Friday, July 20, 2018
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
प्रोजेक्ट रिपोर्ट 1 को बदलकर बिना आधार , बिना कारण प्रोजेक्ट UIT कोटा को हस्तानांतरित कर दिया गयापंजाब : जोधपुर के नजरबन्दों के साथ कांग्रेस की ओर से की गई बेइन्साफी पर माफी मांगें कैप्टन : आपपंजाब : नशे के तांडव विरुद्ध 2 जुलाई को मुख्यमंत्री निवास के समक्ष रोष मार्च व धरना देगी 'आप'लीडरशिप मध्य प्रदेश : क्या एमबी पॉवर से सरकार के गैरकानूनी करार का सवाल उठाएंगे अजय सिंह: आलोक अग्रवालराजस्थान : भ्रष्टाचार के गढ़ पर आप का प्रदर्शन, पीड़ित भी आए समर्थन मेंदिल्ली : दिल्ली में री-डवलपमेंट के नाम हजारों पेड़ो को काटने के षड्यंत्र में भाजपा और कॉंग्रेस दोनों शामिल : AAP  रमन के दमन का पुरजोर विरोध 'आप' द्वारा विधायक चीमा को लीगल सैल और सदरपुरा को किसान विंग का प्रांतीय अध्यक्ष किया नियुक्त 
National

केंद्र के पिठू बन काम कर रहे हैं दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव

October 14, 2017 07:02 PM
इससे नाराज केजरीवाल ने कुट्टी को अपने आवास पर तलब कर लिया. मुख्यमंत्री कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस अप्रत्याशित घटना पर केजरीवाल ने कुट्टी से स्पष्टीकरण मांगा है.

केजरीवाल ने 10 अक्तूबर को मेट्रो रेल का किराया बढ़ाये जाने के बाद मुख्य सचिव को इस मामले से जुड़े दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन (डीएमआरसी) के दस्तावेज दिल्ली संवाद एवं विकास आयोग को जांच के लिये सौंपने का आदेश जारी करने का निर्देश दिया था.

सूत्रों के मुताबिक कुट्टी ने केजरीवाल को निर्देश का पालन नहीं करने की दो वजहें बतायी हैं. कुट्टी ने मुख्यमंत्री के निर्देश को क्षेत्राधिकार से बाहर का मामला बताते हुये दलील दी कि डीएमआरसी निजी और सरकारी हिस्सेदारी वाला साझा उपक्रम है इसलिये दिल्ली सरकार को इसके दस्तावेजों की जांच करने का अधिकार नहीं है.
कुट्टी ने दूसरी वजह दिल्ली संवाद एवं विकास आयोग को पूर्व उपराज्यपाल नजीब जंग द्वारा असंवैधानिक करार दिया जाना बताया है. केजरीवाल के एक करीबी सहयोगी ने मुख्य सचिव द्वारा मुख्यमंत्री के आदेश का पालन करने से इंकार करने का देश में पहला मामला होने का दावा करते हुये कहा कि इससे जाहिर हो गया है कि मुख्य सचिव को भाजपा की अगुवाई वाली केन्द्र सरकार का संरक्षण मिला हुआ है. उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव की ‘अवज्ञा’ का मकसद दिल्ली वालों को मेट्रो किराया बढ़ोतरी से निजात दिलाने की कोशिशों को नाकाम बनाना है.

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बतिाया कि मुख्य सचिव द्वारा आज दोपहर केजरीवाल का निर्देश मानने से लिखित में इंकार करने के बाद उन्हें सीएम आवास पर शाम को तलब किया गया. नाम उजागर न करने की शर्त पर केजरीवाल के एक अन्य सलाहकार ने बताया कि कुट्टी ने केजरीवाल से मुलाकात के दौरान भी उनका निर्देश मानने से दो टूक इंकार कर दिया.

उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद दिल्ली सरकार का स्पष्ट मानना है कि इस तरह के नौकरशाहों ने ही मेट्रो बोर्ड की बैठक में भी किराया नहीं बढ़ने देने के दिल्ली की निर्वाचित सरकार की पहल को कामयाब नहीं होने दिया. उन्होंने कहा कि अधिकारियों की नाफरमानी से निपटने के लिये केजरीवाल सरकार अन्य विकल्पों पर विचार कर रही है.
Have something to say? Post your comment
More National News
प्रोजेक्ट रिपोर्ट 1 को बदलकर बिना आधार , बिना कारण प्रोजेक्ट UIT कोटा को हस्तानांतरित कर दिया गया
पंजाब : जोधपुर के नजरबन्दों के साथ कांग्रेस की ओर से की गई बेइन्साफी पर माफी मांगें कैप्टन : आप पंजाब : नशे के तांडव विरुद्ध 2 जुलाई को मुख्यमंत्री निवास के समक्ष रोष मार्च व धरना देगी 'आप'लीडरशिप 
मध्य प्रदेश : क्या एमबी पॉवर से सरकार के गैरकानूनी करार का सवाल उठाएंगे अजय सिंह: आलोक अग्रवाल
राजस्थान : भ्रष्टाचार के गढ़ पर आप का प्रदर्शन, पीड़ित भी आए समर्थन में
दिल्ली : दिल्ली में री-डवलपमेंट के नाम हजारों पेड़ो को काटने के षड्यंत्र में भाजपा और कॉंग्रेस दोनों शामिल : AAP  
रमन के दमन का पुरजोर विरोध 'आप' द्वारा विधायक चीमा को लीगल सैल और सदरपुरा को किसान विंग का प्रांतीय अध्यक्ष किया नियुक्त 
हरियाणा वासियों ने हरियाणा जोड़ो अभियान को दिया भरपूर समर्थन
मेवाड़ दक्षिण राजस्थान में AAP का आगाज