Friday, January 18, 2019
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
जिसने किया था 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा उसी ने छीन लिया 1 करोड़ 90 लाख लोगों का रोज़गारकांग्रेस के कई नेता व कार्यकर्ता हुए आम आदमी पार्टी में शामिल, दिलीप पाण्डेय ने स्वागत कियाहरियाणा से आए बाल्मीकि समाज सभा के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में की केजरीवाल से मुलाकातमोदी सरकार ने शहीदों को मिलने वाली एक करोड़ सम्मान राशि के प्रस्ताव को वर्षों तक रोका: अरविंद केजरीवालडोर-टू-डोर कि ताकत से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में इतिहास रचा था। अब हरियाणा की बारी है : नवीन जयहिन्द 7 तारीख तक हर हाल में देना होगा कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वालों को वेतन शहीदों के परिवारों को 1 करोड़ रुपये की सम्मान राशि देने की हमारी योजना रोककर मोदी जी ने सबसे गंदा काम किया : केजरीवालसेवा केन्द्रों की बढ़ी फीसें तुरंत वापिस ले कैप्टन सरकार -हरपाल चीमा
National

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता के साथ मारपीट और आरोपियों के साथ पुलिस की मिलीभगत का मामला 

August 22, 2018 09:32 PM
दौसा में पीड़ित के अनशन के बाद पुलिस ने एक आरोपी को किया अरेस्ट
 
 
जयपुर। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता और समाजसेवी रामावतार जोरवाल के साथ मारपीट के बहुचर्चित मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। 25 मई को हुए इस घटनाक्रम में पुलिस की लापरवाही और मिलीभगत के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने मोर्चा खोल रखा था।
 
 
आम आदमी पार्टी के समन्वयक और प्रदेश प्रवक्ता देवेंद्र शास्त्री ने बताया कि लालसोट निवासी रामावतार जोरवाल पार्टी के लोकसभा प्रभारी और समाजसेवी है। 25 मई को कुछ लोगों ने जोरवाल पर रंजिशवश हमला कर गंभीर रुप से घायल कर दिया था। जानकारी के अनुसार पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी शिवशंकर उर्फ बल्या जोशी को गिरफ्तार किया है। जबकि एक अन्य आरोपी हंसराज अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। 

आम आदमी पार्टी के समन्वयक और प्रदेश प्रवक्ता देवेंद्र शास्त्री ने बताया कि लालसोट निवासी रामावतार जोरवाल पार्टी के लोकसभा प्रभारी और समाजसेवी है। 25 मई को कुछ लोगों ने जोरवाल पर रंजिशवश हमला कर गंभीर रुप से घायल कर दिया था।

आम आदमी पार्टी ने जोरवाल के हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लगातार आंदोलन किया, ज्ञापन दिए। पुलिस एवं स्थानीय प्रशासन की इस मामले में मिलीभगत को देखते हुए पीड़ित रामावतार जोरवाल 16 अगस्त से लालसोट के जवाहरगंज सर्किल पर अनशन पर बैठे थे। 
इस दबाव के चलते पुलिस ने ये कार्रवाई की। पार्टी का आरोप था कि आरोपियों को प्रभावशाली एक स्थानीय नेता का संरक्षण प्राप्त है। जिसके चलते पुलिस इस मामले में पुख्ता कार्रवाई नहीं कर रही। यहां तक आरोपियों के खिलाफ गवाही देने वाले पवन को भी डराया—धमकाया जा रहा था। लालसोट नगरपालिका अधिशासी अधिकारी की भूमिका को लेकर भी सवाल उठे। पवन आम आदमी पार्टी की युवा शक्ति के संयोजक है। 
 
आम आदमी पार्टी आरोपियों की गिरफ्तारी के मामले में पुलिस की देरी की कड़े शब्दों में निंदा करती है। पार्टी का कहना है कि इस मामले में दूसरे आरोपी की भी शीघ्र गिरफ्तारी होनी चाहिए।  साथ ही चेतावनी दी है कि अब कार्रवाई में पुलिस ने कोई लापरवाही बरती तो फिर से आंदोलन किया जाएगा।
 
 
 
 
 
 
Have something to say? Post your comment
More National News
जिसने किया था 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा उसी ने छीन लिया 1 करोड़ 90 लाख लोगों का रोज़गार
कांग्रेस के कई नेता व कार्यकर्ता हुए आम आदमी पार्टी में शामिल, दिलीप पाण्डेय ने स्वागत किया
हरियाणा से आए बाल्मीकि समाज सभा के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में की केजरीवाल से मुलाकात
मोदी सरकार ने शहीदों को मिलने वाली एक करोड़ सम्मान राशि के प्रस्ताव को वर्षों तक रोका: अरविंद केजरीवाल
डोर-टू-डोर कि ताकत से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में इतिहास रचा था। अब हरियाणा की बारी है : नवीन जयहिन्द
7 तारीख तक हर हाल में देना होगा कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वालों को वेतन 
शहीदों के परिवारों को 1 करोड़ रुपये की सम्मान राशि देने की हमारी योजना रोककर मोदी जी ने सबसे गंदा काम किया : केजरीवाल
सेवा केन्द्रों की बढ़ी फीसें तुरंत वापिस ले कैप्टन सरकार -हरपाल चीमा
झूठी खबरों की फैक्ट्री है खट्टर सरकार : जयहिंद 
आप के पंच-सरपंच संभालेंगे लोकसभा चुनाव की कमान