Saturday, December 15, 2018
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
अरविन्द केजरीवाल ने अपनी तन्खावाह समेत दिए 5 लाख रूपये – जयहिन्दभारत को दुनिया का नंबर एक राष्ट्र बनाना मेरा लक्ष्य : केजरीवाल सिग्नेचर ब्रिज यानि दिल्ली के नए हस्ताक्षरआप में शामिल हुए राजोरिया, मुरैना से मिला था बसपा का टिकट28 को होने वाली केजरीवाल की जयपुर जनसभा को मिली मंजूरीकिसान विरोधी भाजपा सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब, राजस्थान में आप नेता एवं किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट और सैकड़ो आप कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तारअनुमति के बिना जारी है रामपाल जाट का अनशन बौखलाई वसुंधरा सरकार, नहीं दे रही है अनुमतिबेइन्साफी का शिकार हैं आशा, आंगनवाड़ी, मिड -डे-मील और ईजीएस वर्कर -प्रो. बलजिन्दर कौर
National

निजी बस ऑपरेटरों के लिए 'शार्क मछली' बनी बादलों की ट्रांसपोर्ट -आप

March 05, 2018 08:19 PM

भगवंत मान, खहरा, माणूंके और अमन अरोड़ा ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह को घेरा 

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने पूर्व मुख्य मंत्री प्रकाश सिंह बादल परिवार की ओर से चलाए जा रहे ट्रांसपोर्ट कारोबार को राज्य के सरकारी और निजी बस आपरेटरों के लिए 'शार्क मछली' बताते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार को घेरा है।
'आप' द्वारा जारी संयुक्त प्रैस बयान में पार्टी के प्रधान और संसद मैंबर भगवंत मान, विरोधी पक्ष के नेता सुखपाल सिंह खहरा, उप नेता बीबी सरबजीत कौर माणूंके और सूबा सह प्रधान और विधायक अमन अरोड़ा ने कहा कि 'शार्क मछली' का रूप धारण कर चुकी बादल परिवार की ट्रांसपोर्ट कंपनियों की ओर से अकाली -भाजपा सरकार के समय की गई मनमानीयां समझ में आती है, परंतु कैप्टन अमरिन्दर सिंह की कांग्रेस सरकार दौरान भी बादल परिवार का ट्रांसपोर्ट कारोबार उसी 'स्टाइल और स्पीड' के साथ कैसे बढ़ता जा रहा है? इसने कैप्टन सरकार पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं, जिनका जवाब न केवल मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह बल्कि कांग्रेस के हर छोटे -बड़े नेता को लोगों की कचहरी में देना पड़ेगा, क्योंकि सूबे में बस सेवा में किसी एक परिवार का एकाधिकार लोगों का आर्थिक शोषण भी करता है।
'आप' नेताओं ने कहा कि कैप्टन सरकार दौरान एक बड़े कांग्रेसी नेता समेत अन्य छोटे मोटे निजी ट्रांसपोर्टरों के बादल परिवार की कंपनियों की तरफ से बड़ी संख्या में बसें समेत रूट पर्मिट खरीदे जाने का रुझान निजी बस मालिकों, चालकों -कंडकटरों, ट्रांसपोर्ट के क्षेत्र में अपना भविष्य तलाश रहे हजारों बेरुजगारों और आम लोगों को बेहद चिंतित और निराश करने वाला रुझान है। 'आप' नेताओं ने कहा कि 10 वर्ष के राज दौरान पंजाब और पंजाब की जनता को कंगाली की कागार पर खडा कर खुद हैरानी जनक आर्थिक तरक्कियां करने वाले बादल परिवार की कारोबारी काबलियत को बिना शक दाद देनी बनती है, परंतु बादल परिवार ने ऐसी काबलीयत का पंजाब के किसानों-मजदूरों बेरुजगारों और आम लोगों के लिए कभी इस्तेमाल नहीं किया। इसी कारण लोगों ने सजा देते हुए मुख्य विरोधी पक्ष की  जिम्मेदारी नहीं सौंपी।
'आप' नेताओं ने साथ ही कहा कि श्री गुटका साहिब हाथ में पकड़ कर पंजाब की जनता के साथ नशा तस्करों और माफिया राज को खत्म करने के वायदे करने वाले कैप्टन अमरिन्दर सिंह की एक वर्षिय कारगुजारी ओर भी निराश करने वाली है।
'आप' नेताओं ने कहा कि जो कांग्रेसी मुख्य मंत्री कांग्रेस की सरकारों में अपने कांग्रेसी नेताओं की बसें नहीं बचा सकता उस मुख्य मंत्री के पास से बाकी छोटे -बड़े निजी बस, आपरेटर क्या उम्मीद कर सकते हैं।
'आप' नेताओं ने चुटकी लेते हुए कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह के बादल परिवार प्रति ऐसे मेहरबानी भरे रवैये के चलते वह दिन दूर नहीं, जब बादल परिवार की यह 'बेकाबू शार्क मछली' एक दिन पंजाब रोडवेज और पीआरटीसी को भी निगल जाएगी।
'आप' नेताओं ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट से इस मामले का तुरंत नोटिस लेने की मांग करते हुए जहां बस रूटों सम्बन्धित अदालत के पिछले हुक्मों को लागू करने के लिए कैप्टन सरकार पर कानून दबाव बढ़ाने की मांग की, वहीं बादल सरकार के 10 साला समेत अब तक जारी हुए नये बस परमिटों और रूट बढ़ाने के लिए नियम-कानून की समूची उलंघन की जांच सीबीआई से करवाने की मांग की।
  
 

Have something to say? Post your comment
More National News
अरविन्द केजरीवाल ने अपनी तन्खावाह समेत दिए 5 लाख रूपये – जयहिन्द
भारत को दुनिया का नंबर एक राष्ट्र बनाना मेरा लक्ष्य : केजरीवाल 
भाजपा सांसद का सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन समारोह में हंगामा
सिग्नेचर ब्रिज यानि दिल्ली के नए हस्ताक्षर
आप में शामिल हुए राजोरिया, मुरैना से मिला था बसपा का टिकट
महिलाओं ने लोकसभा चुनावों में 'आप' को वोट देने का किया आह्वान
नगर-निगम के स्कूलों की बुरी हालत पर भाजपा को घेरा
28 को होने वाली केजरीवाल की जयपुर जनसभा को मिली मंजूरी
किसान विरोधी भाजपा सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब, राजस्थान में आप नेता एवं किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट और सैकड़ो आप कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार
अनुमति के बिना जारी है रामपाल जाट का अनशन बौखलाई वसुंधरा सरकार, नहीं दे रही है अनुमति