Wednesday, December 12, 2018
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
अरविन्द केजरीवाल ने अपनी तन्खावाह समेत दिए 5 लाख रूपये – जयहिन्दभारत को दुनिया का नंबर एक राष्ट्र बनाना मेरा लक्ष्य : केजरीवाल सिग्नेचर ब्रिज यानि दिल्ली के नए हस्ताक्षरआप में शामिल हुए राजोरिया, मुरैना से मिला था बसपा का टिकट28 को होने वाली केजरीवाल की जयपुर जनसभा को मिली मंजूरीकिसान विरोधी भाजपा सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब, राजस्थान में आप नेता एवं किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट और सैकड़ो आप कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तारअनुमति के बिना जारी है रामपाल जाट का अनशन बौखलाई वसुंधरा सरकार, नहीं दे रही है अनुमतिबेइन्साफी का शिकार हैं आशा, आंगनवाड़ी, मिड -डे-मील और ईजीएस वर्कर -प्रो. बलजिन्दर कौर
National

भगवंत मान ने कहा खैरा और संधू तोड़ना चाहते हैं पार्टी

August 07, 2018 07:44 PM
सुखपाल खैरा एवं कंवरजीत संधू

 आम आदमी पार्टी के सीनियर नेता और संसद मैंबर भगवंत मान ने आज पार्टी संकट पर चूप्पी तोड़ते पार्टी विधायक सुखपाल सिंह खहरा और कंवर संधू पर पार्टी तोडऩे की लगातार कोशिशों करने का गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि वह अपने पद और अहम की लड़ाई को दिल्ली और पंजाब की लड़ाई बना कर पेश कर रहे हैं। अपनी, निजी लालसाएं और स्वार्थों की पूर्ति के लिए एक तरफ पार्टी अनुशासन की धज्जियां उड़ा रहे हैं, दूसरी तरफ भोले भाले वलंटियरों और विधायकों के साथ पंजाब और पंजाबियत के भावुक पत्तों के साथ फरेब कर रहे हैं। 

मंगलवार को चण्डीगढ़ में यूथ विंग के आब्जर्वर और विधायक मीत हेयर, यूथ विंग के प्रधान मनजिन्दर सिंह सिद्धू और सूबा महा सचिव नरिन्दर सिंह शेरगिल के साथ प्रैस कान्फ्रेंस को संबोधन करते हुए भगवंत मान ने कहा कि पंजाब और पंजाबियत प्रति वफादारी मुझे खहरा या कंवर संधू के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है। 

मंगलवार को चण्डीगढ़ में यूथ विंग के आब्जर्वर और विधायक मीत हेयर, यूथ विंग के प्रधान मनजिन्दर सिंह सिद्धू और सूबा महा सचिव नरिन्दर सिंह शेरगिल के साथ प्रैस कान्फ्रेंस को संबोधन करते हुए भगवंत मान ने कहा कि पंजाब और पंजाबियत प्रति वफादारी मुझे खहरा या कंवर संधू के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है। भगवंत मान ने खहरा -संधू पर पलटवार करते कहा कि गुजरी 26 जुलाई को बतौर विरोधी पक्ष के नेता हूटर वाली जिप्सी और झंडी वाली कार छीन जाने के उपरांत ही खहरा और संधू की पंजाब और पंजाबियत प्रति जमीन कैसे जाग गई?
    भगवंत मान ने कहा कि खहरा में प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी की रूह आ गई है, जैसे मोदी बाकी मुद्दों से ध्यान भटका कर देश में राष्ट्रीयता के नाम पर हिंदु -मुस्लिम लड़ाई बना रहे हैं उसी तरह खहरा अपने पद की निजी लड़ाई को दिल्ली और पंजाब की लड़ाई बना कर देश विदेश बसते पंजाबियों की भावनाओं के साथ खेल रहे हैं। मान ने व्यंग्य कसा कि खहरा साहिब का पद ही बदला है परन्तु जीभ तो नहीं बदली कि अब वह रेत -बजरी, माफिया और नशों आदि के खि़लाफ नहीं बोल सकते। उन्होंने कहा कि जिस दिन से पद छीना है, खहरा की जुबान से पंजाब के सभी ज्वलंत मुद्दे गायब हो चुके हैं।
    मान ने पूछा कि कांग्रेस में होते खहरा ने कभी सोनीया गांधी से खुदमुख्तिारी मांगी थी? तब 25 साल तक पंजाब और पंजाबियत क्यों नहीं याद आई जबकि कांग्रेस पंजाब और पंजाबियत की सब से बड़ी दुश्मन साबित हुई है, जिस ने पंजाब के पानी लूटे, दरबार साहिब पर हमला करवाया और 1984 में योजनाबद्ध तरीके से सिक्खों की नसलकुशी की थी।
    मान ने कहा कि खहरा - संधू ने मेरी बीमारी का भी मजाक उड़ाया और मेरी चुप्प को कमज़ोरी समझा। मान ने खहरा को ललकारते हुए कहा कि बठिंडा की धरती पर हमें गांवों में न घुसने देने की धमकी देने वाले सुखपाल खहरा अब भुलत्थ में टकराने के लिए तैयार रहें। मान ने कहा कि खहरा पंजाब नहीं हैं, वह एक मौकाप्रस्त व्यक्ति विशेष हैं और बठिंडा कनवैन्शन में न जाने वालों को पंजाब का गद्दार कैसे कह सकते हैं? इस का मतलब पौने तीन करोड़ की आबादी वाले पंजाब में जो भी बठिंडे नहीं गया, वह पंजाब का गद्दार बन गया। मान ने पार्टी के खहरा के साथ गए विधायकों को भोले -भाले बताते हुए सुचेत किया कि खहरा और संधूचुस्त -चालाक और तिकड़मबाज़ हैं और उन (विधायकों) का अपने निजी स्वार्थों के लिए'मंडी'में मूल्य लगाने लगे हुए हैं। मान ने कहा कि वह वलंटियरों और विधायकों के पास जा कर उनको खहरा -संधू के मौकाप्रस्त के जाल में से निकालेंगे। मान ने स्पष्ट किया कि उन्होंने अध्यक्षता का पद वापस नहीं लिया और वह पार्टी अनुशासन में रह पार्टी की हर छोटी बड़ी ड्यूटी को पूरी शिद्दत के साथ निभाएंागे और पंजाब को 2019 की मतदान के लिए उसी जोश के साथ खडा करेंगे।
    भगवंत मान ने खहरा -संधू की तरफ से बठिंडा में पंजाब के पार्टी ढांचे को भंग करने के ऐलान की खिल्ली उड़ाते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी वलंटियरों, केजरीवाल टीम और उन्होंने खुद के खून -पसीने के साथ खड़ी की हुई राष्ट्रीय पार्टी है, खहरा -संधू के पास ऐसा करने की कोई अथॉरिटी नहीं। मान ने चेतावनी दी कि यदि खहरा -संधू ने पार्टी के अनुशासन और पार्टी को तोडऩे की ओर ठेस पहुंचाई तो दोनों नेता आगे वाली कानूनी कार्यवाही के लिए तैयार रहें।
    मान ने यह भी कहा कि यदि खहरा और संधू को खुदमुख्तिारी का इतना ही चाव है तो वह'आप'के झाड़ू चुनाव निशान के साथ जीती सीट से इस्तीफ़े देें और अपनी नई पार्टी बना कर दोबारा चुनाव लडऩे की हिम्मत दिखाऐं।
    भगवंत मान ने खहरा पर परिवारवाद का आरोप लगाते हुए कहा कि वलंटियरों के नाम पर बुलाई कनवैन्शन में वलंटियरों की जगह खहरा ने अपने बेटे के पास से ही संबोधन करवाया और पुत्र की पुलीटिकल लाचिंग की। भगवंत मान ने कंवर संधू को घेरते कहा कि संधू ने खरड़ से मैं ही लड़ूंगा, का ऐलान कर कितने वलंटियरों का हक मारा था। मान ने कहा कि वह किसी भी कीमत पर ऐसे मौकाप्रस्त के हाथ पार्टी नहीं जाने देंगे।     इस मौके नौजवान विधायक मीत हेयर ने जहां खहरा की मौकाप्रस्त सोच के कई खुलासे किए वहीं यह भी बताया कि एल.ओ.पी बदले जाने से पहले हुई चर्चाओं के दौरान कंवर संधू ने केंद्रीय लीडरशिप को यह तजवीज़ दी थी कि मुझे (संधू) को विरोधी पक्ष का नेता बना दो और वह सुखपाल सिंह खहरा को मैं खुद संभाल लेंगे।
  

Have something to say? Post your comment
More National News
अरविन्द केजरीवाल ने अपनी तन्खावाह समेत दिए 5 लाख रूपये – जयहिन्द
भारत को दुनिया का नंबर एक राष्ट्र बनाना मेरा लक्ष्य : केजरीवाल 
भाजपा सांसद का सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन समारोह में हंगामा
सिग्नेचर ब्रिज यानि दिल्ली के नए हस्ताक्षर
आप में शामिल हुए राजोरिया, मुरैना से मिला था बसपा का टिकट
महिलाओं ने लोकसभा चुनावों में 'आप' को वोट देने का किया आह्वान
नगर-निगम के स्कूलों की बुरी हालत पर भाजपा को घेरा
28 को होने वाली केजरीवाल की जयपुर जनसभा को मिली मंजूरी
किसान विरोधी भाजपा सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब, राजस्थान में आप नेता एवं किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट और सैकड़ो आप कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार
अनुमति के बिना जारी है रामपाल जाट का अनशन बौखलाई वसुंधरा सरकार, नहीं दे रही है अनुमति