Saturday, December 15, 2018
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
अरविन्द केजरीवाल ने अपनी तन्खावाह समेत दिए 5 लाख रूपये – जयहिन्दभारत को दुनिया का नंबर एक राष्ट्र बनाना मेरा लक्ष्य : केजरीवाल सिग्नेचर ब्रिज यानि दिल्ली के नए हस्ताक्षरआप में शामिल हुए राजोरिया, मुरैना से मिला था बसपा का टिकट28 को होने वाली केजरीवाल की जयपुर जनसभा को मिली मंजूरीकिसान विरोधी भाजपा सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब, राजस्थान में आप नेता एवं किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट और सैकड़ो आप कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तारअनुमति के बिना जारी है रामपाल जाट का अनशन बौखलाई वसुंधरा सरकार, नहीं दे रही है अनुमतिबेइन्साफी का शिकार हैं आशा, आंगनवाड़ी, मिड -डे-मील और ईजीएस वर्कर -प्रो. बलजिन्दर कौर
National

पिछले 4 साल में मोदी सरकार ने देश को प्रगति के सबसे निचले पायदान पर ला कर खड़ा कर दिया है: AAP

May 26, 2018 11:27 PM

भले ही मोदी जी और भाजपा के नेता गण फिटनेस के नाम पर इस देश को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन सही माइने में देश फिटनेस से नहीं बल्कि इल्नेस से गुज़र रहा है: संजय सिंह

शनिवार को पार्टी कार्यालय में मोदी सरकार के 4 साल के कार्यकाल पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि अगर भाजपा सरकार के 4 सालों के कार्यकाल को विकास और उन्नति की दृष्टि से देखा जाए तो इन 4 सालों में देश कंगाल हुआ है, "मोदी जी के 4 साल और देश हुआ कंगाल"। 

उन्होंने कहा कि जो कुछ भी फैसले इन 4 सालों में मोदी सरकार ने किए, वो सभी जन विरोधी फैसले थे। चुनाव से पहले भाजपा सरकार ने जितने भी वादे किये थे उनमें से एक भी वादा पिछले 4 सालों के कार्यकाल में ये सरकार पूरा नहीं कर पाई। मोदी जी ने कहा था कि हर साल 2 करोड़ रोजगार देंगे, आज देश का युवा रोजगार ढूंढ रहा है। मोदी जी ने कहा था कि किसानों को फ़सल का डेढ़ गुना दाम देंगे, डेढ़ गुना दाम तो छोड़ो आज किसान जीने को तरस रहा है और आत्महत्या करने को मजबूर है। अगर किसान अपनी फ़सल का सही दाम मांगते हैं तो मोदी सरकार बदले में उन्हें गोली देती है।

महिला सुरक्षा के नाम पर भी मोदी जी ने इस देश की महिलाओं के साथ एक भद्दा मज़ाक किया है। मोदी सरकार ने अपने बजट में 15 पैसे प्रति महिला, प्रति दिन का प्रावधान रखा है। पिछले 4 साल में अडानी, अम्बानी जैसे चंद पूंजीपतियों को छोड़कर देश के हर तबके को मोदी जी ने सिर्फ़ हताश और निराश किया है। नीरव मोदी इस देश का 21000 करोड़ रूपए लेकर विदेश भाग गया, विजय माल्या देश का 9000 करोड़ रूपए लेकर विदेश भाग गया और मोदी जी की सरकार असहाय हाथ बांधे खड़ी रही। पिछले 4 साल में मोदी सरकार का रवैय्या कुछ इस तरह से रहा है कि 9000 रुपए का क़र्ज़ लोगे तो कॉलर पकड़ कर जेल में डाल देंगे, 9000 करोड़ का क़र्ज़ लोगे तो जहाज में बैठाकर विदेश छोड़कर आएंगे और अगर 21000 करोड़ का क़र्ज़ लोगे तो मोदी जी के साथ में फोटो खिंचवाने का भी मौका दिया जाएगा।

विपक्ष में रहते हुए जिन जनविरोधी नीतियों का भाजपा ने विरोध किया, सत्ता में आने के बाद वही सारी नीतियाँ भाजपा के लिए जनहित की नीतियाँ हो गई। विपक्ष में रहते हुए जीएसटी का विरोध किया, एफडीआई का विरोध किया, आधार का विरोध किया, और सत्ता में आते ही व्यापारियों को जीएसटी के बोझ तले दबा दिया, रिटेल में 100% एफडीआई लागू कर दी और सभी चीजों को आधार से ज़बरदस्ती जोड़ने की कवायद शुरू कर दी।

आज देश एक बड़ी मुसीबत से गुज़र रहा है वो है पेट्रोल और डीज़ल के बढ़ते हुए दाम। भाजपा सरकार कहती है कि क्योंकि तेल की कीमतें अंतर्राष्ट्रीय कीमतों से जुडी हुई हैं तो जब जब अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में तेल के दाम घटते बढ़ते है तो देश में भी तेल के दाम घटते बढ़ते हैं, ये बात बिल्कुल झूठ और निराधार है। जब तक कर्नाटक में चुनाव रहे तब तक भाजपा सरकार ने तेल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की, लेकिन जैसे ही कर्नाटक का चुनाव ख़तम हुआ, पिछले 13 दिन से लगातार पेट्रोल और डीज़ल के दाम बढ़ रहे हैं।

मौजूदा आंकड़ों का हवाला देते हुए संजय सिंह ने कहा कि 2014 में जो एक्साइज ड्यूटी पेट्रोल पर 9 रूपए और डीज़ल पर 3.46 रूपए थी वो बढ़कर 19.48 रूपए और 15.33 रूपए हो गई है। मोदी सरकार ने पेट्रोल पर लगभग 211% और डीज़ल पर लगभग 450% एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी है। पडोसी देशों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि जहाँ आज हमारे पडोसी देशों में पेट्रोल की कीमत 66, 67, 68 और 69 रूपए है वहीं तुलनात्मक रूप से भारत में पेट्रोल की कीमत 85 रूपए प्रति लीटर है।

प्रेस वार्ता में मौजूद पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता दिलीप पाण्डेय ने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि 'भाजपा के इन निकम्मेपन के 4 सालों पर एक पूरी किताब लिखी जा सकती है। पिछले 4 सालों में भाजपा की विफलताओं में जो उपलब्धियां हैं उसपर एक पूरी पुस्तक की रचना हो सकती है। पिछले 4 सालों में भाजपा के काम-काज का जो निचोड़ है वो अखबारों में और मीडिया में तो सफल है परन्तु धरातल पर भाजपा फेल हुई है।

उन्होंने कहा कि 'रोज़गार को आसमान की उचाईयों पर ले जाने का दम भरने वाले मोदी जी ने पिछले 15 साल के मुकाबले में रोजगार की दर को न्यूनतम स्तर पर लाकर रख दिया है। 

उपहास पूर्वक मोदी जी की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा कि स्किल इंडिया नामक एक प्रोग्राम जो कि पिछली सरकार की ही एक योजना थी, उसके बाद भी इस देश में पढ़े-लिखे लोगों की संख्या में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार का एजेंडा है कि सेल्फी विद डॉटर का नारा दो फिर उसी डॉटर का बलात्कार करो और उसकी हत्या कर दो, स्वच्छ भारत के नारे के साथ सेल्फी विद झाड़ू करो और सफ़ाई के नाम पर खुद के प्रचार पर जनता की गाढ़ी कमाई के 300 करोड़ रूपए उड़ा दो। उन्होंने कहा कि सफाई तो हुई लेकिन कूड़े की नहीं बल्कि इस देश की जनता के खून-पसीने की कमाई की, जो की मोदी जी ने अपने मित्रों के ज़रिए देश के बाहर स्विस बैंक में रखवा दी है।

देश में बढ़ते हुए पेट्रोल और डीज़ल के दामों पर कुछ महत्वपूर्ण आंकड़े प्रस्तुत करते हुए दिलीप पाण्डेय ने कहा कि जहाँ 2014-15 में मोदी सरकार को पेट्रोल की बिक्री से 3,32,620 करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ, वहीं 2016-17 में ये राजस्व बढ़कर 5,24,304 करोड़ हो गया और 2017-18 की पहली छमाही में ही भाजपा सरकार का राजस्व 3,81,803 करोड़ रूपए पहुँच चुका है। अनुमानित है कि साल के अंत तक ये राजस्व बढ़कर लगभग 8 लाख करोड़ तक पहुँच जाएगा।

उन्होंने कहा कि ये 8 लाख करोड़ रूपए जनता के खून पसीने की कमाई है जो कि ज़बरदस्ती मोदी जी इस देश की जनता से वसूल करके अपना खज़ाना भर रहे हैं। इसी प्रकार से शराब की बिक्री से भी मोदी जी अंधाधुंध कमाई करके अपना खज़ाना भर रहे हैं। अपनी बात को सत्यापित करते हुए उन्होंने कहा कि क्योंकि पेट्रोल और शराब दोनों ही जीएसटी के दायरे से बाहर हैं तो ये बात साबित हो जाती है कि मोदी जी देश की जनता की जेब काटकर अपना खज़ाना भरने का काम कर रहे हैं।    

उन्होंने कहा कि इन सब आंकड़ो को देखते हुए मन में एक शक पैदा होता है कि एक्साइज़ ड्यूटी में कई सौ गुना का इज़ाफा करके कहीं मोदी जी किसी एक व्यक्ति को फ़ायदा पहुँचाने का काम तो नहीं कर रहे हैं? या जनता की जेब काट कर 2019 के चुनाव के लिए पैसों का इंतजाम तो नहीं कर रहे हैं?

दिलीप पाण्डेय ने कहा कि शक इसलिए भी पैदा होता है की जो-जो वादे मोदी जी ने किए थे वो सभी धरातल पर फ़ेल साबित हुए। जहाँ मोदी जी ने एक के बदले दस सर पाकिस्तान से लाने की बात कही थी वहां से मोदी जी चीनी मंगवा रहे हैं। मोदी जी ने कहा कि किसान बचाओ, अल्पसंख्यक बचाओ, दलित बचाओ और ये तीनों ही तबके भाजपा शासित राज्यों में मारे जा रहे हैं, आपने कहा कि बेटी बचाओ और आपकी पार्टी के विधायक बेटियों का बलात्कार कर रहे हैं और उनकी हत्याएं करा रहे हैं, और मोदी जी मूक-दर्शक बने, हाथ में हाथ बांधे खड़े देख रहे हैं।

आज मोदी जी नारा दे रहे हैं कि देश बचाओ तो पूरा देश सक्ते में आ गया है, पूरा देश डरा हुआ है। पिछले 4 साल के मोदी राज में देश उतना डर गया है जितना पिछले 60 सालों के कॉंग्रेस के राज में नहीं डरा था। भ्रष्टाचार की वही बस जिसकी चाबी कभी कॉंग्रेस के हाथ में थी, पिछले 4 सालों में भाजपा ने उसे डबल इंजन लगाकर दोगुनी रफ़्तार से दौड़ाया है।

 

Have something to say? Post your comment
More National News
अरविन्द केजरीवाल ने अपनी तन्खावाह समेत दिए 5 लाख रूपये – जयहिन्द
भारत को दुनिया का नंबर एक राष्ट्र बनाना मेरा लक्ष्य : केजरीवाल 
भाजपा सांसद का सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन समारोह में हंगामा
सिग्नेचर ब्रिज यानि दिल्ली के नए हस्ताक्षर
आप में शामिल हुए राजोरिया, मुरैना से मिला था बसपा का टिकट
महिलाओं ने लोकसभा चुनावों में 'आप' को वोट देने का किया आह्वान
नगर-निगम के स्कूलों की बुरी हालत पर भाजपा को घेरा
28 को होने वाली केजरीवाल की जयपुर जनसभा को मिली मंजूरी
किसान विरोधी भाजपा सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब, राजस्थान में आप नेता एवं किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट और सैकड़ो आप कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार
अनुमति के बिना जारी है रामपाल जाट का अनशन बौखलाई वसुंधरा सरकार, नहीं दे रही है अनुमति