नीरव मोदी को स्विट्ज़रलैंड के दावोस शहर में होने वाली वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम की बैठक में पीएम मोदी के साथ देखा गया था।

गुजरात के एक गुजराती दैनिक ‘गुजरात समाचार’ में छपी खबर के अनुसार, गुजरात के बैंकों में हुआ एक महाघोटाला सामने आया है।

ये घोटाला नीरव मोदी और विजय माल्या से भी बड़ा है।

ये घोटाला 26 हज़ार 500 करोड़ का बताया जा रहा है। इसमें पांच कंपनियों के नाम सामने आए हैं।

कंपनी                 लोन की रकम

कैमरॉक                      1651 करोड़

सांडेसारा ग्रुप           17500 करोड़

जे सीटी कंपनी का थापर ग्रुप     4000 करोड़

डायमण्ड पावर         3000 करोड़

मुक्त ज्वेलर्स           350 करोड़

गुजरात में 1995 के बाद से लगातार भाजपा ही सरकार में बनी हुई है। प्रधानमंत्री मोदी 15 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। गुजरात में इतना बड़ा बैंकिंग घोटाला सामने आना और केंद्र में भी भाजपा की ही सरकार रहते बैंक घोटालों के आरोपियों का देश छोड़कर भाग जाना, भाजपा की भूमिका पर सवाल उठाता है।