Friday, January 18, 2019
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
जिसने किया था 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा उसी ने छीन लिया 1 करोड़ 90 लाख लोगों का रोज़गारकांग्रेस के कई नेता व कार्यकर्ता हुए आम आदमी पार्टी में शामिल, दिलीप पाण्डेय ने स्वागत कियाहरियाणा से आए बाल्मीकि समाज सभा के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में की केजरीवाल से मुलाकातमोदी सरकार ने शहीदों को मिलने वाली एक करोड़ सम्मान राशि के प्रस्ताव को वर्षों तक रोका: अरविंद केजरीवालडोर-टू-डोर कि ताकत से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में इतिहास रचा था। अब हरियाणा की बारी है : नवीन जयहिन्द 7 तारीख तक हर हाल में देना होगा कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वालों को वेतन शहीदों के परिवारों को 1 करोड़ रुपये की सम्मान राशि देने की हमारी योजना रोककर मोदी जी ने सबसे गंदा काम किया : केजरीवालसेवा केन्द्रों की बढ़ी फीसें तुरंत वापिस ले कैप्टन सरकार -हरपाल चीमा
National

दिल्ली विश्वविद्यालय में वैकल्पिक और सकारात्मक राजनीति के लिए मिलकर चुनाव लड़ेगें CYSS और AISA : गोपाल राय

August 30, 2018 10:35 AM

  दिल्ली की छात्र राजनीति में आज जो एक भय का माहौल बना हुआ है, DUSU चुनाव आते ही जिस तरह की हुड्दंगाई दिल्ली के केम्पसो में शुरू हो जाती है, और गुंडागर्दी और पैसों के बल पर जो चुनाव लड़े जाते हैं, हम इस प्रथा को ख़त्म करेंगे: गोपाल राय

 प्रेस वार्ता में पत्रकारों को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने बताया कि इस बार दिल्ली विश्वविध्यालय (DUSU) के चुनावों में आम आदमी पार्टी की छात्र विंग CYSS, विश्वविध्यालय की मौजूदा छात्र विंग AISA के साथ मिलकर चुनाव लड़ने जा रही है।

विश्वविध्यालय में ABVP और NSUI की गुंडागर्दी के कारण वहां के अध्यापकों एवं छात्रो एवं वहां के कर्मचारियों के बीच से बदलाव की, एक सकारात्मक राजनीति की मांग उठ रही थी, उन सभी की भावनाओं को देखते हुए हमने ये फैसला लिया है। CYSS और AISA के संयुक्त फैसले के अनुसार अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के पद पर AISA के प्रतियाशी और सचिव और उप-सचिव के पद पर CYSS के प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे।

विश्वविध्यालय में एक सकारात्मक राजनीति का माहौल बने, विद्यार्थियों और अध्यापकों में जो डर का माहौल बना हुआ है, वो ख़तम हो। केम्पस में गुंडागर्दी की राजनीति के बदले बेहतर शिक्षा और बेहतर सुविधा की राजनीति की शुरुआत हो। 

गोपाल राय ने कहा कि अगर CYSS और AISA का ये संयुक्त पैनल DUSU की सत्ता में आता है तो हम लोग विद्यार्थियों की मांगो को पुरजोर तरीके से उठाएँगे। विद्यार्थियों की जो मूलभूत मांगे हैं, जैसे बेहतर लाइब्रेरी, सभी के लिए होस्टल की सुविधा, लड़कियों की सुरक्षा के बेहतर इंतजाम आदि पर पुरजोर तरीके से काम करेंगे।

जैसा की आप सबको ज्ञात होगा कि आम आदमी पार्टी छात्रो की अच्छी शिक्षा और बेहतर सुविधा के लिए लम्बे समय से प्रयास कर रही है। छात्रों की मांग थी की AC बसों में भी स्टूडेंट पास लागू हों, उस पर डीटीसी बोर्ड की मीटिंग हो चुकी है, और जल्द ही AC बसों में भी स्टूडेंट पास शुरू हो जाएगा। छात्रो की एक और मांग थी कि मेट्रो का किराया कम किया जाए, उसके लिए दिल्ली सरकार लगातार केंद्र सरकार के साथ बातचीत कर रही है, और हमें उम्मीद है की जल्द ही केंद्र सरकार विद्यार्थियों की सुविधा को देखते हुए दिल्ली सरकार की ये मांग भी मान लेगी।

गोपाल राय ने कहा कि अगर CYSS और AISA का ये संयुक्त पैनल DUSU की सत्ता में आता है तो हम लोग विद्यार्थियों की मांगो को पुरजोर तरीके से उठाएँगे। विद्यार्थियों की जो मूलभूत मांगे हैं, जैसे बेहतर लाइब्रेरी, सभी के लिए होस्टल की सुविधा, लड़कियों की सुरक्षा के बेहतर इंतजाम आदि पर पुरजोर तरीके से काम करेंगे। जिस तरह से दिल्ली सरकार दिल्ली की जनता की सुरक्षा के मद्देनज़र दिल्ली में CCTV कैमरा लगवाने का काम करने जा रही है, वैसे ही महिला विद्यार्थियों की सुरक्षा को देखते हुए दिल्ली के सभी कॉलेजों में और दिल्ली के सभी केम्पसों में CCTV कैमरा लगवाने का काम करेंगे।

प्रेस वार्ता में मौजूद AISA की दिल्ली अध्यक्ष कवलप्रीत कौर ने कहा कि आज कैम्पस का माहौल बहुत ही भयावह हो गया है। केवल और केवल गुंडागर्दी की राजनीती रह गई है। विद्यार्थियों की जायज़ मांगो पर कोई बात करने को राज़ी नहीं होता। और अगर कोई विद्यार्थी अपने हित की बात करता है, या विद्यार्थियों के हक की बात करता है तो उसके साथ मारपीट की जाती है। न केवल विद्यार्थियों के साथ बल्कि अध्यापकों और कर्मचारियों के साथ भी मार पीट की घटनाएँ सामने आई हैं।

आज दिल्ली विश्वविध्यालय के छात्र एक विकल्प की तलाश में हैं, जो उनके मुद्दों को प्रशासन के सामने रख सके, कैम्पस में पढ़ाई का एक अच्छा माहौल दे सके, विद्यार्थियों की मूल भूत सुविधाएँ दिलाने में उनकी मदद करे! हमें उम्मीद है कि CYSS और AISA का ये गठबंधन दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्रो को वो विकल्प देगा जिसकी उन्हें तलाश है! और हमें पूरा यकीन है की हम मिलकर डीयू कैम्पस में एक सकारात्मक राजनीति की शुरुआत करेंगे।

प्रेस वार्ता में मौजूद CYSS के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष सुमित यादव ने मीडिया को बताया कि, CYSS और AISA मिलकर डीयू कैम्पस में एक सकारात्मक छात्र राजनीती की शुरुआत करने जा रहे हैं। ये गठबंधन मुख्य रूप से उन विद्यार्थियों के लिए होगा जो गुंडागर्दी की राजनीती से परे, कैम्पस में पढाई के वातावरण का ख्वाब देखते है! जो विद्यार्थी आपसी प्रेम-सौहार्द और भाईचारे का विचार रखते है।

आज दिल्ली विश्विद्यालय में विद्यार्थियों की संख्या बढती जा रही है, जिसके कारण बहुत से विद्यार्थी कॉलेज में दाखिला ही नहीं ले पाते! हम प्रशासन से मांग करेंगे कि दिल्ली में इवनिंग कॉलेजों की संख्या बढाई जाए ताकि सभी पढने वाले विद्यार्थियों को दाखिला मिल सके। ये गठबंधन मिलकर दिल्ली विश्वविध्यालय के छात्रों को पढाई का एक बेहतर माहौल देने के लिए सभी संभव चीजों पर मिल जुलकर काम करेगा।

 प्रेस वार्ता में CYSS कि और से प्रदेश अध्यक्ष सुमित यादव के साथ जनरल सेक्रेटरी हरिओम प्रभाकर और मिडीया इंचार्ज शिवानी सिंह तथा AISA की और से दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष कवलप्रीत कौर के साथ नेशनल इन्चार्ग रवि, दिल्ली प्रदेश सेक्रेटरी नीरज कुमार मौजूद रहे।

Have something to say? Post your comment
More National News
जिसने किया था 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा उसी ने छीन लिया 1 करोड़ 90 लाख लोगों का रोज़गार
कांग्रेस के कई नेता व कार्यकर्ता हुए आम आदमी पार्टी में शामिल, दिलीप पाण्डेय ने स्वागत किया
हरियाणा से आए बाल्मीकि समाज सभा के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में की केजरीवाल से मुलाकात
मोदी सरकार ने शहीदों को मिलने वाली एक करोड़ सम्मान राशि के प्रस्ताव को वर्षों तक रोका: अरविंद केजरीवाल
डोर-टू-डोर कि ताकत से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में इतिहास रचा था। अब हरियाणा की बारी है : नवीन जयहिन्द
7 तारीख तक हर हाल में देना होगा कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वालों को वेतन 
शहीदों के परिवारों को 1 करोड़ रुपये की सम्मान राशि देने की हमारी योजना रोककर मोदी जी ने सबसे गंदा काम किया : केजरीवाल
सेवा केन्द्रों की बढ़ी फीसें तुरंत वापिस ले कैप्टन सरकार -हरपाल चीमा
झूठी खबरों की फैक्ट्री है खट्टर सरकार : जयहिंद 
आप के पंच-सरपंच संभालेंगे लोकसभा चुनाव की कमान