Thursday, April 26, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
भोपाल और इंदौर के आसाराम से जुड़े चौराहों के नाम तुरंत बदले जाएं: आलोक अग्रवालआम आदमी पार्टी की ईमानदार और स्वच्छ राजनीति खत्म करेगी लूट और भ्रष्टाचार की व्यवस्था : आलोक अग्रवालपार्षद, विधायक, सांसद, मुख्यमंत्री काम नहीं करते तो उन्हें हटाना है जरूरी: आलोक अग्रवाल2018 विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के संगठन व कार्यकर्ताओं ने जमीनी स्तर पर कमर कसनी शुरू की-डॉ संकेत ठाकुर,प्रदेश संयोजकHer hunger strike has reached day 7 today yet the government is apathetic and has failed to listen to her बिजली विभाग के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मंजूरीबिजली की ढ़ीली तारों के चलते जल रही गेहूं का सौ प्रतिशत मुआवजा दे सरकार -आपसत्ता में बैठे नेताओं को सड़क पर लाने का वक्त आ गया है : संजय सिंह
National

एस.सी./एस.टी. एक्ट संबंधी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ रिव्यू पटीशन डाले केंद्र-आप

April 02, 2018 09:08 PM
डा. बलवीर सिंह, सह-प्रधान

-असल मुद्दों से भटकाने के लिए धर्मों-जातियों के नाम पर देश को बांट रही है मोदी सरकार- डा. बलवीर सिंह

 आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने मांग की है कि अनुसूचित जातियों व अनुसूचित कबीलों (एस.सी-एस.टी) एक्ट संबंधी सप्रीम कोर्ट के ताजा फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार रिव्यू पटीशन दायर करे व भविष्य में यकीनी बनाए कि भारतीय संविधान के पितामा बाबा साहिब डा. बी.आर. अंबेडकर द्वारा लिखित संविधान मसौदे की असल भावना के साथ बिना वजह छेडछाड़ न की जाए। जिससे दलितों, पिछड़े कबीले, सामाजिक व आर्थिक तौर पर दबे-कुचले गरीबों व अल्पसंख्यक में असुरक्षित का डर पैदा होता हो। 
    आप द्वारा जारी प्रैस ब्यान में पार्टी के प्रदेश सह-प्रधान डा. बलवीर सिंह ने कहा कि सिर्फ और सिर्फ वोट को हड़पने के लिए देश के आपसी भाईचारे व विभिन्नताओं से भरपूर अखंडता को सोची समझी साजिश के तहत दांव पर लगाया जा रहा है।

पार्टी के प्रदेश सह-प्रधान डा. बलवीर सिंह ने कहा कि सिर्फ और सिर्फ वोट को हड़पने के लिए देश के आपसी भाईचारे व विभिन्नताओं से भरपूर अखंडता को सोची समझी साजिश के तहत दांव पर लगाया जा रहा है। मुठ्ठी भर अमीर ओर अमीर होते जा रहे हैं और दलितों-गरीबों समेत बहु संख्यक आम आदमी दिन प्रती दिन ओर गरीब और कर्जदार होता जा रहा है। 

मुठ्ठी भर अमीर ओर अमीर होते जा रहे हैं और दलितों-गरीबों समेत बहु संख्यक आम आदमी दिन प्रती दिन ओर गरीब और कर्जदार होता जा रहा है। भडक़ाउ नारों से देश की जनता को धर्म व जात-पात के नाम पर बांटने व आपस में लड़ाने की एक साजिश हो रही है तांकि देश की जनता गरीबी, असमानता, भुखमरी, महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, व्यापारक उद्योगिक व किसानी-मजदूरी की मंदहाली जैसे ज्वलंत मामलों को भूल कर क्षेत्रवाद, धर्म व जात-पात के नाम पर आपस में लड़ती-झगड़ती रही है। 
इस की ताजा मिसाल आज की डीजल व पैट्रोल की कीमतें हैं। पैट्रोल चार वर्षों में सबसे उच्च स्तर पर है जबकि डीजल 70 वर्षों के इतिहास में सबसे महंगे मूल्य पर है परंतू देश बंद एस.सी-एस.टी मुद्दे पर हो रहा है।    
    डा. बलवीर सिंह ने कहा कि मोदी सरकार की लोक विरोधी नीतियों व नीयत के कारन हालात इस हद तक आ गए हैं कि सुप्रीम कोर्ट के एक सीनियर जज द्वारा चीफ जसटिस को चिट्ठी लिख कर अपील करनी पड़ी है कि कानूनी व संविधानिक मामलों में बढ़ रही राजनीतिक दखल-अंदाजी पर नकेल कसी जाए। 
    डा. बलवीर सिंह ने कहा कि पंजाब समेत पूरे देश को इस बात से सुचेत होना होगा कि अगर किसी कानून या नियम का गलत इस्तेमाल होता है तो बिमारी की असली जड़ भ्रष्ट सिस्टम है, जब तक भ्रष्टाचार व गैर जिम्मेवाराना सोच से भरे सिस्टम को बदल कर सीधा नहीं किया जाता तब तक संविधानिक संशोधन भी कानून का गलत इस्तेमाल या न इस्तेमाल वाले रवैये को जवाबदेही नहीं बना सकेंगे। 

Have something to say? Post your comment
More National News
भोपाल और इंदौर के आसाराम से जुड़े चौराहों के नाम तुरंत बदले जाएं: आलोक अग्रवाल
आम आदमी पार्टी की ईमानदार और स्वच्छ राजनीति खत्म करेगी लूट और भ्रष्टाचार की व्यवस्था : आलोक अग्रवाल
पार्षद, विधायक, सांसद, मुख्यमंत्री काम नहीं करते तो उन्हें हटाना है जरूरी: आलोक अग्रवाल
2018 विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के संगठन व कार्यकर्ताओं ने जमीनी स्तर पर कमर कसनी शुरू की-डॉ संकेत ठाकुर,प्रदेश संयोजक
Her hunger strike has reached day 7 today yet the government is apathetic and has failed to listen to her
 बिजली विभाग के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मंजूरी
बिजली की ढ़ीली तारों के चलते जल रही गेहूं का सौ प्रतिशत मुआवजा दे सरकार -आप
सत्ता में बैठे नेताओं को सड़क पर लाने का वक्त आ गया है : संजय सिंह
आम आदमी पार्टी की किसान बचाओ, बदलाओ लाओ यात्रा शुरू
नक्सल प्रभावित बस्तर में सुरक्षा मांगने गई आदिवासी नाबालिग लड़की के साथ पुलिस अधिकारी ने किया बलात्कार