Sunday, November 18, 2018
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
सिग्नेचर ब्रिज यानि दिल्ली के नए हस्ताक्षरआप में शामिल हुए राजोरिया, मुरैना से मिला था बसपा का टिकट28 को होने वाली केजरीवाल की जयपुर जनसभा को मिली मंजूरीकिसान विरोधी भाजपा सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब, राजस्थान में आप नेता एवं किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट और सैकड़ो आप कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तारअनुमति के बिना जारी है रामपाल जाट का अनशन बौखलाई वसुंधरा सरकार, नहीं दे रही है अनुमतिबेइन्साफी का शिकार हैं आशा, आंगनवाड़ी, मिड -डे-मील और ईजीएस वर्कर -प्रो. बलजिन्दर कौरकर्मचारियों को नौकरी से निकालना खट्टर सरकार की तानाशाही : ओमनारायणराजस्थान की राजनीति में तूफान, प्रदेश के बड़े किसान नेता भाजपा छोड़ ’आप’ में शामिल
National

राजस्थान : भ्रष्टाचार के गढ़ पर आप का प्रदर्शन, पीड़ित भी आए समर्थन में

June 29, 2018 07:43 AM

जयपुर। जयपुर नगर निगम मुख्यालय पर आज नजारा कुछ अलग ही था। आम आदमी पार्टी की ओर किए गए प्रदर्शन में ऐसे आम आदमी भी जुड़ गए जो नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार से पीड़ित थे। इस दौरान आप कार्यकर्ताओं के साथ पुलिसकर्मियों ने जमकर धक्का—मुक्की भी की।

सफाई शुल्क की वसूली बिजली के बिलों में करने के प्रस्ताव के खिलाफ आम आदमी पार्टी की ओर से गुरूवार को लाल कोठी स्थित जयपुर नगर निगम मुख्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान निगम की हठधर्मिता भी सामने आई। निगम प्रशासन ने कार्यकर्ताओं को मिलने का समय नहीं दिया। करीब दो घंटे की जद्दोजहद के बाद निगम प्रशासन ने ज्ञापन लिया। इस दौरान दो—तीन बार पुलिसकर्मियों और आप कार्यकर्ताओं के बीच धक्कामुक्की भी हुई।  

पार्टी के प्रदेश समन्वयक और प्रदेश प्रवक्ता देवेंद्र शास्त्री, लीगल सेल के प्रभारी पी.सी.भंडारी, स्टेट इवेंट कमेटी के चेयरमैन जवाहर शर्मा, वरिष्ठ नेता कमलेश सक्सेना और गोपाल शर्मा, स्टीवि फ्रांसिस, झोटवाड़ा से जुगल किशोर शर्मा, विकास शर्मा, झोटवाड़ा विदानसभ उपाध्यक्ष सुशीला शर्मा और मंजू गुप्ता, राहुल सक्सेना, कमलेश सेन, देवेंद्र देव, प्रतीक भोमिया, भरत खत्री, अब्दुल सलाम, प्रदीप चौधरी और चंदन लालवानी आदि  पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता आज दोपहर नगर निगम मुख्यालय पहुंचे। ये लोग वहां अधिकारी से मिलकर ज्ञापन देना चाहते थे। 

इससे पहले प्रदर्शन के दौरान आज आधा दर्जन से अधिक लोग ऐसे भी आंदोलन से जुड़े जो निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार से खासे परेशान थे। इनमें एक करीब 70 साल की वृद्धा भी थी। इस वृद्धा ने आम आदमी पार्टी की कैप लगाकर नारेबाजी की। वृद्धा का आरोप है कि नगर निगम वो अपने काम के लिए कई दिन से चक्कर लगा रही है। हर बार उसे किसी न किसी बहाने लौटा दिया जाता है। इसी प्रकार चाय की थड़ी लगाने वाले एक दम्पत्ती ने निगमकर्मियों की चौथवसूली की पोल खोली।

ज्ञापन लेने से बचते रहे निगम अधिकारी

पार्टी के प्रदेश समन्वयक और प्रदेश प्रवक्ता देवेंद्र शास्त्री, लीगल सेल के प्रभारी पी.सी.भंडारी, स्टेट इवेंट कमेटी के चेयरमैन जवाहर शर्मा, वरिष्ठ नेता कमलेश सक्सेना और गोपाल शर्मा, स्टीवि फ्रांसिस, झोटवाड़ा से जुगल किशोर शर्मा, विकास शर्मा, झोटवाड़ा विदानसभ उपाध्यक्ष सुशीला शर्मा और मंजू गुप्ता, राहुल सक्सेना, कमलेश सेन, देवेंद्र देव, प्रतीक भोमिया, भरत खत्री, अब्दुल सलाम, प्रदीप चौधरी और चंदन लालवानी आदि  पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता आज दोपहर नगर निगम मुख्यालय पहुंचे। ये लोग वहां अधिकारी से मिलकर ज्ञापन देना चाहते थे। उधर, निगम में करीब दो घंटे तक असमजस की स्थिति रही कि इनका ज्ञापन कौन लें। बाद में एक अधिकारी ने ये ज्ञापन लिया। आप ने आरोप लगाया कि जनविरोधी भाजपा सरकार किसी न किसी बहाने आम आदमी की जेब काटने के प्रयास कर रही है। विभिन्न तरह के सेस लगाकर कमाई में जुटी हुई है। सुविधाओं के नाम पर कुछ भी उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। जनता परेशान है और उसकी कहीं भी सुनवाई नहीं हो रही है।  

उन्होंने कहा कि घर—घर कचरा संग्रहण की जिस योजना के नाम पर सरकार शुल्क वसूलने की बात कर रही है। जबकि हकीकत में ये योजना पूरी तरफ विफल साबित हुई है। जयपुर में जिस कंपनी के पास ये ठेका है वह आए दिन काम बंद कर देती है। उसके पास कचरा उठाने के पर्याप्त साधन तक नहीं है। कई इलाकों में तो ये तीन—चार दिन में कचरा लेने ये वाहन पहुंच रहे है। घरों में कचरा सड़ता रहता है या फिर सड़कों पर फैला रहता है। उन्होंने आरोप लगाया कि यह योजना केवल कुछ वीवीआईपी इलाकों तक ही सीमित है। जिसे दिखाकर स्वच्छता की रैंकिंग में अव्वल आने का दावा कर वाहवाही लूट रही है। देखा जाए तो सरकार इन वीवीआईपी इलाकों में सफाई का खर्च आम जनता से वसूलने का प्रयास कर रही है जो सरासर गलत है।

इस शुल्क के विरोध में आम आदमी पार्टी ने आज निगम मुख्यालय पर प्रदर्शन किया है। इसके बाद भी सरकार नहीं चेती तो पार्टी आंदोलन तेज करेगी।

गौरतलब है कि सरकार घर—घर कचरा संग्रहण शुल्क की वसूली की योजना बना रही है। ये शुल्क बिजली के बिल में जोड़कर वसूला जाएगा। सेस के नाम पर ये शुल्क 20 से 35 पैसे प्रति यूनिट प्रस्तावित है। ऐसे में जिन उपभोक्ताओं के घरों में बिजली की खपत 250 यूनिट है उन्हें हर महीने 50 रुपए से लेकर 88 रुपए तक शुल्क चुकाना होगा।

संलग्न : ज्ञापन की प्रति

 

                                                                                             ज्ञापन

 महापौर/आयुक्त

नगर निगम

जयपुर। 

 

आम आदमी पार्टी प्रस्तावित घरघर कचरा संग्रहण शुल्क का कड़ा विरोध करती है। आम आदमी पहले से ही विभिन्न तरह के टैक्स और सेस के जकड़ा हुआ है। ऐसे में उससे सेस के नाम पर ये नया टैक्स वसूलना उचित नहीं है। 

 

शहर की सफाई व्यवस्था जयपुर नगर निगम का मूल दायित्व है और स्वच्छ जीवन प्राप्त करना आम आदमी का अधिकार। ऐसे में घरघर कचरा संग्रहण शुल्क वसूलना मुनासिब नहीं है। यह आम आदमी के अधिकार का उल्लंघन है।  

घरघर कचरा संग्रहण शुल्क बिजली की खपत के आधार पर वसूलने की योजना हैजो अदूर​दर्शिता का परिचायक है। बिजली की खपत से घर में पैदा होने वाले कचरे का कोई संबंध नहीं है। बिजली की खपत इस टैक्स का कोई आधार नहीं बनता। इससे आम जनता पर अनावश्यक टैक्स का बोझ डाला जा रहा है। 

 

वर्तमान में जिस कंपनी के पास जयपुर शहर की सफाई व्यवस्था का ठेका हैवह ठीक ढंग से काम नहीं कर रही है। नगर निगम सभी वार्डों में कचरा संग्रहण का दावा करता हैलेकिन शहर के अधिकांश इलाकों में घर संग्रहण ही नहीं हो रहा है। घरों का कचरा सड़कों पर डाला जा रहा है। 

 

कचरा संग्रहण करने वाली कंपनी के पास साधन भी अपर्याप्त है। कुछ इलाकों में तीनचार दिन में कचरा लेने कंपनी का वाहन आता है और वह भी खानापूर्ति करके लौट जाता है। इसके बावजूद कंपनी को पूरा भुगतान किया जा रहा है और उसकी वसूली जनता से करना गलत है। 

 

आम आदमी पार्टी प्रस्तावित घरघर कचरा संग्रहण शुल्क का विरोध करती है। साथ ही चेतावनी देती है कि ये शुल्क लागू किया तो पार्टी शहर की जनता को जगाने के लिए आगे के कदम उठाएगी।

 

आम आदमी पार्टी,       

राजस्थान

श्री. देवेन्द्र शास्त्री, पूनम चंद भंडारी, जवाहर शर्मा, कमलेश सक्सेना, गोपाल शर्मा. 

4 Attachments

 

 

 

Have something to say? Post your comment
More National News
भाजपा सांसद का सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन समारोह में हंगामा
सिग्नेचर ब्रिज यानि दिल्ली के नए हस्ताक्षर
आप में शामिल हुए राजोरिया, मुरैना से मिला था बसपा का टिकट
महिलाओं ने लोकसभा चुनावों में 'आप' को वोट देने का किया आह्वान
नगर-निगम के स्कूलों की बुरी हालत पर भाजपा को घेरा
28 को होने वाली केजरीवाल की जयपुर जनसभा को मिली मंजूरी
किसान विरोधी भाजपा सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब, राजस्थान में आप नेता एवं किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट और सैकड़ो आप कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार
अनुमति के बिना जारी है रामपाल जाट का अनशन बौखलाई वसुंधरा सरकार, नहीं दे रही है अनुमति
बेइन्साफी का शिकार हैं आशा, आंगनवाड़ी, मिड -डे-मील और ईजीएस वर्कर -प्रो. बलजिन्दर कौर
कर्मचारियों को नौकरी से निकालना खट्टर सरकार की तानाशाही : ओमनारायण