Thursday, April 09, 2020
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
राशन कार्ड के लिए आवेदन करने वालों को कल से स्कूलों में बांटा जाएगा राशन - अरविंद केजरीवालमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सभी विधायकों से की चर्चा, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग भी मांगा'कोरोना वायरस' पर राजनीति करने की बजाए केजरीवाल सरकार से सबक लें कैप्टन अमरिंदर - भगवंत मानजिनके पास राशन कार्ड नहीं है, वे "ई-डिस्ट्रिक्ट" वेबसाइट पर आवेदन कर दें, सरकार देगी मुफ्त राशन - अरविंद केजरीवाललॉक डाउन में बेसहारा गरीबों के सहारा बने आम आदमी पार्टी के विधायकमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली छोड़कर जा रहे लोगों से अपील की कि "जो जहां है, वहीं रहे"ਕੋਰੋਨਾ ਵਾਇਰਸ ਨਾਲ 'ਗਰਾਊਂਡ ਜ਼ੀਰੋ' 'ਤੇ ਜੰਗ ਲੜਨ ਵਾਲਿਆਂ ਲਈ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਐਲਾਨ ਕਰੇ ਕੈਪਟਨ ਸਰਕਾਰ - ਆਪकेजरीवाल सरकार ने जरूरी सेवा से जुड़े हज़ारों लोगों को जारी किया ई-पास, इसकी जमकर हुई सराहना
National

दिल्ली में पूर्व सैनिकों ने अरविंद केजरीवाल को दिया समर्थन

December 30, 2019 12:12 AM

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रफी मार्ग स्थित कांस्टीट्यूशन क्लब, दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में शहीद सैनिकों के परिवार व पूर्व सैनिकों को सम्मानित किया और उनसे बातचीत की। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार पूर्व सैनिकों को कभी नहीं भूली। हम शहीद हुए सैनिकों की 'जान' की कीमत नहीं दे सकते, लेकिन उन्हें सम्मान देने की अवश्य कोशिश किए है। हमने सरकार बनाने के तुरंत बाद से ही दिल्ली के रहने वाले शहीद सैनिकों के परिवार को हमारी सरकार ने एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का काम किया। पिछले पांच साल में हमारी सरकार ने कई विभागों में बड़े पैमाने पर पूर्व सैनिकों को भर्ती कर उनकी क्वालिटी का उपयोग किया, इसी वजह से आज दिल्ली में शिक्षा व सुरक्षा व्यवस्थां बेहतर हो पाई है।

हमारी सरकार ने शहीद सैनिकों के परिवार को एक करोड़ की सम्मान राशि व एक सदस्य को नौकरी देने का काम किया: अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरे देश को आप लोगों पर गर्व है। आप में से कई लोगों ने बड़ी-बड़ी कुर्बानियां दी है। आप में से कई लोग ऐसे है, जिनके परिवार के सदस्यों ने देश को बचाने के लिए अपनी जान की बाजी लगा दी और शहीद हो गए। हम अपने घरों में अपनी जिंदगी आराम से जीते रहते है। हमें कभी एहसास नहीं होता है कि हमारा सैनिक किस तरह से बार्डर पर अपनी जान की बाजी लगाकर हमारे देश की रक्षा कर रहा है। हम कभी एहसास ही नहीं कर पाते है कि जब हमारा सैनिक बाॅर्डर पर हमारी रक्षा करता है, तो कई हजार किलोमीटर दूर उसका परिवार इंतजार किस तरह से कर रहा होगा। जब उस इंतजार में कई बार पता चलता है कि वह शहीद हो गया और उसका शव घर आता है, तो उस परिवार के उपर क्या गुजरती होगी। हमारे सैनिकों ने जब भी जरूरत पड़ी है, मां भारती के लिए गजब के शौर्य और साहस का परिचय दिया है।

हमने शहीद के घर जाकर दी सम्मान राशि: अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि पिछले पांच साल में हमने दिल्ली के लिए बहुत सारे काम किए। दिल्ली के स्कूल अच्छे कर दिए, दिल्ली के अस्पताल अच्छे कर दिए, बिजली-पानी व महिलाओं के लिए यातायात मुफ्त कर दी, सीसीटीवी कैमरे लग रहे है, सड़कें बन रही है, पानी और सीवर की पाइप लाइनें बिछाई जा रही है। दिल्ली के अंदर पिछले पांच साल में अदभुत और ऐतिहासिक स्तर के काम हुआ है। जब हम यह सारे काम कर रहे थे, तब भी हमारे पूर्व सैनिक हमारे दिल में रहते थे, हम उनको कभी नहीं भूले। कई बार जब फौजी शहीद हो जाते है। कुछ व्यवस्था की कमियां ऐसी रही कि उनके जाने के बाद उनके परिवार की देखभाल करने वाला कोई नहीं बचता है, मैंने ऐसे कई परिवारों को रोते-बिखरते हुए देखा है, जो पैसे के अभाव में परिवारों के पास कुछ भी नहीं बचता है। एक सैनिक के लिए देश के लिए शहीद होना बड़े गौरव की बात है, लेकिन उसके बाद उसके परिवार की देखभाल करना समाज का काम है और अगर समाज उसमें कमी करे, तो परिवार को दुख होता है।
हमने सरकार में आते ही 22 फरवरी 2014 का योजना लागू किए कि अब दिल्ली के रहने वाला कोई भी सैनिक बार्डर पर शहीद होता है, तो उसे सम्मान के रूप में उसके परिवार को एक करोड़ की सहायता राशि और परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी देंगे। हमने सिर्फ ऐलान ही नहीं किया, बल्कि पिछले पांच साल में जितने भी केस आए, सभी को सम्मान राशि दी। मैं सचिवालय के आडिटोरियम में बुलाकर भी यह राशि दे सकता था, लेकिन असली गौरव तब होता है, जब उसके मोहल्ले में स्वयं मुख्यमंत्री जाकर लोगों के बीच में उन्हें सम्मानित करे। इसलिए मैं हर व्यक्ति के मोहल्ले में जाकर सम्मान राशि देकर आया।

पूर्व सैनिकों की वजह से सुधरी शिक्षा व सुरक्षा व्यवस्था: अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एक फौजी करीब 40वर्ष की उम्र में सेवानिवृत्त हो जाता है। सैनिक अनुशासित होते है, उनमें बहुत जज्बा होता है और देश के प्रति बहुत इमानदार होते है। इस क्वालिटी को हमने अभी तक इस्तेमाल नहीं किया है। इसलिए हमारी सरकार ने पिछले पांच साल में कई स्थानों पर पूर्व सैनिकों को भर्ती किया। स्कूलों में प्रधानाचार्य पर शिक्षा और प्रशासनिक कार्य जिम्मेदारी होती थी। हमने प्रधानाचार्य के काम को बांट दिया। हमने सभी स्कूलों में एक स्टेट मैनेजर नियुक्त किया, जो प्रशासनिक कार्य देखेगा और प्रधानाचार्य शिक्षा कार्य देखेगा। सभी स्टेट मैनेजर के पदों पर हमने पूर्व सैनिकों को भर्ती किया। आज शिक्षा, सफाई और सुरक्षा व्यवस्था अच्छा पूर्व सैनिकों ने किया है। ऑड-ईवन योजना की सफलता में भी पूर्व सैनिकों की बड़ी मेहनत शामिल है। हमने टांसपोर्ट विभाग के इनफोर्समेंट बिंग में काफी पूर्व सैनिकों को भर्ती किया, बसों में हमने 13हजार मार्शल की भर्ती किया, हमने राज्य सैनिक बोर्ड और केंद्र सरकार को लिखा। जितने भी आवेदन आया, उन सभी लोगों को हमने नौकरी दे दी। हम चाहते है कि सरकार पूर्व सैनिकों के साथ मिलकर काम करें। हमें देश की थल, वायु और जल सेना पर बेहद गर्व है। अगर पूर्व सैनिकों और शहीद हुए परिवारों को आशीर्वाद हमारे साथ है, तो इस दुनिया की कोई ताकत हमें हरा नहीं सकती है।

इन पूर्व व शहीद सैनिकों को किया गया सम्मानित...

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विमला राणा पत्नी शहीद लांस नायक इंदर सिंह राणा, सांता देवी पत्नी शहीद सुबेदार ओमचंद शर्मा, गंगा देवी पत्नी शहीद लांस नायक उम्मेद सिंह नेगी, पूनम देवी पत्नी शहीद रायफल मैन रविंद्र कुमार, मुन्नी देवी पत्नी शहीद हवलदार पूरन सिंह, मनोरमा देवी पत्नी शहीद लांस नायक श्याम सिंह, वीणा देवी पत्नी शहीद लांच नायक रमेश चंद्र, कविता देवी पत्नी शहीद रायफलमैन सूरजमल शौर्य चक्र, नीलम देवी पत्नी शहीद सिपाही विजय सिंह, श्री चौहान माता शहीद अरविंद चौहान, धनवती पत्नी शहीद हवलदार जगदीश सिंह, पिन्की ध्यानी पत्नी शहीद रायफल मैन अनसुइया ध्यानी, शांति देवी पत्नी शहीद सरदार सिंह अशोक चक्र, बसंती देवी पत्नी शहीद नायक पुष्कर सिंह, कैप्टन जय सिंह वीर चक्र, सजनी पत्नी शहीद किस्तूरा राम सेना मेडल, तन कुमार शहीद नायक राम सिंह, सुमन पत्नी शहीद सिपाही दिनेष सिंह, रेखा भंडारी पत्नी सहीद नायक मंगत सिंह भंण्डारी, सुनीता नेगी पत्नी शहीद नायक अर्जुन सिंह, उर्मिला घिल्डियाल पत्नी शहीद मेजर केके घिल्डियाल सेना मेडल, सपना राय शहीद कैप्टन सुमित राय की मां वीर चक्र, मेजर अशोक शर्मा, हवालदार विष्णु, सुबेदार कैलाश नाथ पंघाल, सुरेंद्र शर्मा पिता शहीद सिपाही सचिन शर्मा, समीर सिंह पुत्र शहीद सतवीर सिंह, नायब सुबेदार कुलवीर सिंह, हवलदार सिंघारा सिंह, ऑनरेरी फलाइटरेट सिब्बु यादव, लांस नायक सतवीर सिंह, धर्म सिंह श्यौरान, सुबेदार एचएस भल, सुशीला देवी पत्नी शहीद बिजेंद्र सिंह, मूर्ति देवी पत्नी शहीद हलवदार सुरेंद्र, कश्मीरी देवी पत्नी शहीद बलवंत सिंह, चंदो पत्नी शहीद ग्रेनेडियर हरी सिंह, किताब कौर पत्नी शहीद हवलदार सतपाल सिंह, नरेश देवी पत्नी शहीद जसवीर, सुरेश बाला पत्नी शहीद जगदीष, कृष्णा देवी पत्नी शहीद फतेह सिंह, शकुंतला देवी पत्नी शहीद रामकुमार, नायब सुबेदार इंद्रवीर सिंह, सुबेदार मेजर सोभन सिंह, वारंट अफसर चंद्रिका दूबे और घोषाल को सम्मानित किया।

 
Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली में 5-टी प्लान को अमल में लाकर जीतेंगे कोरोनावायरस से जंग - अरविंद केजरीवाल
दिल्ली सरकार ने माध्यमिक कक्षाओं के बच्चों के शिक्षण कार्य के लिए खान अकादमी के साथ किया करार, स्कूलों में ऑनलाइन कक्षाएं शुरू
सांसद संजय सिंह ने की अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बयान की निंदा, बोले - 'ट्रंप की धमकी मोदी जी को नहीं, 135करोड़ भारतीयों को है'
राशन कार्ड के लिए आवेदन करने वालों को कल से स्कूलों में बांटा जाएगा राशन - अरविंद केजरीवाल
बेलगाम हुए शराब और केबल माफिया पर क्यों नहीं लगाम कस रही कैप्टन सरकार - हरपाल सिंह चीमा
थालियां बजाने और मोमबत्तियां जलाने जैसे जुमलों की बजाए लोगों की मुश्किलों के हल के लिए गंभीर हो सरकार - कुलतार संधवां
गुरुद्वारा मजनूं का टीला पर एफआईआर दर्ज करने में केजरीवाल सरकार का रत्तीभर भी सम्बन्ध नहीं - भगवंत मान
कोरोना से लड़ने के लिए वित्तीय सहायता न देकर दिल्ली के साथ राजनीति कर रही केंद्र सरकार - मनीष सिसोदिया
दिल्ली सरकार की कोशिश कोरोना न फैले, इससे मौतें न हो, मैं खुद एक-एक मरीज पर नजर रख रहा हूँ- अरविंद केजरीवाल
कोरोना ग्रस्त मृतकों के सुरक्षित और सम्मानजनक अंतिम संस्कार के लिए ऑर्डिनेंस जारी करे कैप्टन अमरिंदर सरकार - आप