Sunday, December 17, 2017
Follow us on
National

बीजेपी ने मीडिया को डरा कर हटवाई अमित शाह की सम्पत्ति से जुड़ी ख़बर  

July 31, 2017 09:15 PM

रविवार को देश के कुछ बड़े मीडिया संस्थान की वेबसाइट्स ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की सम्पत्ति से जुड़ी ख़बर को कुछ घंटो के बाद ही हटा लिया। निश्चित रुप से यह ख़बर बीजेपी के दबाव में हटाई गई है। आपको बता दें कि राज्यसभा चुनाव के लिए भरे अपने नामांकन में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपनी सम्पत्ति का जो लेखा जोखा दिया है वो पिछले पांच साल में 300 प्रतिशत की दर से बढ़ी है। देश की कुछ बड़ी न्यूज़ वेबसाइट्स ने इस ख़बर को पहले प्रकाशित किया लेकिन कुछ ही घंटों में रहस्यमय तरीक़े से इस ख़बर को हटा भी लिया। 

  1. क्या अमित शाह ने ये सम्पत्ति ग़लत तरीक़ों से अर्जित की है ?
  2. क्या आय से ज्यादा सम्पत्ति का मामला तो नहीं है जो इस ख़बर को अचानक से हटवाया गया?
  3. बीजेपी आख़िर क्यों मीडिया की स्वतंत्रता में दखल देने की कोशिश कर रही है?
  4. अगर अमित शाह ने अपनी सम्पत्ति चुनावी एफ़िडेविट में घोषित की है तो उसे अब जनता से छुपाने का प्रयास क्यों किया जा रहा है?
  5. भारतीय मीडिया आखिर किस डर में काम कर रही है जो वो बीजेपी के दबाव में आकर ख़बरों को हटा देती है?
  6. भारतीय जनता पार्टी को इन सब बातों का जवाब जनता के बीच में आकर देना चाहिए

 

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता आशुतोष ने कहा कि ‘आज की तारीख़ में भारतीय मीडिया  की स्वतंत्रता को ख़त्म किया जा रहा है और बीजेपी के अनुरुप ख़बरों को प्रकाशित और प्रसारित किया जाता है। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह की बढ़ी सम्पत्ति से जुड़ी ख़बर को पहले कुछ बड़ी न्यूज़ वेबसाइट्स प्रकाशित करती हैं और फिर अचानक से इस ख़बर को सभी जगह से हटा दिया जाता है। ख़बर हटाने का कोई कारण भी उन मीडिया हाउसिज़ की तरफ़ से नहीं दिया जाता। भारतीय जनता पार्टी आज लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की स्वतंत्रता को ख़त्म करने में जुटी हुई है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की सम्पत्ति पिछले पांच साल में अगर 300 प्रतिशत बढ़ी है तो उस ख़बर को हटाया क्यों गया?

 

Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली में ‘प्रदूषण’ और एल.जी. बने दमघोंटू
सरकार का बड़ा ऐलान : ये 40 सेवाएं अब दिल्ली वासियों को घर बैठे मिलेंगी, अफसरों के चक्कर काटना बीते दिनों की बात
अब दिल्ली में तैयार होगा ‘राशन’ का होम डिलीवरी नेटवर्क
अल्का के ‘सैनेटरी पैड्स’ और भक्तों की ‘गाय’
‘प्रदूषण’ का खेल खेलते नेताओं का अखाड़ा बनी ‘दिल्ली’
केजरीवाल का केंद्र सरकार को जबाब, पहले पानी का छिड़काव अब ऑड-ईवन
'नोटबंधी' के 'हिटलरी फरमान' से जनता को दिया धोखा
जो न कर पाई 'केंद्र सरकार', वो करेगी 'आप सरकार'
नार्थ घोंडा की तेजराम गली और प्रजापति गली के निर्माण कार्य का शुभारंभ
‘अरविंद केजरीवाल और योगेंद्र यादव हमारी वर्तमान राजनीति की दो ज़रूरतें हैं’