Saturday, March 25, 2017
Follow us on
BREAKING NEWS
‘राष्ट्रीय महिला आयोग और दिल्ली महिला आयोग से गुज़ारिश, ऐसे जनप्रतिनिधियों पर करें सख्त कार्रवाई’Punjab Govt should avoid “VIP Culture” and use of Red Beckon: Phoolkaਲਾਲ ਬੱਤੀ ਅਤੇ ਵੀਆਈਪੀ ਕਲਚਰ ਤੋਂ ਗੁਰੇਜ ਕਰੇ ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ: ਫੂਲਕਾलाल बत्ती और वीआईपी कल्चर से गुरेज करे पंजाब सरकार - फूलकाअपने सभी 153 पार्षदों के टिकट काट बीजेपी ने स्वीकारी MCD में अपनी विफलताबदलाव का जुनून कुछ यूं बदल रही है दिल्लीनेताजी नगर केंद्रीय कर्मचारियों की कॉलोनियों के केंद्र सरकार द्वारा पुनर्वास को लेकर कमांडो सुरेंद्र सिंह वी के नायडू जी की पर्सनल सेक्रेटरी से मिले I पंजाब विधानसभा में मज़बूत विपक्ष की ज़िम्मेदारी निभाएंगे: एच एस फुल्का
National

बदलाव का जुनून कुछ यूं बदल रही है दिल्ली

March 15, 2017 10:23 PM

दिल्ली:

बिजली

स्वास्थ्य: शिक्षा के साथ-साथ दिल्ली सरकार ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी बहुत काम किया है चारों ओर इसकी चर्चा हो रही है। आप के मोहल्ला क्लीनिक ने तो हिन्दुस्तान क्या पूरी दुनिया में तहलका मचा दिया है। दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक देखने विदेशों से भारी संख्या में एक्सपर्ट आ रहे हैं फिलहाल दिल्ली में 105 मोहल्ला क्लीनिक चल रहे हैं। अगले कुछ महीनों में एक हजार मोहल्ला क्लीनिक बनकर तैयार हो जाएंगे हर मोहल्ला क्लीनिक में एक डॉक्टर समेत कम से कम पांच सदस्य होते हैं आप जानकर खुश होंगे कि सभी मोहल्ला क्लीनिक में 212 तरह की जांच मुफ्त है. 

 

1 जब दिल्ली में मंहगी बिजली के बोझ से लोगों को जीना मुश्किल हो रहा था तब ‘आप’ सरकार ने दिल्ली में बिजली के दाम इतने कम कर दिए कि दिल्ली में बिजली देश के अन्य राज्यों के मुकाबले सबसे सस्ती हो गई। आप सरकार से पूर्व दिल्ली में बिजली सबसे मंहगी थी।
2 शीला सरकार के दौर में बिजली के दाम हर साल बढ़ाए जाते थे। केजरीवाल सरकार के दौरान आज तक बिज़ली के दामों में कोई वृद्धि नहीं हुई।
3 DERC बिजली के दाम बढाने वाली संस्था है केजरीवाल ने पिछले बेईमान अफसरो को पदों से हटा कर कृष्णा सैनी नाम के ईमानदार ऑफसर को DERC चेयरमैन बनाया जो बिजली कंपनियों को टाईट कर रहे थे कृष्णा सैनी ने कई अच्छे ऑडर पास किए जैसे
4 पहले बिजली कंपनियां मनमाने तरीके से लोगों का लोड बढ़ा देती थी और कई हजार रूपये ऐंठ लेती थी. कृष्णा सैनी ने ये सब बंद कर दिया.
5 कृष्णा सैनी ने ऑर्डर पास किया कि यदि किसी इलाके में बिजली जाती है तो बिजली, कंपनी की जिम्मेदारी होगी कि प्रभावित सभी लोगों को बिजली कंपनी मुआवजा दे।
6 बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टीयों की कंपनियों से पुरानी सेटिग थी दोनों ने एल.जी. के साथ मिल कर कृष्णा सैनी को हटा दिया. केजरीवाल ने एलजी के आदेश को मानने से इन्कार कर दिया। बीजेपी और कांग्रेस एलजी के साथ मिल कर अंबानी के आदमी को DERC चेयरमैन बनाना चाहते हैं ताकि दिल्ली में बिजली के दाम बढाये जा सकें। केजरीवाल दिल्ली वालों के हितों की लड़ाई मुखरता से लड़ रहे हैं। कृष्णा सैनी जैसा ईमानदार आदमी ही DERC चेयरमैन हो।

पानी:आप सरकार बनने से पहले दिल्ली वासियों को पानी के नाम पर लूटा जाता था। पानी की किल्लत दिखा कर नेताओं ने पानी का कारोबार शुरू कर दिया था भाजपा व कांग्रेस नेताओं का गठबंधन यहां टैंकर माफिया के रूप में काम कर रहा था। यह गिरोह सरकारी तंत्र के साथ सांठ-गांठ कर लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंचने देता था और तब टैंकर माफिया मोटी दरों पर लोगों को पानी बेच कर करोड़ों के वारे-न्यारे करता था, और भी कई तरीके अपना कर लोगों को पानी के नाम पर लूटा जा रहा था। आज पूरे देश में दिल्ली अकेला ऐसा शहर है जहां 20 हजार लीटर पानी हर महीने दिल्ली वासियों को फ्री मिल रहा है। पानी की लूट अथवा कालाबाज़ारी रोक कर न सिर्फ आप सरकार ने लोगों को फायदा पहुंचाया बल्कि जल बोर्ड को भी भारी मुनाफा हुआ। केज़रीवाल सरकार ने लोगों के पुराने पानी के बिल या तो पूरे माफ कर दिये या फिर काफी कम कर दिए। पानी के बिल कम कराने के लिए जब लोग जल बोर्ड के दफ्तर जाते हैं तो कुछ ऑफिसर उनसे रिश्वत मांग रहे थे केजरीवाल उनके खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कराके उन्हे सस्पेंड करके जेल भिजवाना चाहते थे। लेकिन मोदी सरकार ने केजरीवाल से सारी पावर छीन ली। अब केजरीवाल एक चपड़ासी का ट्रांसफर भी नहीं कर सकते न ही किसी भ्रष्टाचारी के खिलाफ एक्शन ले सकते हैं। पाइपलाइन बिछाने के लिए सड़क काटनी पडती है सडक काटने की मंजूरी एमसीडी देती है इस काम में भाजपा अडंगे लगा रही है भाजपा नहीं चाहती कि पाइपलाइन बिछे और केज़रीवाल की वाह-वाह हो इसलिए एमसीडी कई-कई महीनों तक सडक काटने की परमिशन तक नहीं दे रही है।

एमसीडी के चुनाव सिर पर हैं. इन चुनावों में केजरीवाल को वोट देना फिर ये समस्या भी दूर हो जाएंगी। केजरीवाल ने दिल्ली जल बोर्ड को टारगेट दिया है कि दिसंबर 2017 तक पूरी दिल्ली में पानी की पाइपलाइन बिछ जानी चाहिए।

स्वास्थ्य: शिक्षा के साथ-साथ दिल्ली सरकार ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी बहुत काम किया है चारों ओर इसकी चर्चा हो रही है। आप के मोहल्ला क्लीनिक ने तो हिन्दुस्तान क्या पूरी दुनिया में तहलका मचा दिया है। दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक देखने विदेशों से भारी संख्या में एक्सपर्ट आ रहे हैं फिलहाल दिल्ली में 105 मोहल्ला क्लीनिक चल रहे हैं।

अगले कुछ महीनों में एक हजार मोहल्ला क्लीनिक बनकर तैयार हो जाएंगे हर मोहल्ला क्लीनिक में एक डॉक्टर समेत कम से कम पांच सदस्य होते हैं आप जानकर खुश होंगे कि सभी मोहल्ला क्लीनिक में 212 तरह की जांच मुफ्त है.
इन जांचों के आलावा यहां सारी दवाइयां बिल्कुल मुफ्त मिलती हैं अब मोहल्ला क्लीनिक में दवाओं के ए.टी.एम. लगाए जा रहे हैं। शुरूआत हो चुकी है जल्द ही हर क्लीनिक में दवा ए.टी.एम. खोल दिए जाएंगे। आखिरी आंकडों के आने तक 24 महीने में आप के मोहल्ला क्लीनिक में अठाईस लाख लोगों ने अपना इलाज करवाया था। भारतीय मीडिया को छोडिए, विदेशी मिडिया भी मोहल्ला क्लीनिक की तारीफ करते नहीं थक रहा है।
1 वाशिगंटन पोस्ट: ने लिखा है कि ‘मोहल्ला क्लीनिक से सीख ले अमेरिका’।
2 शिकागो ट्रिब्यून: लिखता है कि ‘क्या दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक अमेरिका के शहरी इलाकों के लिए मॉडल बन सकते हैं’ ?
3 ए.एन.पी. (फ्रांस) ने लिखा कि ‘दिल्ली के हाई-टैक मोहल्ला क्लीनिक में भारी संख्या में भीड़’
4 डी.एन.ए. कहता है कि ‘आप सरकार के मोहल्ला क्लीनिक सुपरहिट’
अब 1000 मोहल्ला क्लीनिक बन रहे हैं क्या आप को पता है कि भाजपा और पूर्व एलजी ने मिलकर मोहल्ला क्लीनिक तोडने की तैयारी की है।
पूरे देश में यह भी पहली बार हुआ है कि दिल्ली में सभी टेस्ट और दवाइयां फ्री कर दी गयी हैं।


शिक्षा:
1सभी सरकारी स्कूलों में टॉयलेट, पीने का पानी, सफाई और सिक्योरिटी के इंतजाम किए गए हैं ।
2 कई सरकारी हेडमास्टरों और टीचरों को ट्रेनिंग के लिए विदेश भेजा गया।
3 कमजोर ब च्चों की पढाई के लिए स्पेशल इंतजाम किए जा रहे हैं।
4 मनीष सिसोदिया खुद रोज दो-चार स्कूलों का इंस्पेक्शन करने जाते हैं।
5 8 हजार नए क्लास रूम बनवाये गए।
6 45 नये सरकारी स्कूल बनवाये।
केजरीवाल सरकार ने इस बार प्राइवेट स्कूलों की फीस नहीं बढने दी वो फीस कम करवा कर लोगों को पैसे वापस दिलवाए। ये शायद भारत में पहली बार हुआ कि कई प्राइवेट स्कूलों की फीस कम करवा के पेरेंट्स को वापस करवाई गई. अभी तक दूसरी पार्टियों की सरकारों में सभी मंत्री प्राइवेट स्कूलों की जेब में होते थे। चूंकि केजरीवाल सरकार ईमानदार सरकार है, इसलिए वो प्राइवेट स्कूलों को ठीक करने की ताकत जुटा पाए. केजरीवाल जी का अपना बेटा नोएडा में पढ़ता है। मनीष सिसोदिया का अपना बेटा गाजियाबाद में पढ़ता है. बच्चों के लिए भी सिफारिश न करनी पड़े इसीलिए दिल्ली के किसी स्कूल में इन्होंने अपने बच्चों का एडमीशन भी नहीं करवाया।


किसान: जब किसानों की फसलें बर्बाद हुई तो रूपये 50,000 प्रति हैक्टेयर के हिसाब से 4 महीने में सभी प्रभावित किसानों को मुआवजा दिला दिया। आज तक देश में किसी सरकार ने इतना मुआवजा कभी नहीं दिया था। कई राज्यों में हम सुनते थे कि किसानों को 25 रूपये से 200 रूपये के चैक मिले। जबकि दिल्ली के किसानों को भारी मुआवजा मिला। 

1 दिल्ली सरकार ने किसानों की जमीनों के दाम 53 लाख रूपये प्रति एकड़ से बढ़ा कर 3.5 करोड़ रूपये प्रति एकड कर दिया। यानी अब अगर किसी किसान की जमीन सरकार लेती है तो उसे 3.5 करोड़ रूपये के हिसाब से मुआवजा मिलेगा। दिल्ली के सारे किसान बडे खुश हो गए लेकिन पिछले दिनों वीजेपी ने एल.जी. से मिलकर ये निर्णय खारिज कर दिया।
भ्रष्टाचार:
क्र.सं. नाम काम की लागत असल खर्च बचत
1. विकासपुरी से मीरा बाग फलाई ओवर 560 करोड़ रूपये 450 करोड़ रूपये 110 करोड़ रूपये
2. मधुबन चौक से मंगोलपुरी फ्लाई ओवर 423 करोड़ रूपये 300 करोेड़ रूपये 123 करोड रूपये
3. मधुबन चौक से मुकरबा फ्लाई ओवर 421.79 करोड रूपये 300 करोड़ रूपये 121.79 करोड रूपये
4. भलस्वा चौक फ्लाई ओवर 63 करोड रूपये 45 करोड़ रूपये 18 करोेड़ रूपये
5. बुराडी चौक फ्लाई ओवर 57 करोड़ रूपये 42 करोड रूपये 15 करोड़ रूपये
6. प्रेमबाडी से आजादपुर फ्लाई ओवर 247 करोड़ रूपये 150 करोड रूपये 97 करोड रूपये
7. आईटीआई मंगोलपुरी 24 करोड़ रूपये 16 करोड रूपये 8 करोड़ रूपये
लेकिन मोदी सरकार लगातार केज़रीवाल के काम में अड़चन अडा रही है केजरीवाल से एंटी करप्शन ब्यूरो छीन ली है। एसीबी का इस्तेमाल करके एक बार तो केजरीवाल ने दिल्ली से भ्रष्टाचार बिल्कुल खत्म कर दिया था। अब मोदी जी ने एसीबी छीन ली। मोदी जी न खुद भ्रष्टाचार दूर कर रहे हैं और न अरविंद केजरीवाल को करने दे रहे हैं किंतु आम आदमी पार्टी भ्रष्टाचार समाप्त करने के प्रति वचनवद्ध है। पार्टी ने इस मामले को सुप्रीम कोर्ट में भी उठाया है। अरविंद केजरीवाल ने ट्रांसफर पोस्टिंग में भी भ्रष्टाचार बिल्कुल खत्म कर दिया था। मोदी जी ने वो भी केजरीवाल से छीन लिया है। अब केज़रीवाल दिल्ली के किसी अधिकारी का ट्रांसफर नहीं कर सकते। आज तक आपने कोई मुख्यमंत्री देखा है जो एक भी आफिसर का ट्रंसफर न कर सके। मोदी जी ने केजरीवाल को बिल्कुल पंगु कर दिया क्यांेकि मोदी जी को केज़रीवाल की ईमानदारी और उनके अच्छे कामों से डर लगता है।


दिल्ली नगर निगम:
अब नगर निगम के चुनाव हैं। भाजपा ने एमसीडी को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया है। आपको पता है कि दिल्ली की सफाई की जिम्मेदारी एमसीडी की है एमसीडी में हम दोनों पार्टीयों को देख चुके हैं । कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों से दिल्ली साफ नहीं हुई इस बार आप आम आदमी पार्टी को वोट देना जैसे बिजली, पानी,शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य क्षेत्रो में अच्छा काम किया वैसे ही एमसीडी जीतने के बाद दिल्ली को साफ भी साफ करेंगे।

विधायकों के खिलाफ झूठे केस:
पिछले डेढ साल मे आम आदमी पार्टी के कई विधायकों पर झूठे केस बनाए गए और कम से कम 12 विधायकों को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया। कुछ केसों में तो पुलिस को न्यायालय से फटकार भी सुननी पड़ी।
ऽ दिल्ली कैंट से विधायक और 2008 में मुम्बई आतंकवादी हमलों में अपनी ड्यूटी करते हुए एक कान से सुनने की क्षमता खो चुके कमांडों सुरेन्द्र को भी नहीं बख्शा गया। पिछले साल विधान सभा से लौटते हुए एक सडक पर गरीब रेहड़ी-पटरी वाले के साथ एनडीएमसी कर्मचारियों द्वारा मारपीट रोकने पर कमांडो सुरेन्द्र पर अपहरण करने की झूठी धारा लगाई गई। न्यायालय में उन्हे पेश करने पर पुलिस को करारी फटकार लगाई गई और अदालत ने कमांडो को तुरंत जमानत पर रिहा कर दिया।
ऽ ओखला के विधाय अमानतुल्लाह खान के ससुराल में चल रहे एक पारिवारिक विवाद को उनके राजनैतिक विरोधियों ने एक साजिश के तहत छेड़-खानी का मामला दिखाने की कोशिश की और पुलिस ने अमानतुल्लाह गिरफ्तार किया लेकिन 24 घंटे के अंदर ही अदालत ने उन पर गलत धारा लगाने पर सवाल उठाए और उन्हें तुरंत जमानत पर रिहा किया।
ऽ मालवीय नगर के विधायक सोम नाथ भारती को लोगों की मदद करने पर एक झूठी शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया लेकिन जैसे ही उन्हे 2 घंटे बाद अदालत में पेश किया तो उन्हें तुरंत रिहा करने के आदेश दिये गए।
ऽ मॉडल टाउन के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी पर इनके राजनैतिक प्रतिद्विंदी की पत्नी की झूठी शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया लेकिन अदालत ने अखिलेश के खिलाफ पूरे मामले को फर्जी करार देते हुए उन्हे पुरी तरह निर्दोष करार दिया।


क्यों इतना लड़ते हैं अरविंद केजरीवाल ?
कुछ लोग पूछते हैं कि शीला के टाइम लड़ाई क्यों नहीं होती थी ?
कुछ लोग यह भी पूछते है कि शीला दीक्षित के दौर में लड़ाई क्यों नहीं होती थी ? इसका जवाब है कि, शीला दीक्षित की सरकार ने किसी भी गलत काम का विरोध नहीं किया बल्कि गलत काम करने वालों के साथ ही समझौता कर दिया।
केजरीवाल ने किसानों की जमीन के सर्किल रेट बढाए, मोदी जी ने उस फैसले को रद्द कर दिया। केजरीवाल लड़ रहा है, आप ही बताइए कि क्या केज़रीवाल को किसानों के इस हक के लिए नहीं लडना चाहिए ?
1 केजरीवाल ने 15 सालों में पहली बार बिजली के दाम नहीं बढ़ने दिए और बिजली कटौती होने पर बिजली कंपनियों पर जुर्माने का प्रावधान किया। अब इसके लिए केजरीवाल को लड़ना पड़ रहा है आप बताइए बिजली के बिल आधे करने या बिजली का दाम न बढ़ाने के लिए केज़रीवाल लड़े या नहीं ?
2 पीडब्लूडी के कई सारे प्रोजैक्टस में केज़रीवाल ने सैकड़ों करोड़ की बचत की। दराअसल यह बचत का पैसा रिश्वत के रूप में ऊपर से नीचे तक बंटता था। जिसे केज़रीवाल ने लड़ कर रोक दिया और बचाए हुए पैसों से केज़रीवाल ने जनता को मुफ्त इलाज, टेस्ट, दवाईयों जैसी सुविधाएं दी। आप ही बताइए, आप के इस फायदे के लिए केज़रीवाल लड़े या नहीं ?
3 दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टेस्ट, दवाइयां और इलाज मुहैया कराए, इसके लिए भी केजरीवाल को लड़ना पड़ा। अब आप ही बताइए आपके लिए इस जरूरी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए केजरीवाल लड़े या नहीं ?
4 देश में पहली बार प्राइवेट स्कूलों द्वारा मनमाने ढंग से फीस बढ़ाने पर रोक लगा कर अभिभावकों को फीस वापिस भी कराई आप के बच्चों के लिए बेहतरीन स्कूल और शिक्षा व्यवस्था के लिए केजरीवाल को यदि लड़ना पड़ रहा है तो आप ही बताइए कि केज़रीवाल लड़े या नहीं ?
5 हकीकत यह है कि केजरीवाल की कोई निजी लड़ाई नहीं है। केजरीवाल को लड़ना पड़ रहा है तो दिल्ली की जनता के फायदे के लिए।

Have something to say? Post your comment
More National News
‘राष्ट्रीय महिला आयोग और दिल्ली महिला आयोग से गुज़ारिश, ऐसे जनप्रतिनिधियों पर करें सख्त कार्रवाई’
Punjab Govt should avoid “VIP Culture” and use of Red Beckon: Phoolka
ਲਾਲ ਬੱਤੀ ਅਤੇ ਵੀਆਈਪੀ ਕਲਚਰ ਤੋਂ ਗੁਰੇਜ ਕਰੇ ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ: ਫੂਲਕਾ
लाल बत्ती और वीआईपी कल्चर से गुरेज करे पंजाब सरकार - फूलका
अपने सभी 153 पार्षदों के टिकट काट बीजेपी ने स्वीकारी MCD में अपनी विफलता
नेताजी नगर केंद्रीय कर्मचारियों की कॉलोनियों के केंद्र सरकार द्वारा पुनर्वास को लेकर कमांडो सुरेंद्र सिंह वी के नायडू जी की पर्सनल सेक्रेटरी से मिले I
पंजाब विधानसभा में मज़बूत विपक्ष की ज़िम्मेदारी निभाएंगे: एच एस फुल्का नगर निगम में फंड्स की कोई कमी नहीं, BJP अपने काम को लेकर गंभीर नहीं: CAG  Aam Aadmi Party Protests Outside residence of Rape Accused BJP Leader Vijay Jolly
बलात्कार के आरोपी BJP नेता विजय जोली के घर के बाहर AAP का प्रदर्शन