Monday, April 22, 2019
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
राज्यसभा सांसद संजय सिंह के नेतृत्व में दक्षिणी दिल्ली में राघव चड्ढा की नामांकन रैलीआम आदमी पार्टी ने हरियाणा के लिए अपने 3 लोकसभा प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कीगेहूं की खरीद के लिए नमी की शर्तों में ढील दे सरकार-हरपाल सिंह चीमापंजाबी यूनिवर्सिटी के टीचिंग स्टाफ को चुनाव ड्यूटी पर लगाना गलत-हरपाल सिंह चीमाप्राकृतिक आपदा से बर्बाद हुई फसलों के लिए जिलों में मांग पत्र सौंपेगी आप- संधवां  कैप्टन और बादलों ने एक-दूसरे को गद्दार-गद्दार मौसेरे भाई किया साबित -भगवंत मानजलियांवाला बाग गोलीकांड शताब्दीजातिवाद की राजनीति को खत्म करके भाईचारे का संदेश देगा आज (आप+जजपा) गठबंधन – जयहिन्द
National

फर्जी गैरतमन्द है सुखपाल सिंह खहरा-मनजीत सिंह बिलासपुर

January 20, 2019 05:10 PM

फर्जी गैरतमन्द है सुखपाल सिंह खहरा-मनजीत सिंह बिलासपुर
विधायक पंडोरी ने कहा कि कुर्सी का त्याग और दलितों का सम्मान खहरा के स्वभाव का हिस्सा नहीं

चंडीगढ़, आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के अनुसूचित जाति (एस.सी) विंग के प्रधान व विधायक मनजीत सिंह बिलासपुर और सह-प्रधान व विधायक कुलवंत सिंह पंडोरीने सुखपाल सिंह खहरा को फर्जी गैरतमन्द करार देते हुए कहा कि यदि खहरा में जरा-सी-भी गैरत है तो वह स्पीकर की ओर से की जाने वाली कार्यवाही से पहले विधायक के पद से इस्तीफा दें।
    'आप' मुख्य दफ्तर द्वारा जारी संयुक्त ब्यान में मनजीत सिंह बिलासपुर और कुलवंत सिंह पंडोरी ने कहा कि खहरा अति दर्जे का मौकाप्रस्त और कुर्सी का लालची है। 'आप' के चुनाव निशान झाड़ू और 'आप' नेताओं-वलंटियरों के प्रचार के बलबूते हासिल किए विधायक पद का अब भी मोह ना छोडऩा साबित करता है कि खहरा किस कदर मौकाप्रस्त और कुर्सका लालची है। 

'आप' मुख्य दफ्तर द्वारा जारी संयुक्त ब्यान में मनजीत सिंह बिलासपुर और कुलवंत सिंह पंडोरी ने कहा कि खहरा अति दर्जे का मौकाप्रस्त और कुर्सी का लालची है। 'आप' के चुनाव निशान झाड़ू और 'आप' नेताओं-वलंटियरों के प्रचार के बलबूते हासिल किए विधायक पद का अब भी मोह ना छोडऩा साबित करता है

 मनजीत सिंह बिलासपुर ने सुखपाल सिंह खहरा पर दलित विरोधी होने के दोष लगाते उन्होंने कहा कि पंजाब और पंजाबियत पर 100 पद कुर्बान करने के फर्जी दावे करने वाले सुखपाल सिंह खहरा इतना भी बर्दाश्त नहीं कर सके कि पार्टी ने विरोधी पक्ष की कुर्सी खहरा से लेकर एक दलित विधायक को क्यों और कैसे दे दी। कुलवंत सिंह पंडोरी ने दावा किया कि हरपाल सिंह चीमा को विरोधी पक्ष का नेता बनाऐ जाने के बाद में खहरा की इस बात में दम नहीं था कि वह उसके ग्रुप के मास्टर बलदेव सिंह, जगतार सिंह जग्गा या पिरमल सिंह खालसा को यदि विरोधी पक्ष का नेता बना दिया जाए तो उसे कोई ऐतराज नहीं। बिलासपुर के अनुसार यदि खहरा की बजाए इन तीनों दलित विधायकों में से भी किसी एक को खहरा के स्थान पर विरोधी पक्ष का नेता बना दिया जाता तो भी खहरा ने पार्टी तोडऩी ही थी क्योंकि खहरा के स्वभाव में न कुर्सी का त्याग है और न ही दलित वर्ग का सम्मान है।
 

Have something to say? Post your comment
More National News
राज्यसभा सांसद संजय सिंह के नेतृत्व में दक्षिणी दिल्ली में राघव चड्ढा की नामांकन रैली
आम आदमी पार्टी ने हरियाणा के लिए अपने 3 लोकसभा प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की
गेहूं की खरीद के लिए नमी की शर्तों में ढील दे सरकार-हरपाल सिंह चीमा
पंजाबी यूनिवर्सिटी के टीचिंग स्टाफ को चुनाव ड्यूटी पर लगाना गलत-हरपाल सिंह चीमा
प्राकृतिक आपदा से बर्बाद हुई फसलों के लिए जिलों में मांग पत्र सौंपेगी आप- संधवां  
कैप्टन और बादलों ने एक-दूसरे को गद्दार-गद्दार मौसेरे भाई किया साबित -भगवंत मान
जलियांवाला बाग गोलीकांड शताब्दी
जातिवाद की राजनीति को खत्म करके भाईचारे का संदेश देगा आज (आप+जजपा) गठबंधन – जयहिन्द
चौकीदार खट्टर में घुसी जनरल डायर की आत्मा – जयहिन्द
शताब्दी वर्षगांठ पर जलियांवाला बाग के 'शहीदों' को शहीद का रुतबा ऐलाने सरकार -हरपाल सिंह चीमा