Monday, January 21, 2019
Follow us on
Download Mobile App
BREAKING NEWS
आज अमेरिकी एक्सपर्ट करेंगे भारतीय EVM को सबके सामने हैकभगवंत मान ने मेरे सहित पूरे पंजाबियों का जीता दिल - केजरीवालझाड़ू को तिनका-तिनका करने वाला कोई पैदा नहीं हुआ -अरविन्द केजरीवालफर्जी गैरतमन्द है सुखपाल सिंह खहरा-मनजीत सिंह बिलासपुर इस गैर संवैधानिक काम करने के लिए देश और दिल्ली की जनता से माफ़ी मांगे भाजपा : राघव चड्ढाजिसने किया था 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा उसी ने छीन लिया 1 करोड़ 90 लाख लोगों का रोज़गारकांग्रेस के कई नेता व कार्यकर्ता हुए आम आदमी पार्टी में शामिल, दिलीप पाण्डेय ने स्वागत कियाहरियाणा से आए बाल्मीकि समाज सभा के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में की केजरीवाल से मुलाकात
National

दुनिया के 50 महान नेताओं में शुमार हुए आप के मफलर मैन, विश्व के मीडिया में बजा डंका

March 24, 2016 11:08 PM

'फ़ॉर्च्यून' की 50 महान नेताओं की लिस्ट में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नाम शामिल होना देश के लिए गौरव की बात है.  इस सूची में अरविंद केजरीवाल का नाम (लिंक 1 ) >> 42वें स्थान पर  (लिंक -2) >>  ( Click Hear For fortune magazine web link ) . है. इसमें सिलेक्शन सब्जेक्टिव आधार पर तीन मानदंडों के तहत होता है। जिसे जिस साल के लिए इस लिस्ट में शामिल किया जाता है उसके नाम कोई नई उपलब्धि होनी चाहिए। इसके साथ ही उस शख्स के नाम जो पुरानी ख्याति थी उसमें कोई कमी नहीं आनी चाहिए। उस शख्स को अन्य लोगों को भी कुछ नया और बदलाव लाने वाले कदम उठाने के लिए प्रेरित करने में कामयाब होते दिखना चाहिए और उसकी ताकत में कोई कमी नहीं आनी चाहिए। इस साल 'फ़ॉर्च्यून' की 50 महान नेताओं की लिस्ट की खास बात यह है कि इस लिस्ट में देश के प्रधान मंत्री मोदी का नाम नहीं है. जबकि पिछले साल फॉर्चून ने मोदी के प्रति आशावादी रुख अपनाते हुए उन्हें इस लिस्ट में शामिल किया था। मैगजीन ने कहा था कि मोदी इंडिया को बिजनस-फ्रेंडली और कम नियमन वाला देश बनाने का काम कर रहे हैं। इसके साथ ही फॉर्चून ने मोदी को महिलाओं के खिलाफ हिंसा और स्वच्छता को लेकर गंभीरता दिखाने श्रेय दिया था। लेकिन मोदी को इस लिस्ट से बाहर क्यों किया गया? इसके लिए फॉर्चून ने कोई सफाई नहीं दी है।

                     गले में मफ़लर लपेटे केजरीवाल की तस्वीर 'फ़ॉर्च्यून' की वेबसाइट पर है. हाल ही में केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली की स्वास्थ्य सुविधाओं की तर्ज़ पर अमेरिका को अपने जर्जर स्वाथ्य तंत्र को सुधारने की बात अमेरिका के Newyork Times और चिकागो ट्रिब्यून जैसे जाने माने अख़बार कर चुके हैं. अब एक विश्व की जानी-मानी पत्रिका ने लिखा है कि "जब दिल्ली में अरविंद केजरीवाल ने ऑड-ईवन का फ़ॉर्मूला दिया, तब लोग इसे फेल फार्मूला बता रहे थे किंतु इससे  दिल्ली में वायु प्रदूषण में 13 प्रतिशत कम हुआ. "सूची में पहले स्थान पर हैं अमेज़न के कार्यकारी अध्यक्ष जेफ़ बेज़ोस. जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल को दूसरे स्थान पर जगह दी गई है. तीसरे स्थान पर हैं म्यांमार में सैन्य शासन ख़त्म करके 50 साल में पहली बार असैनिक राष्ट्रपति के चुनाव में अहम भूमिका निभाने वाली आंग सान सू ची का नाम शामिल है. उधर आज होली के दिन मोदी जी ने ट्विटर पर अरविंद केजरीवाल को फालो करना शुरू कर दिया है. अरविंद ने इस पर मोदी जी का शुक्रिया भी अदा किया है. पिछले साल के केवल तीन नाम ही इस बार की लिस्ट में शामिल किए गए हैं। ये तीनों हैं- बेजोस, टिम कुक और पोप फ्रांसिस। अमेरिकी प्रेजिडेंट बराक ओबामा को इस लिस्ट से लगातार तीसरी बार बाहर रखा गया है। फॉर्चून ने ओबामा को लिस्ट से बाहर रखने के पीछे तर्क दिया है कि उन्होंने ग्लोबल चुनौतियों और घरेलू समस्याओं के सामने सरेंडर कर दिया है। साउथ एशिया से केजरीवाल के अलावा इस लिस्ट में एक और नाम है, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना का। इस लिस्ट में हसीना 10वें नंबर पर हैं। इन्हें महिला सशक्तीकरण और अपने देश में शिक्षा के प्रसार में अहम भूमिका निभाने के लिए फॉर्चून ने इस लिस्ट में 10वें नंबर पर जगह दी है.

Have something to say? Post your comment
More National News
आज अमेरिकी एक्सपर्ट करेंगे भारतीय EVM को सबके सामने हैक
भगवंत मान ने मेरे सहित पूरे पंजाबियों का जीता दिल - केजरीवाल
झाड़ू को तिनका-तिनका करने वाला कोई पैदा नहीं हुआ -अरविन्द केजरीवाल
फर्जी गैरतमन्द है सुखपाल सिंह खहरा-मनजीत सिंह बिलासपुर
इस गैर संवैधानिक काम करने के लिए देश और दिल्ली की जनता से माफ़ी मांगे भाजपा : राघव चड्ढा
जिसने किया था 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा उसी ने छीन लिया 1 करोड़ 90 लाख लोगों का रोज़गार
कांग्रेस के कई नेता व कार्यकर्ता हुए आम आदमी पार्टी में शामिल, दिलीप पाण्डेय ने स्वागत किया
हरियाणा से आए बाल्मीकि समाज सभा के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में की केजरीवाल से मुलाकात
मोदी सरकार ने शहीदों को मिलने वाली एक करोड़ सम्मान राशि के प्रस्ताव को वर्षों तक रोका: अरविंद केजरीवाल
डोर-टू-डोर कि ताकत से आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में इतिहास रचा था। अब हरियाणा की बारी है : नवीन जयहिन्द