Thursday, January 17, 2019
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
जिसने किया था 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा उसी ने छीन लिया 1 करोड़ 90 लाख लोगों का रोज़गारकांग्रेस के कई नेता व कार्यकर्ता हुए आम आदमी पार्टी में शामिल, दिलीप पाण्डेय ने स्वागत कियाहरियाणा से आए बाल्मीकि समाज सभा के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में की केजरीवाल से मुलाकातमोदी सरकार ने शहीदों को मिलने वाली एक करोड़ सम्मान राशि के प्रस्ताव को वर्षों तक रोका: अरविंद केजरीवालडोर-टू-डोर कि ताकत से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में इतिहास रचा था। अब हरियाणा की बारी है : नवीन जयहिन्द 7 तारीख तक हर हाल में देना होगा कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वालों को वेतन शहीदों के परिवारों को 1 करोड़ रुपये की सम्मान राशि देने की हमारी योजना रोककर मोदी जी ने सबसे गंदा काम किया : केजरीवालसेवा केन्द्रों की बढ़ी फीसें तुरंत वापिस ले कैप्टन सरकार -हरपाल चीमा
National

दूध की धुली नहीं हैं भाजपा की नई हिमाचल सरकार

42 फीसदी मंत्री अपराधी हैं सरकार में | January 04, 2018 09:19 AM

महिलाओं को नहीं दिया अधिमान, केवल एक महिला मंत्री बनीं
हालांकि भारतीय जनता पार्टी ने बहुत जा़ेर शोर से सत्ता हथियाकर हिमाचल प्रदेश में सरकार का गठन कर लिया है लेकिन भारी कोशिशों के बाद साफ सुथरी छवि वाले नेता सामने नहीं लाए जा सके। ताज़ा चुने गए मंत्रियों में से 42 फीसदी अपराधी हैं इसलिए कहा नहीं जा सकता कि सरकार दूध की धुली है। कांग्रेस के दस साल के शासन के बाद भाजपा को एक बड़ी जीत हासिल हुई है लेकिन ये सरकार आम जन को नैतिकता का पाठ पढ़ा पाएगी इसमें अभी से शंकाएं उत्पन्न हो गईं हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि पांच मंत्रियों ने शपथ देकर कहा है कि उनपर आपरिधक मामले चल रहे हैं। इस तरह मोदी की भ्रष्टाचार मुक्त शासन की अवधारणा भी कहीं अधर में लटकती नज़र आती है क्योंकि सरकार के मंत्री ही कहीं न कहीं गैर कानूनी कार्यवाहियों में संलिप्त रहे हैं। 

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने बताया कि हिमाचल के नए मुख्यमंत्री सहित 12 मंत्रियों में से 5 अर्थात 42 मंत्रियों ने आपराधिक मामलों में संलिप्त होना स्वीकार किया है। बाहुबलि होने के साथ साथ मंत्री धन कुबेरों में भी आते हैं नई हिमाचल सरकार के 67 फीसदी यानि 8 मंत्री करोड़पतियों में शुमार हैं। इन सब की औसत संपत्ति करीब 7.17 करोड़ रुपए ठहरती है। 


इस बात का खुलासा करते हुए एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने बताया कि हिमाचल के नए मुख्यमंत्री सहित 12 मंत्रियों में से 5 अर्थात 42 मंत्रियों ने आपराधिक मामलों में संलिप्त होना स्वीकार किया है। बाहुबलि होने के साथ साथ मंत्री धन कुबेरों में भी आते हैं नई हिमाचल सरकार के 67 फीसदी यानि 8 मंत्री करोड़पतियों में शुमार हैं। इन सब की औसत संपत्ति करीब 7.17 करोड़ रुपए ठहरती है। तफसील में जाएं तो मंडी के मंत्री अनिल शर्मा, जो हाल ही में भाजपा में शामिल हुए थे की संपत्ति 40.24 करोड़ रुपए आंकी गई है। मंडी से ही धर्मपुर से विधायक बने मंत्री महिंदर सिंह की कुल संपत्ति करीब 15.38 करोड़ रुपए बताई गई है जबकि कांगड़ा में धर्मशाला से विधायक चुनकर मंत्री बने किशन चंद की कुल संपत्ति 7.99 करोड़ रुपए बताई जा रही है। इनमें से तीन मंत्री ऐसे हैं जो सालाना लाखों की कमाई कर रहे हैं। महिंद्र सिंह की सकल घरेलू संसाधनों से आय है एक करोड़ 14 लाख रुपए जिसमें से उनकी अपनी अकेले की आय है 18.54 लाख रुपए सालाना। अनिल शर्मा की सभी स्त्रोतों से आय है 76.14 लाख रुपए। आय के मामले में तीसरे नंबर पर हैं मनाली से गोविंद ठाकुर जो सभी स्त्रोतों से सालाना 44.2 लाख रुपए कमा लेते हैं।
भले ही भाजपा शिक्षा को महत्व देने के लाख दावे करे लेकिन मौजूदा सरकार में 25 फीसदी यानि तीन मंत्री मात्र बारहवीं पास हैं। 12 में से यदि दो ग्रेजुएट हैं तो पांच प्रोफैशनल ग्रेजुएट हैं। सरकार में मात्र एक पोस्ट ग्रेजुएट है और एक ही मंत्री पीएचडी  हैं। खास बात ये कि इस बार भाजपा में ज्य़ादा बजुर्ग विधायकों को मंत्री नहीं बनाया गया है। नए मंत्रीमंडल के दो मंत्रियों की आयु 41-50 साल के बीच है तो छह की51-60 साल के बीच। केवल चार मंत्री ही 61-70 साल के बीच की आयु के हैं। स्वयं मुख्यमंत्री 52 साल के हैं। खास बात ये कि महिलाओं को हिमाचल सरकार में कोई अधिमान नहीं दिया गया है। 12 सदस्यों वाले मंत्रीमंडल में केवल एक महिला को मंत्री बनाया गया है।

Have something to say? Post your comment
More National News
जिसने किया था 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा उसी ने छीन लिया 1 करोड़ 90 लाख लोगों का रोज़गार
कांग्रेस के कई नेता व कार्यकर्ता हुए आम आदमी पार्टी में शामिल, दिलीप पाण्डेय ने स्वागत किया
हरियाणा से आए बाल्मीकि समाज सभा के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में की केजरीवाल से मुलाकात
मोदी सरकार ने शहीदों को मिलने वाली एक करोड़ सम्मान राशि के प्रस्ताव को वर्षों तक रोका: अरविंद केजरीवाल
डोर-टू-डोर कि ताकत से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में इतिहास रचा था। अब हरियाणा की बारी है : नवीन जयहिन्द
7 तारीख तक हर हाल में देना होगा कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वालों को वेतन 
शहीदों के परिवारों को 1 करोड़ रुपये की सम्मान राशि देने की हमारी योजना रोककर मोदी जी ने सबसे गंदा काम किया : केजरीवाल
सेवा केन्द्रों की बढ़ी फीसें तुरंत वापिस ले कैप्टन सरकार -हरपाल चीमा
झूठी खबरों की फैक्ट्री है खट्टर सरकार : जयहिंद 
आप के पंच-सरपंच संभालेंगे लोकसभा चुनाव की कमान