि किसे काम पर आने की जरूरत नहीं है। यह सभी विभागाध्यक्षों को तय करना है और शनिवार सुबह तक इन कर्मचारियों की सूची बना ली जाए। विभाग में जितने भी गैर आवश्यक कर्मचारी हैं, उनके लिए आदेश जारी कर दिया जाए कि वे अपने घर पर रह कर ही काम करें। जरूरी व गैर जरूरी सार्वजनिक गतिविधियों को लेकर स्वास्थ्य विभाग महामारी रोग अधिनियम के तहत आदेश जारी करेगा। वही, विभागों के कर्मचारी, जिनमे से कुछ को घर से काम करने की इजाजत दे सकते हैं, लेकिन उनकी छुट्टी नहीं हो रही है। यह भी अपने आदेश में स्पष्ट करेंगे कि वे सभी घर से काम करेंगे और इस दौरान सभी मोबाइल फोन पर हमेशा उपलब्ध रहेंगे। यदि उनकी जरूरत पड़ेगी, तो उन्हें कार्यालय बुला सकते हैं। ऐसे कर्मचारी अपने घर पर रहते हुए भी विभाग के कार्य के लिए हमेशा उपलब्ध रहेंगे, लेकिन वे कार्यालय नहीं आएंगे। यह सभी आदेश 31मार्च 2020 तक मान्य होंगे। साथ ही आवश्यक सेवाओं के 55वर्ष से अधिक के कर्मचारियों को घर से काम को वरियता दे सकते हैं। हालांकि ऐसे कर्मचारियों का निर्णय विभागाध्यक्ष करेंगे। सीएम ने कहा कि अस्पतालों में व अन्य जगहों पर कई डाक्टर 55वर्ष से अधिक के हैं, उन्हें घर से काम की इजाजत नहीं मिल सकती है। इस कारण 55साल से अधिक के किन कर्मचारियों को घर से काम की इजाजत देना है, यह विभागाध्यक्ष तय करेंगे।

 
Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली में 1000 दुकानों पर राशन पहुंचा, 71लाख लोगों को मुफ्त राशन दिया जा रहा हैं - अरविंद केजरीवाल
पैक्ड समान की कीमत में हेरफेर और ओवर चार्ज करने पर दुकानदार व निमार्ताओं पर ₹1लाख का जुर्माना- इमरान हुसैन
राजस्थान राज्य अभिलेखागार ने बनाया होम डिलीवरी के लिए एप्प, कोरोना संक्रमण की रोकथाम में मददगार साबित होगा
दिल्ली सरकार ने लाखों बुजुर्ग, विकलांग और विधवा पेंशन लाभार्थियों के खाते में भेजे 5-5हजार, अप्रैल में और देंगे - अरविंद केजरीवाल
आवश्यक वस्तुओं पर ओवर चार्ज करने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी - इमरान हुसैन
दिल्ली में प्रतिदिन कोरोना के सौ नए मरीज के लिए पुख्ता इंतजाम, इस क्षमता को एक हजार करने की तैयारी हम कर रहे - अरविंद केजरीवाल
आवश्यक सेवाओं से जुड़ी दुकानें और फैक्ट्रियां 24घंटे खुल सकती है, सरकार ने दी अनुमति, कोई अतिरिक्त लाइसेंस नहीं चाहिए - अरविंद केजरीवाल
दिल्ली में जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग 1031 पर काॅल कर ई-पास ले सकते हैं, पास जल्द से जल्द वाट्सएप्प पर मिलेगा - अरविंद केजरीवाल
हर श्रेणी के कर्ज की किश्तें बिना ब्याज 30सितम्बर तक स्थगित करे केंद्र सरकार - भगवंत मान
रेहड़ी, दिहाड़ीदारों व निर्भर लोगों के लिए विशेष वित्तीय और राहत योजनाओं का ऐलान करे कैप्टन सरकार - हरपाल सिंह चीमा