Tuesday, May 21, 2019
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
सत्ता पाने के लिए नीचता की सारी हदें पार कर के गौतम गंभीर देश की संसद में जाना चाहते हैं लानत है ऐसे व्यक्ति पर :मनीष सिसोदियाकिसानों को साढ़े 4 रुपए का लोलीपोप देकर गुमराह न करें कैप्टन -भगवंत मान'आप' ने पंजाब पर केंद्रित 11 सूत्री चुनाव मैनीफैस्टो किया जारीबादलों को विरोधी पक्ष की कुर्सी पर बैठाने की जल्दबाजी में हैं कैप्टन अमरिन्दर - भगवंत मानजजिया कर का विरोध करने वाले खुद वसूल रहे जजिया कर:जयहिंदमैट्रो स्टेशन पर पहुंचे पंडित नवीन जयहिंद, किया प्रचार सरासर धक्केशाही है किसानों की मुआवजा राशि से टीडीएस काटना -भगवंत मानसार्वजनिक-निजी भागीदारी: रेलवे स्टेशनों के विकास पर भारी
National

याचना नहीं अब ‘रण’ होगा, 1 मार्च से अनिश्चित कालीन अनशन करेंगे अरविन्द केजरीवाल

February 25, 2019 06:18 PM

‘दिल्ली’ को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलवा कर ही थमेगा अब यह आंदोलन
1 मार्च से अनिश्चित कालीन अनशन पर बैठेंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री
दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलवाने की मांग को लेकर 1 मार्च से शुरू होने जा रहा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का अनिश्चितकालीन अनशन आगे चलकर एक अनिश्चित कालीन आंदोलन में तब्दील हो जाएगा और दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलने के उपरांत ही समाप्त होगा। आज तक से बातचीत करते हुए अरविंद केज़रीवाल ने कहा कि 70 सालों से दिल्ली के लोगों को बेवकूफ बनाया जा रहा है. 1949 में पूरे देश में जनतंत्र आया, लेकिन दिल्ली के साथ ऐसा नहीं है. यहां के लोग अपनी सरकार तो चुनते हैं, लेकिन सरकार के पास शक्तियां ही नहीं हैं.
अरविंद केज़रीवाल ने कहा कि दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्रियों शीला दीक्षित, मदन लाल खुराना या साहिब सिंह वर्मा के पास भी पूरी ताकत नहीं थी. मदनलाल खुराना ने विधानसभा में कहा था कि दिल्ली के मुख्यमंत्री की ताकत एक चपरासी के बराबर भी नहीं है. यह बयान दर्ज है. उन्होंने भी पूर्ण राज्य के लिए आवाज उठाई थी. अटल बिहारी वाजपेयी दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का कानून लेकर आए थे, लेकिन संसद का कार्यकाल पूरा हो गया तो बात वहीं रूक गई. शीला दीक्षित भी 15 साल तक इसके लिए आवाज उठाती रहीं.
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शीला जी के पास ज्यादा ताकत थी. वह दिल्ली के किसी भी अधिकारी का ट्रांसफर कर सकती थीं. वह तय कर सकती थीं कि दिल्ली का एजुकेशन, हेल्थ और चीफ सेक्रेटरी कौन बनेगा. हमारी सरकार बनने के 3 महीने बाद मोदी सरकार ने एक नोटिफिकेशन जारी करके हमसे सारी ताकत छीन ली. अब ये केंद्र सरकार तय करती है. अब मनीष सिसोदिया अच्छा काम करते हैं तो केंद्र सरकार एजुकेशन सेक्रेटरी को बदलकर सबसे भ्रष्ट आदमी को वहां बैठा देती है.
इन सबके बावजूद हमने शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली और पानी के क्षेत्र में क्रांतिकारी फैसले किए, जो 70 साल में किसी भी सरकार ने नहीं लिए. किसी राज्य में 15 साल की सरकार में भी इतने काम नहीं हुए, जितने हमने चार साल में कर दिखाए. हमारे पास जितनी ताकत थी, हमने उससे ही काम किया.
अरविंद केज़रीवाल ने ऐलान किया कि जिस दिन दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला, दिल्ली के हर परिवार को दस साल में एक-एक घर दे देंगे. उन्होंने कहा कि दिल्ली को बिल्डर माफिया से मुक्त कर दिया जाए तो सबको घर मिल सकता है. दिल्ली में सालों से यूनिवर्सिटी नहीं बनी. हमने मोदी सरकार से कहा था कि हमें कॉलेज खोलने हैं, यूनिवर्सिटी बनाने की इजाजत दी जाए. तीन साल में कोई फैसला नहीं हुआ. आज दिल्ली में 95 फीसदी नंबर लाने वाले बच्चों के मां-बाप परेशान हो जाते हैं, क्योंकि यहां पढ़ने के लिए कॉलेज ही नहीं है.
केज़रीवाल ने कहा कि हम दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लगाना चाहते थे, तीन साल तक मोदी सरकार फाइल लेकर बैठी रही. मैं लड़कर फाइल साइन करवाकर लाया. अगले हफ्ते से दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लगने वाले हैं. मनीष सिसोदिया को फाइल साइन कराने के लिए एलजी के घर पर धरना देना पड़ा. वह अपने बच्चे का एडमिशन करवाने या नौकरी के लिए वहां नहीं गए थे. फाइल साइन करवाने गए थे.
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की मजबूरी है, बीजेपी को हराना जरूरी है. हम कुछ भी सत्ता के लिए नहीं कर रहे हैं. हमारा बस एक ही लक्ष्य है कि अमित शाह और मोदी को हराना. कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का गठबंधन नहीं हो रहा है ऐसा मुझे लगता है. अगर हम दोनों साथ आते तो बीजेपी वाइप आउट हो जाती, लेकिन अभी भी हम भाजपा को कड़ी टक्कर देंगे. अरविंद केज़रीवाल ने कहा कि आज देश के लिए अगर आम आदमी पार्टी बंद करनी पड़े तो मैं चार मिनट में इसे बंद कर दूंगा. मैं शुगर का पेशेंट हूं फिर भी उपवास पर बैठ रहा हूं यानी जान दांव पर लगा रहा हूं. अमित शाह और मोदी को हराने के लिए कोई भी प्रधानमंत्री बन जाए यह महत्वपूर्ण नहीं है. इन्होंने पांच साल में देश का बेड़ा गर्क कर दिया है. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज दिल्ली में दो लाख नौकरी निकल सकती है, लेकिन यह मेरे हाथ में नहीं है. मोदी सरकार के हाथ में है. अगर दिल्ली पूर्ण राज्य बन जाए तो मैं दो लाख लोगों को तुरंत सरकारी नौकरी दे सकता हूं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज दिल्ली में दो लाख नौकरी निकल सकती है, लेकिन यह मेरे हाथ में नहीं है. मोदी सरकार के हाथ में है. अगर दिल्ली पूर्ण राज्य बन जाए तो मैं दो लाख लोगों को तुरंत सरकारी नौकरी दे सकता हूं.
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मेरा उपवास दिल्ली के लोगों को पूर्ण राज्य के आंदोलन हेतु संगठित करने के लिए है. मेरा आंदोलन किसी सरकार से कोई मांग करने के लिए नहीं है. संसद खत्म हो रही है. कोई सरकार ही नहीं बची है तो हमारी किसी से कोई मांग नहीं है. एक मार्च से आंदोलन शुरू हो रहा है. यह आगे तरह-तरह से जारी रहेगा. यह आंदोलन दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने तक जारी रहेगा.

उन्होंने कहा कि इस समय केंद्र में हालात ऐसे हैं कि अगर हमारे सात सांसद बन गए तो हमारे पास बहुत ताकत होगी, मेरा दिल ये कहता है कि सात सांसद आने से दो साल के अंदर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिल जाएगा.
मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी और कांग्रेस ने कई सालों से दिल्लीवालों को धोखा दिया है, यह देखकर मुझे बड़ा दुख होता है. साहिब सिंह वर्मा के बेटे प्रवेश वर्मा और मदनलाल खुराना के बेटे हरीश खुराना पूर्ण राज्य का विरोध कर रहे हैं. इन दोनों के पिता ने पूर्ण राज्य के लिए लड़ाई लड़ी थी. शीला दीक्षित 15 सालों तक पूर्ण राज्य के लिए लड़ती रहीं और अब वह इसका विरोध कर रही हैं.
संवाददाता द्वारा यह पूछे जाने पर कि उपवास के बाद क्या होगा ? के जवाब में अरविंद बोले, देखते हैं कि उपवास के बाद क्या होता है. लोग जमा होंगे, सिग्नेचर होंगे, मार्च होंगे, देखते हैं कि उपवास कहां पर खत्म होगा. भाजपा ने कहा था कि सात सांसद दे दो, पूर्ण राज्य का दर्जा देंगे. उन्होंने अपना वादा पूरा नहीं किया. अब हम कह रहे हैं कि हमें सात सांसद दे दो, हम पूर्ण राज्य का दर्जा देंगे.
अरविंद केज़रीवाल ने कहा कि देश के लोग देख चुके हैं कि मोदी-शाह की जोड़ी देश के लिए कितनी खतरनाक है. इन्होंने देश का बेड़ा गर्क कर दिया. इन्होंने नोटबंदी की, जीएसटी की, सीलिंग की. अच्छी-खासी अर्थव्यवस्था पर ब्रेक लगा दिए. डेढ़ करोड़ लोग बेरोजगार हो गए. सबसे गलत काम ये किया कि देश का भाईचारा खत्म कर दिया. हिंदुओं को मुसलमानों से लड़ा दिया. जाटों को नॉन जाट से, मराठा को नॉन मराठा से, पटेल को नॉन पटेल से लड़ा दिया. लोगों के मन में जहर भरने का काम किया है.
अरविंद ने मोदी,शाह पर आरोप लगाया कि पाकिस्तान पिछले 70 साल से कोशिश कर रहा है कि कैसे भारत को कमजोर किया जाए. कैसे भारत के लोगों को धर्म के नाम पर बांटा जाए, जो काम करने में पाकिस्तान 70 साल में सफल नहीं हुआ, वह काम पांच साल में मोदी और अमित शाह ने कर दिया.
2019 में अगर मोदी-शाह जीत गए तो ये देश का संविधान बदलकर चुनाव कराना खत्म कर देंगे, जैसा कि हिटलर ने किया था. अभी अमित शाह ने अपनी एक रैली में कहा था कि अगर वे 2019 में जीत गए तो 2050 तक बीजेपी को कोई नहीं हरा सकता. इनकी ऐसी ही प्लानिंग है. इस समय जनतंत्र और देश को बचाना जरूरी है.
इस समय देश में यह जरूरी है कि भाजपा के खिलाफ केवल एक उम्मीदवार खड़ा हो ताकि वोट बंटे नहीं. पिछली बार बीजेपी 31 फीसदी वोट से जीती थी, यानी 69 फीसदी लोग उसके खिलाफ थे. ये आंकड़ा तब का है जब मोदी लहर चल रही थी.
मोदी जी ने कहा था कि स्वामीनाथन कमीशन की रिपोर्ट लागू करूंगा. आज किसान कितने दुखी हैं. आज देश में कहीं भी मॉब लिंचिंग हो रही है, कोई पकड़ा नहीं जाता. अगर देश में शांति या भाईचारा नहीं होगा तो देश प्रगति नहीं कर सकता.
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ईडी और आईटी की मास स्केल पर रेड हो रही हैं. आप देश में किसी से भी बात करलो. जजों से बात करलो. सब लोग बात करने में डरते हैं कि कॉल रिकॉर्ड हो रही है.
पुलवामा अटैक का राजनीतिकरण तो हो रहा है. भाजपा वाले शहीदों के घरों में भाजपा के झंडे लगाने की बात कर रहे हैं, भाजपा वालों को लताड़ रहे हैं कि वे शहीदों की शाहदत पर राजनीति कर रहे हैं। सोशल मीडिया में सब चल रहा है. मेरे मोदी जी से मतभेद हो सकते हैं, लेकिन अगर वह पाकिस्तान के खिलाफ सख्त एक्शन लेते हैं तो मैं उनका समर्थन करूंगा. पाकिस्तान कुछ भी करके चला जाता है. उसे इसकी कीमत पता होनी चाहिए.
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मोदी सरकार ने दुनिया को दो गलत संदेश दिए. एक तो मोदी जी नवाज शरीफ से जन्मदिन पर बिन बुलाए, बिना तय कार्यक्रम के चले गए जिससे पाकिस्तान को कहीं न कहीं हमारी कमजोरी का एहसास हुआ. दूसरी ओर पठानकोट के एयरबेस पर आईएसआई वालों ने हमला करा दिया, हमने उन्हीं आतंकियों को बुलाकर इसकी जांच करने को कह दिया. ये कमजोरी का अहसास देते हैं. इंटरनेशनल डिप्लोमेसी बराबरी पर चलती है. वो अगर 40 मारते हैं तो आप 400 मारो. ऐसा एक्शन लो कि पाकिस्तान को दस गुना कीमत चुकानी पड़े. फिर पाकिस्तान ऐसा करने की कभी नहीं सोचेगा.
अरविंद केज़रीवाल ने कहा कि मुझे कांग्रेस की नीयत समझ नहीं आ रही है. दिल्ली में वह आम आदमी पार्टी को कमजोर कर रही है. उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा को कमजोर कर रही है. पश्चिम बंगाल में वह ममता जी को कमजोर कर रहे हैं. मुझे लगता है कि वोट बंटने नहीं चाहिए.
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सातों सांसद जीत जाएं तो हम कैबिनेट में कोई जगह नहीं लेंगे, हम बस दिल्ली का पूर्ण राज्य का दर्जा लेंगे.
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार सीबीआई, ईडी, आईटी की रेड राज्य सरकारों को डराने के लिए कर रही है, अगर लोगों को राज्य सरकारें पसंद नहीं हैं तो लोग उन्हें बदल देंगे. इन्हें डराने से कुछ नहीं होगा. मोदी अपनी सरकार को एजेंसियों से चलाना चाह रहे हैं. चुनाव से दो महीने पहले ईडी की पूछताछ कराने, कोलकाता कमिश्नर के घर में 40 सीबीआई अधिकारी भेजने से क्या होगा. नीरव मोदी, विजय माल्या को पकड़ना था, उन्हें तो नहीं पकड़ा.
सभार - आज तक

Have something to say? Post your comment
More National News
सत्ता पाने के लिए नीचता की सारी हदें पार कर के गौतम गंभीर देश की संसद में जाना चाहते हैं लानत है ऐसे व्यक्ति पर :मनीष सिसोदिया
किसानों को साढ़े 4 रुपए का लोलीपोप देकर गुमराह न करें कैप्टन -भगवंत मान
'आप' ने पंजाब पर केंद्रित 11 सूत्री चुनाव मैनीफैस्टो किया जारी
बादलों को विरोधी पक्ष की कुर्सी पर बैठाने की जल्दबाजी में हैं कैप्टन अमरिन्दर - भगवंत मान
जजिया कर का विरोध करने वाले खुद वसूल रहे जजिया कर:जयहिंद
मैट्रो स्टेशन पर पहुंचे पंडित नवीन जयहिंद, किया प्रचार
सरासर धक्केशाही है किसानों की मुआवजा राशि से टीडीएस काटना -भगवंत मान
सार्वजनिक-निजी भागीदारी: रेलवे स्टेशनों के विकास पर भारी
ग्राम उदय से भारत उदय का 'ढोल' पीट कर अपना प्रचार कर गए 'मोदी'
बेरंग दाने के नाम पर कटौती का फैसला तुरंत वापस ले मोदी सरकार-भगवंत मान