Saturday, December 16, 2017
Follow us on
National

नोटबंदी के कारण ध्वस्त हुई भारत की अर्थव्यवस्था, चौथी तिमाही के आंकड़ों में जीडीपी में भारी गिरावट : दिलीप पांडे

June 02, 2017 05:13 AM
श्वेत पत्र के ज़रिए नोटबंदी के दुष्परिणामों को जनता के समक्ष रखे केंद्र सरकार  
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश को तवाही के कगार पर ले जाने वाली आर्थिक नीतियां अपना असर स्पष्टता से दिखाने लगी हैं भारत की अर्थव्यवस्था लगातार नीचे की तरफ़ जा रही है. और सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि नोटबंदी के बाद पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही यानि इस साल की जनवरी से मार्च के बीच के CSO द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक जीडीपी 7 प्रतिशत से गिरकर 6.1 पर पहुंच गई है।

वर्तमान जीडीपी के आंकड़े देश की अर्थव्यवस्था को तबाह करने के संकेत दे रहे हैं जिसमें मैनुफैक्चरिंग, ट्रेड और ट्रांसपोर्ट की हालत बेहद ख़राब है जहां हज़ारों-लाखों लोग बेरोज़गार हो रहे हैं और व्यापार बुरी तरह से प्रभावित हुआ है।

आपको बता दें कि यह चौथी तिमाही नोटबंदी के बाद का समय है। नोटबंदी से देश को क्या नुकसान हुआ है इसे लेकर वर्तमान बीजेपी सरकार अभी भी देश की जनता से सच को छिपा रही है। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि केंद की वर्तमान बीजेपी सरकार एक श्वेत पत्र के माध्यम से नोटबंदी के दुष्परिणामों के बारे में देश की जनता को असलियत बताए।
पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेस कॉंफ्रैंस में बोलते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता दिलीप पांडे ने कहा कि ‘CSO द्वारा जारी चौथी तिमाही के आंकड़ों के मुताबिक देश की जीडीपी 7 प्रतिशत से गिरकर 6.1 पर पहुंच गई है। ध्यान रहे कि ये चौथी तिमाही नोटबंदी के बाद का समय है और यह एक सच है कि देश नोटबंदी का दंश झेला है और इसी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था आज लगातार नीचे की तरफ़ गोता लगा रही है।
 वर्तमान जीडीपी के आंकड़े देश की अर्थव्यवस्था को तबाह करने के संकेत दे रहे हैं जिसमें मैनुफैक्चरिंग, ट्रेड और ट्रांसपोर्ट की हालत बेहद ख़राब है जहां हज़ारों-लाखों लोग बेरोज़गार हो रहे हैं और व्यापार बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। इंफ्रास्ट्रक्चर उद्योग इस वक्त मंदी के दौर में है और यह तय है कि इंड्रस्ट्रियल ग्रोथ भी नीचे की तरफ़ जाएगी। ‘अर्थवस्था में आई इस गिरावट को लेकर बेशक केंद्र की बीजेपी सरकार इसके पीछे वैश्विक कारण गिनवाए लेकिन सच यह है कि नोटबंदी के दुष्परिणमों को केंद्र सरकार लगातार देश की जनता से छिपा रही है। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि केंद्र की बीजेपी सरकार एक श्वेत पत्र के ज़रिए नोटबंदी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पर पड़े असर और नोटबंदी के दुष्परिणमों को देश की जनता को बताए। देश के लोगों को यह सच जानने का अधिकार है कि नोटबंदी से देश की जनता ने क्या खोया और क्या पाया।
 
 
Have something to say? Post your comment
More National News
दिल्ली में ‘प्रदूषण’ और एल.जी. बने दमघोंटू
सरकार का बड़ा ऐलान : ये 40 सेवाएं अब दिल्ली वासियों को घर बैठे मिलेंगी, अफसरों के चक्कर काटना बीते दिनों की बात
अब दिल्ली में तैयार होगा ‘राशन’ का होम डिलीवरी नेटवर्क
अल्का के ‘सैनेटरी पैड्स’ और भक्तों की ‘गाय’
‘प्रदूषण’ का खेल खेलते नेताओं का अखाड़ा बनी ‘दिल्ली’
केजरीवाल का केंद्र सरकार को जबाब, पहले पानी का छिड़काव अब ऑड-ईवन
'नोटबंधी' के 'हिटलरी फरमान' से जनता को दिया धोखा
जो न कर पाई 'केंद्र सरकार', वो करेगी 'आप सरकार'
नार्थ घोंडा की तेजराम गली और प्रजापति गली के निर्माण कार्य का शुभारंभ
‘अरविंद केजरीवाल और योगेंद्र यादव हमारी वर्तमान राजनीति की दो ज़रूरतें हैं’