Wednesday, May 22, 2019
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
सत्ता पाने के लिए नीचता की सारी हदें पार कर के गौतम गंभीर देश की संसद में जाना चाहते हैं लानत है ऐसे व्यक्ति पर :मनीष सिसोदियाकिसानों को साढ़े 4 रुपए का लोलीपोप देकर गुमराह न करें कैप्टन -भगवंत मान'आप' ने पंजाब पर केंद्रित 11 सूत्री चुनाव मैनीफैस्टो किया जारीबादलों को विरोधी पक्ष की कुर्सी पर बैठाने की जल्दबाजी में हैं कैप्टन अमरिन्दर - भगवंत मानजजिया कर का विरोध करने वाले खुद वसूल रहे जजिया कर:जयहिंदमैट्रो स्टेशन पर पहुंचे पंडित नवीन जयहिंद, किया प्रचार सरासर धक्केशाही है किसानों की मुआवजा राशि से टीडीएस काटना -भगवंत मानसार्वजनिक-निजी भागीदारी: रेलवे स्टेशनों के विकास पर भारी
National

पंजाबी यूनिवर्सिटी के टीचिंग स्टाफ को चुनाव ड्यूटी पर लगाना गलत-हरपाल सिंह चीमा

April 20, 2019 04:05 PM

चंडीगढ़, विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला के अध्यापकों-प्रोफेसरों की चुनावों में ड्यूटी लगाने का विरोध किया है और इस संबंधी राज्य मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) को पत्र लिख कर मांग की है कि वह जिला प्रशासन पटियाला का यह फैसला वापस करवाए।

    'आप' मुख्य दफ्तर द्वारा जारी बयान में हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि भारतीय चुनाव कमीशन की संवैधानिक ड्यूटी है कि चुनाव निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके के साथ करवाए जाए, परंतु पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला के टीचिंग स्टाफ को चुनाव में ड्यूटी देना इस लिए ठीक नहीं कि यूनिवर्सिटी के नियमों-कानूनों ने टीचिंग स्टाफ को किसी भी राजनैतिक सक्रियता में हिस्सा लेने, राजनैतिक दलों की मैंबरशिप और पद लेने, यहां तक कि खुद चुनाव लडऩे की आजादी दी हुई है। जिस कारण यूनिवर्सिटी के बहुत से टीचर सीधे तौर पर विभिन्न पार्टियों के साथ जुड़े हुए हैं। 

विरोधी पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला के अध्यापकों-प्रोफेसरों की चुनावों में ड्यूटी लगाने का विरोध किया है और इस संबंधी राज्य मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) को पत्र लिख कर मांग की है कि वह जिला प्रशासन पटियाला का यह फैसला वापस करवाए।

 चीमा ने कहा कि यह स्वाभाविक है कि जो व्यक्ति जिस पार्टी के लिए सक्रिय होगा, उससे व्यक्ति से निष्पक्ष चुनाव ड्यूटी की उम्मीद नहीं की जा सकती।
    चीमा ने कहा कि सरकार के इस फैसले के पीछे गहरी साजिश नजर आ रही है, जबकि इस से पहले कभी भी ऐसा नहीं हुआ।
    चीमा ने यह भी कहा कि यूनिवर्सिटी कलंडर ने टीचिंग स्टाफ को खुद चुनाव लडऩे या किसी भी पार्टी या उम्मीदवार का खुल कर समर्थन करने का जो अधिकार दिया हुआ है, पटियाला प्रशासन ने यूनिवर्सिटी टीचिंग स्टाफ को चुनाव ड्यूटियों पर तैनात कर टीचिंग स्टाफ के इस अधिकार की भी उलंघना की है। चीमा ने कहा कि उनको उम्मीद है कि इस मुद्दे पर चुनाव कमीशन सही फैसला लेगा और पटियाला प्रशासन का फैसला रद्द करेगा।

Have something to say? Post your comment
More National News
सत्ता पाने के लिए नीचता की सारी हदें पार कर के गौतम गंभीर देश की संसद में जाना चाहते हैं लानत है ऐसे व्यक्ति पर :मनीष सिसोदिया
किसानों को साढ़े 4 रुपए का लोलीपोप देकर गुमराह न करें कैप्टन -भगवंत मान
'आप' ने पंजाब पर केंद्रित 11 सूत्री चुनाव मैनीफैस्टो किया जारी
बादलों को विरोधी पक्ष की कुर्सी पर बैठाने की जल्दबाजी में हैं कैप्टन अमरिन्दर - भगवंत मान
जजिया कर का विरोध करने वाले खुद वसूल रहे जजिया कर:जयहिंद
मैट्रो स्टेशन पर पहुंचे पंडित नवीन जयहिंद, किया प्रचार
सरासर धक्केशाही है किसानों की मुआवजा राशि से टीडीएस काटना -भगवंत मान
सार्वजनिक-निजी भागीदारी: रेलवे स्टेशनों के विकास पर भारी
ग्राम उदय से भारत उदय का 'ढोल' पीट कर अपना प्रचार कर गए 'मोदी'
बेरंग दाने के नाम पर कटौती का फैसला तुरंत वापस ले मोदी सरकार-भगवंत मान